विज्ञापन
  • img

    पैसों की तंगी के बावजूद CA, IAS या इंजीनियर बनने की खबरें सबको सम्मोहित क्यों करती हैं?

    आर्थिक तंगी के बावजूद, कड़ी मेहनत के बूते बड़ी कामयाबी हासिल करने वालों की खबरें जब-तब आती रहती हैं. कभी किसी ऑटो-रिक्शा चालक की बेटी सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास कर जाती है. कभी घर-घर काम करने वाली अम्मा का बेटा अचानक करोड़ों के पैकेज वाली नौकरी पा लेता है. सवाल है कि आखिर इस तरह की खबरें सबको अपनी ओर खींचती क्यों हैं?

  • img

    कर्नाटक में निजी क्षेत्र में आरक्षण के 11 कानूनी और संवैधानिक पहलू

    रोजगार और गर्वनेंस बढ़ाने में विफल सरकारें क्षेत्र, जाति, भाषा और धर्म के आधार पर आरक्षण और रेवड़ियों के झुनझुने से वोट बैंक को लुभाने में मगन हैं. कर्नाटक का यह बिल युवाओं के भविष्य, रोजगार सृजन, आर्थिक प्रगति के साथ देश के संघीय ढांचे को प्रभावित करता है, इसलिए इससे जुड़े 11 कानूनी और संवैधानिक पहलुओं को समझना बेहद ज़रूरी है.

  • img

    फार्मास्युटिकल साइंस में हैं करियर के ढेरों विकल्प

    हेल्थकेयर को बेहतर बनाने और इलाज को बेहतर बनाने के लिए जो लोग प्रतिबद्ध हैं, उनके लिए फार्मास्युटिकल साइंस में नौकरी के अपार अवसर हैं. आइए, फार्मास्युटिकल साइंस में करियर के विभिन्न विकल्पों पर एक नज़र डालें और जानें कि वे आगे कहां जाते हैं व उनमें तरक्की करने की कैसी संभावनाएं हैं.

  • img

    China : सीपीसी की बैठक में चीनी शैली का आधुनिकीकरण बढ़ाने पर दिया गया जोर

    बैठक में व्यापक तौर पर सुधारों को गहराने और चीनी शैली का आधुनिकीकरण बढ़ाने पर जोर दिया गया है. देश और दुनिया को इस बात का इंतजार है कि चीन इस बैठक में भविष्य के वित्तीय सुधार और खुलेपन के लिए रोडमैप के लिए किस तरह से माहौल तैयार करता है.

  • img

    लोकतांत्रिक देशों में विचारधारा के नाम पर इतनी कड़वाहट क्यों...?

    आज दुनिया के हर लोकतांत्रिक देश में दक्षिणपंथी पार्टियों की जड़ें समाज में मज़बूत हो रही हैं. विचारधाराओं की टकराहट मानव सभ्यता के विकास की स्वाभाविक नियति है, लेकिन हमारा कर्तव्य होना चाहिए कि इस टकराहट को हिंसा और असहिष्णुता से बचाते हुए परिवक्व और बेहतर विचारधारा को पनपने का मौका दें.

  • img

    एयर विस्तारा - धूमिल पड़ गया आकाश का सितारा

    एयर इंडिया के कायापलट में लगी टीम बहुत दबाव में है. वह अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास कर रही है. उत्कृष्ट सेवा देने की संस्कृति बनाने में समय लगता है. ठीक से काम कर रही एक एयरलाइन का एक पुरानी एयरलाइन में अचानक मर्जर के बाद उम्मीद यह है कि इस एकीकरण से एक बेहतर एयरलाइन तैयार होगी.

  • img

    ये जो भीड़ है, धर्म का मर्म समझने में भूल कैसे कर देती है?

    शास्त्रकार कहकर गए हैं कि अठारहों पुराण पढ़ने की फुर्सत न हो, तो कोई बात नहीं. इनमें सिर्फ दो ही बातें हैं- परोपकार पुण्य है, दूसरों को सताना पाप है. ठीक यही बात तुलसीबाबा भी कहते हैं- परहित के समान कोई धर्म नहीं, परपीड़न के समान कोई अधर्म नहीं.

  • img

    अपर्णा कौर के चित्र और उनमें समाहित कथाएं

    अपर्णा कौर के बनाए चित्र देखकर कोई न कोई स्मृति आकार लेने लगती है. जैसे कोई वस्तु या कोई विचार एक अनंत नींद से अचानक जाग गया हो और यथार्थ में आकर सहमा हुआ अपने आस-पास को देख रहा हो, उसे महसूस करने की क्षमता को विकसित कर रहा हो.

  • img

    PM मोदी की रणनीति में बुरी तरह घिरा चीन

    प्रधानमंत्री मोदी का राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ पिछले पांच सालों में कोई भी शिखर सम्मेलन नहीं हो सका है, क्योंकि चीन ने सीमा पर विवाद पैदा कर भारत के राष्ट्रीय हितों को नुकसान पहुंचाने का लगातार प्रयास किया है.

  • img

    दिल्ली एजुकेशन रिफॉर्म्स  - सरकारी स्कूलों में कैसे बढ़ी विद्यार्थियों की संख्या?

    एसएमसी प्रवेश प्रक्रिया को सुव्यवस्थित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है. स्कूलों का आवंटन सुनिश्चित करने, शिकायतों का समाधान करने और छात्रों के स्थानांतरण को संभालने से यह सुनिश्चित हुआ है कि दिल्ली में हर बच्चे को उसके इलाके और खाली सीटों के आधार पर एक उपयुक्त स्कूल आवंटित किया जाए.

  • img

    121 लाशें, कई सवाल : मौत के इस 'सत्संग' पर आखिर कौन देगा जवाब?

    भीड़ में विवेक नहीं होता... भीड़ भेड़ चाल में चलती है... यदि भीड़ को सुव्यवस्थित तरीके से नियंत्रित न किया जाए तो उसके अनुशासन तोड़ने में भी देर नहीं लगती. हाथरस (Hathras) में भीड़ के बेकाबू होने से बड़ा हादसा हुआ. इस तरह की घटना पहली बार नहीं हुई. ऐसे हादसों की पुनरावृत्ति चिंता में डालने वाली है. देश में खास तौर पर धार्मिक आयोजनों में इस तरह की दुर्घटनाएं होती रही हैं लेकिन इन्हें रोकने के लिए अब तक कोई मैकेनिज्म विकसित नहीं हो सका है. यदि कोई व्यवस्था है भी तो, उसको लेकर प्रशासनिक प्रतिबद्धता के बजाय लापरवाही, सैकड़ों लोगों की मौत का कारण बनती है.

  • img

    हैपी बर्थडे-पल दो पल का शायर…

    हमारी पीढ़ी खुशकिस्मत रही कि हमने दुनिया के सबसे बड़े बल्लेबाज़ सचिन तेंदुलकर और दुनिया के सबसे सफल कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी को खेलते देखा. आप हमेशा हमारे कप्तान रहेंगे, 'रांची के राजकुमार...'

  • img

    अस्कोट- आराकोट यात्रा 2024 : घोड़ों की लीद और साड़ियों के बोझ तले घुट रहा यमुनोत्री का दम

    "मैंने घोड़ों को लीद करते देखा और उसको देख मुझे यह समझ नहीं आया कि इस गंदगी का सही निस्तारण कैसे किया जाता होगा, क्योंकि वहां उसके लिए कोई डस्टबिन या उसे अलग से इकट्ठा करने की जगह नही थी."

  • img

    हमारे एजुकेशन सिस्टम में कहां-कहां 'रॉकेट साइंस' लगाने की जरूरत है?

    हमारे यहां कौन-सी परीक्षा कैसे ली जाए, यह आज एक बड़ा मुद्दा बन चुका है. सड़क से लेकर संसद तक चर्चा हो रही है. परीक्षाओं में 'रॉकेट साइंस' लगाने की जरूरत पड़ रही है! लेकिन मसले और भी हैं. एजुकेशन सिस्टम में कई जगह 'रॉकेट साइंस' लगाने की दरकार है. कहां-कहां, जरा देखते चलिए.

  • img

    पुरानी स्याही से नई रेखा खींचते आजाद

    क्या देश एक ही धर्म का है? ये वो सवाल है जो ‘नए भारत’ में बड़े-बड़े धर्मनिरपेक्ष नेताओं की जुबां पर आने से हिचकता है. वो इस सवाल का पर्याप्त जवाब दे पाने में कठिनाई महसूस करतें हैं. ऐसे में किसी नए-नवेले सांसद का ठोस लहजे में ये बार-बार पूछना सुर्खी तो है. 

  • img

    घपले, कामयाबी और संदेह : बेहद जटिल है क्रिप्टो की दुनिया, लेकिन...

    भले ही क्रिप्टोकरेंसी फिलहाल अवसर और अनिश्चितता के दोराहे पर खड़ी है, लेकिन उचित नियमों, शिक्षा और समझ के साथ यह वित्तीय दुनिया में अहम किरदार के तौर पर विकसित हो सकती है. बिल्कुल उसी तरह, जैसे पिछले दो दशक में इक्विटी के साथ हुआ.

  • img

    सॉरी विराट, सॉरी रोहित... भला ऐसे भी कोई अलविदा कहता है!

    विराट और रोहित आप जैसे महान खिलाड़ी खेल के किसी फॉरमेट या खेल से कभी अलग नहीं होते. क्रिकेट के सबसे तेज-तर्रार इंटरनेशनल फॉरमेट में अब रोहित मैदान पर नहीं दिखेंगे, लेकिन आपकी कप्तानी की सीख बरसों-बरस टीम इंडिया के साथ चलेगी.

  • img

    जीत से पहले कोई विनर नहीं होता, न हार से पहले कोई लूजर !

    कर्नल साहब क्रिकेट का धर्म और मर्म समझा रहे थे. बता रहे थे कि अपनी टीम की जीत ने कैसे कभी हार न मानने में छुपे जीत के संदेश को फिर स्थापित किया.

  • img

    सोशल मीडिया पर ज़्यादा लाइक बटोरने के जुनून के पीछे क्या है?

    देखा जाए, तो यह खतरनाक स्थिति है, खासकर सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाले युवा वर्ग के लिए. लाइक की भूख चिंता, अवसाद से बढ़ते हुए जानलेवा जुनून का रूप ले सकती है. क्या पुणे का खतरनाक स्टंट वाला वीडियो यह सब साफ-साफ बताने के लिए काफी नहीं है?

  • img

    मध्य प्रदेश कैसे बनता गया BJP का गढ़...?

    ऐसे में BJP या किसी भी पार्टी के लिए ऐसे प्रदेश में चुनाव-दर-चुनाव सफलता का शानदार रिकॉर्ड कायम रखना बड़ी उपलब्धि है.

अन्य ब्लॉग
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination