विज्ञापन

ब्लॉग

  • img

    गलत अगर गलत नहीं लगता, तो आपके इंसान बनने में कमी

    कुछ चीज़ें ऐसी होती हैं, जहां सही और गलत बिल्कुल साफ-साफ दिखाई देता है. आदिवासी युवक पर पेशाब करने के मामले में अगर आपको गलत... गलत नहीं लगता, तो आपके इंसान बनने में कुछ कमी रह गई है.

  • img

    चीन अब भी बना हुआ है गले की हड्डी

    चीन भारत को कमजोर देखना चाहता है ताकि उसका क्षेत्रीय वर्चस्व रहे और वैश्विक वर्चस्व की होड़ में वो अमेरिका को पीछे छोड़ दे.

  • img

    बिलावल का गोवा आना...

    बिलावल भारत तब आए जब ये बिल्कुल साफ था कि भारत से कोई द्विपक्षीय बैठक नहीं होगी. भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बार-बार ये कहा कि आतंक और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते.

  • img

    जेरूसलम में मिला भारत का टुकड़ा...

    नज़ीर यहां के ट्रस्टी हैं. बताते हैं कि उन के दादा यहां पर 1924 में आए जब उन्हें धर्मशाला का ट्रस्टी और डायरेक्टर बनाया गया. इस धर्मशाला को भारत का केंद्रीय वक़्फ काउंसिल चलाता है और ये सिर्फ भारतीय नागरिकों या भारतीय वंश वालों के लिए है.

  • img

    आखिर क्यों रद्द हुआ ब्लिंकेन का चीन दौरा?

    अब अमेरिका कई तरीके से चीनी समस्या से निपटने की कोशिश कर रहा है. यही वजह है कि इस महीने अमेरिका दो अहम चीज़ें कर रहा है.

  • img

    क्यूबा के लिए रूस के बाद अब भारत बना एक नई उम्मीद ?

    प्रतिबंधों के दौर में रूस ने उसके साथ व्यापार जारी रखा लेकिन रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण एक बार फिर उसके लिए हालात कठिन दिख रहे हैं.

  • img

    पाकिस्तान में बिगड़े हालात...

    गुरुवार की सुबह जब इमरान इस्लामाबाद में घुसे तो उनके कारवां में लोग जुड़ते गए.बड़ी संख्या में महिलाएं भी आईं इस सब के बीच इमरान ने शहबाज़ शरीफ की 'इंपोर्टेड सरकार' को 6 दिन की मोहलत दी है कि वो ताज़ा चुनावों का ऐलान कर दें. और अगर ऐसा नहीं होता है तो उन्होंने कहा है कि वो वो वापस अपने समर्थकों के साथ इस्लामाबाद लौटेंगे.

  • img

    कब तक दबाव झेल पाएगा भारत?

    क्या भारत अपने रुख पर कायम रहेगा या इस लगातार खिंचते युद्ध में उसे एक पक्ष लेने के लिए मजबूर होना पड़ेगा. इसका जवाब कई बातों पर निर्भर करता है.

  • img

    2022- विदेश नीति में भारत की चुनौतियां

    ताइवान में चीन की गतिविधियां तो चीन की विस्तारवादी मंशा साफ करती ही हैं, भारत में घुसपैठ के सालभर बाद भी वो बाहर नहीं निकला है, ये भारत के लिए एक मुश्किल स्थिति है. कई स्तर पर बातचीत के बावजूद अप्रैल 2020 की स्थिति में एलएसी पर सेनाएं नहीं लौटी हैं. क्या 2022 में ये संभव हो पाएगा?

  • img

    चीन ने कहा, आग से खेलेंगे तो जलेंगे

    15 नवंबर को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच वर्चुअल मोड में बातचीत हुई. इसके बाद दोनों देशों ने इस पर प्रेस रिलीज जारी किए हैं. वाइट हाउस का बयान छोटा और सधा हुआ है.

  • img

    अफगानिस्तान पर भारत का नरम रुख?

    अगर अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को देखें तो लगता नहीं कि कोई भी और पक्ष एक सरकार बनाने की हालत में है. रेसिसटेंस फोर्स अब कहीं नज़र नहीं आ रहा, ना ही कोई बड़ा समर्थन किसी और देश से उन्हें मिलता दिख रहा है. रूस और अमेरिका ने जिस तरह अफगानिस्तान छोड़ा उसके बाद शायद ही कोई देश एक बार फिर यहां पर उस तरह से आने की कोशिश करे.

  • img

    क्वाड का असर है चीन के भड़काऊ बयान?

    चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत ने सीमा के मुद्दे पर हुए सभी समझौतों को तोड़ा और गैरकानूनी तरीके से चीन के क्षेत्र में घुसे जिसके कारण गलवान घाटी की घटना हुई.

  • img

    तालिबान का क़ब्ज़ा, भारत की समस्या

    अब अफ़ग़ानिस्तान पर पूरी तरह तालिबान का क़ब्ज़ा हो चुका है. महज़ 12 घंटों में विकल्प और सेना को मज़बूत बनाने की बात कर रहे राषट्रपति अशरफ़ गनी चुपचाप अपने कुछ सहयोगियों के साथ देश से निकल गए.

  • img

    भारत कैसे निकालेगा अफगानिस्तान से अपने नागरिक

    विदेश मंत्रालय की तरफ से अफगानिस्तान के मामले में जारी किया हुआ पहला बयान अपने नागरिकों की सुरक्षा पर ही केंद्रित है. इस बयान में कहा गया है कि अफगानिस्तान में सुरक्षा के हालात बहुत तेजी से खराब हुए हैं और अभी भी लगातार बदल रहे हैं.

  • img

    तिब्बत पर फिर बदली नीति?

    मंगलवार सुबह जैसे ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर बताया कि उन्होंने दलाई लामा को जन्मदिन की बधाईयां दी हैं, इस पर चर्चा तेज़ हो गई कि क्या ये चीन को एक संदेश है? पिछले साल, ठीक गलवान झड़प के बाद, प्रधानमंत्री मोदी ने ऐसी कोई बधाई नहीं दी थी.

  • img

    क्यों भारत को बदलनी पड़ रही है तालिबान से जुड़ी नीति?

    भारत कभी भी तालिबान से बात करने के पक्ष में नहीं था, लेकिन पिछले दिनों ये खबर आई कि दोहा में भारतीय अधिकारियों और तालिबान के बीच मुलाकात हुई है. कतर के एक अधिकारी ने ये बात एक वेबिनार में कही लेकिन इस बैठक की पुष्टि भारत की तरफ से नहीं हुई. भारत लगातार कहता रहा है कि अफगानिस्तान के लोगों के लिए, उनके ज़रिए उनकी बनाई सरकार के पक्ष में हैं. लेकिन कुछ वक्त से ये भी कहा जाने लगा कि अफगानिस्तान में युद्धविराम और शांति बहाली के लिए सभी स्टेकहोल्डर से संपर्क में हैं.

  • img

    भारत-अमेरिका साथ, चीन को संदेश

    भारत और अमेरिका के बीच 2 प्लस 2 बैठक खत्म हुई. बैठक का महत्व इतना कि महामारी के वक्त और अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से महज़ एक हफ्ता पहले अमेरिका के विदेश और रक्षा मंत्री दोनों भारत आए और आमने सामने अपने समकक्षों के साथ बैठक की - एक तथ्य जो विदेश मंत्री एस जयशंकर से प्रेस के सामने भी नोट किया.

  • img

    अमेरिकी चुनाव में ईरान, रूस चीन की दखलंदाज़ी?

    नेशनल इंटेलिजेंस के डायरेक्टर जॉन रैटक्लिफ ने एक प्रेस कॉन्फेरेंस कर कहा कि ईरान और रूस ने वोटर रजिस्ट्रेशन की जानकारी हासिल कर ली है और ईरान धुर दक्षिणपंथी गुट प्राउड बॉय्ज़ बन के वोटरों को धमकाने वाले ईमेल भेज रहा है. इस प्रेस कॉन्फेरेंस में एफबीआई के डायरेक्टर क्रिस रे भी मौजूकि जो द थे

  • img

    अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में सबसे ज़्यादा भरोसा पेपर ट्रेल पर

    ये सवाल भारत में ही नहीं, 2016 से अमेरिका में भी पूछे जा रहे हैं. जब से ये आरोप लगे कि पिछले अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूस ने दखलअंदाज़ी की, तब से अमेरिका में नागरिकों के वोट को सुरक्षित रखने के लिए कई कदम उठाए गए हैं.

  • img

    अमेरिकी उपराष्ट्रपति पद भी बेहद अहम

    इस बार के अमेरिकी चुनाव में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडन के साथ उपराष्ट्रपति पद के लिए मैदान में उतरीं भारतीय मूल की कमला हैरिस को लेकर भारत में काफी उत्सुकता है. लेकिन उनके इस चुनाव में उतरने की क्या है अहमियत? वो क्या कर पाएंगी एक उपराष्ट्रपति के तौर पर अगर वो चुनी जाती हैं? क्या ज़िम्मेदारियां या ताकत होगी उनके पास?

अन्य लेखक
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination