NDTV Khabar
होम | फैक्‍ट फाइल

फैक्‍ट फाइल

  • PM मोदी के 'टीका उत्सव' के ऐलान के बीच कई राज्यों में Covid-19 वैक्सीन की 'किल्लत', 10 बातें
    एक तरफ देश में आज से प्रधानमंत्री के आह्वाहन पर 'टीका उत्सव' मनाया जा रहा हैं तो वहीं दूसरी तरफ कई राज्य वैक्सीन की 'किल्लत' की शिकायत कर रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर आज से 14 अप्रैल तक ‘टीका उत्सव’ का आयोजन मनाया जाएगा. जिसका उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा योग्य लोगों का टीकाकरण करना है. ‘टीका उत्सव’ के दौरान उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे कई राज्य लोगों से टीका लगवाने की अपील कर रहे हैं. तो वहीं दूसरी महाराष्ट्र और दिल्ली जैसे राज्य वैक्सीन की कमी की बात कह रहे हैं, तो चलिए देखते हैं कि किन राज्यों में वैक्सीन की कमी है और कहां टीका उत्सव पूरी क्षमता के साथ मनाया जा रहा है.
  • कोरोना हुआ आउट ऑफ कंट्रोल: पाबंदियों का बढ़ता दायरा, अब UP के इन जिलों में भी लगा नाइट कर्फ्यू, 10 बातें
    India Covid-19: देश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच पाबंदियों का दायरा भी बढ़ाया जा रहा है. रविवार को देश में 1 लाख 52 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए. इससे निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों ने नए सिरे से पाबंदियों को लगाना शुरू किया है, साथ ही आज से पूरे देश में टीका उत्सव भी मनाया जाएगा. 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक चलने वाले इस ‘टीका उत्सव’ का उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगाना है. टीका उत्सव के तहत कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने ज्यादा से ज्यादा संख्या में टीका लगाने की अपील की है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत ने 85 दिन में 10 करोड़ टीके लगाए हैं और वह दुनिया का सबसे तेज टीकाकरण अभियान चलाने वाला देश बन गया है. वहीं दिल्ली में आज से कड़ी पाबंदिया लागू कर दी गई हैं तो महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव आज लॉक़डाउन को लेकर अहम बैठक करेंग. दिल्ली में सभी तरह की सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक एवं धार्मिक सभाओं पर रोक लगा दी है. दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की ओर से जारी आदेश के मुताबिक, दिल्ली में सभी कॉलेज, प्रशिक्षण एवं कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे. तो चलिए जानते हैं कोरोना से जुड़ी आज की 10 बड़ी अपडेट्स.
  • भारत में बेकाबू होता कोरोना: कई राज्यों में लगा नाइट कर्फ्यू, PM मोदी ने कहा- डरने की जरूरत नहीं, 10 बातें
    Night Curfew in Bengaluru: एक तरफ कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ वैक्सीन को लेकर केंद्र और राज्य की तकरार खुलकर सामने आ गई है. राज्यों के आरोप और केंद्र के जवाब के बीच पीएम मोदी ने गुरुवार शाम को अपने संबोधन में जिक्र करते गुए कहा कि भारत अपनी पूरी क्षमता से टीका के उत्पादन कर रहा है और जरूरत के हिसाब से राज्यों को दिया जाएगा. देश में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों पर चिंता जताते हुए पीएम मोदी ने गुरुवार को कहा कि संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए फिर से युद्ध स्तर पर काम करना जरूरी हैय मुख्यमंत्रियों के साथ देश में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करने के बाद अपने संबोधन में PM ने कहा कि देश ने पिछले साल बगैर टीके के कोविड-19 से लड़ाई जीती थी, इसलिए आज भयभीत होने की जरूरत नहीं है. दूसरी बड़ी चिंता ये है कि अब कोरोना की चपेट में डॉक्टर्स भी तेजी से आ रहा है. लखनऊ के KGM यूनिवर्सिटी में दर्जनों डॉक्टरों के संक्रमित होने के बाद अब सर गंगाराम अस्पताल में भी 37 डॉक्टरों की रिपोर्ट पॉजिटीव आई है. तो चलिए जानते हैं कोरोना संक्रमण से जुड़ी अब तक की 10 बड़ी अपडेट्स.
  • PM Modi ने कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों पर काबू पाने के लिए राज्यों को दिए ये 5 मंत्र
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों पर काबू पाने के लिए गुरुवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि कोरोना के ग्राफ को नीचे लाने के लिए युद्धस्तर पर प्रयास करने की जरूरत है. उन्होंने वैक्सीनेशन के मुकाबले कोरोना की टेस्टिंग, ट्रैकिंग और ट्रेसिंग पर जोर देने की वकालत की है.ऑनलाइन संवाद के दौरान पीएम मोदी ने कोरोनावायरस पर नियंत्रण के लिए ये 5 अहम सुझाव मुख्यमंत्रियों को दिए हैं.
  • कोरोना की महालहर: दिल्ली के बाद गुजरात में भी नाइट कर्फ्यू, UP में भी संभव, 10 बातें
    देश में कोरोना के बढ़ते मामलों की संख्या ने सरकार की चिंताओं को और बढ़ा दिया है. वैक्सीनेशन अभियान के बीच आई कोरोना की दूसरी लहर ने देश में एक्टिव मरीजों की संख्या को एकाएक 8 लाख के आंकड़े के करीब पहुंचा दिया है, स्थिति को बिगड़ता हुआ देख केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन आज 11 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक कर इसकी समीक्षा करेंगे. इन 11 राज्यों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, पंजाब और राजस्थान हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, दिल्ली तमिलनाडु, मध्य प्रदेश और पंजाब में कोविड-19 के मामलों में तेज बढ़ोतरी हुई है
  • दुनिया के सबसे ऊंचे पुल का आर्च बनकर तैयार, जानिए तूफान-भूकंप को नाकाम करने वाले पुल की ये 10 खासियतें..
    Chenab Bridge : जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में चिनाब नदी पर बन रहे रेलवे पुल को सोमवार को मेहराब तकनीक यानी हैंगिंग आर्च के जरिए पूरा किया गया. ये दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे पुल है और इसकी कुल ऊंचाई 467 मीटर है. सीस्मिक जोन 5 के हिसाब से ये पुल तैयार किया गया है, यानी भारी भूकंप पर भी इसका बाल बांका नहीं होगा.दुनिया का सबसे ऊंचा यह रेलवे पुल अगले साल चालू होने की उम्‍मीद है. यह पुल कश्मीर घाटी को शेष भारत से जोड़ेगा. आर्च को इंजीनियर का बेहतरीन नमूना माना जा रहा है.रेल मंत्री पीयूष गोयल (Railway Minister Piyush Goyal) ने दिल्ली में वीडियो लिंक के जरिये केबल क्रेन द्वारा आर्च का काम पूरा होने के वाकये को देखा. उत्तर रेलवे (Northern Railways) ने इस कामयाबी को मील का पत्थर बताया है.
  • कोरोना ने फिर बढ़ाई चिंता : महाराष्ट्र में हालात हुए बेकाबू, कई राज्यों ने सख्त किए नियम, 10 बातें
    देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं लेकिन जनता जागरुक होती नहीं दिखाई दे रही है. लिहाजा केंद्र से लेकर राज्य तक की सरकारें अब सख्ती से नियमों का पालन करने की तैयारी कर रही हैं. सबसे ज्यादा हालात महाराष्ट्र में बेकाबू हुए हैं, वहां एक दिन में 57 हजार से ज्यादा कोविड संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं, अकेले मुंबई में 11 हजार से ज्यादा लोग इस खतरनाक वायरस की चपेट में आए हैं. लिहाजा राज्य ने पुणे शहर में मिनी लॉकडाउन के बाद अब पूरे राज्य में वीकेंड लॉकडाउन ऐलान किया है, जोकि शुक्रवार रात आठ बजे से सोमवार सुबह सात बजे तक लॉकडाउन लागू रहेग. साथ ही, नाइट कर्फ्यू की भी घोषणा की गई है, जिसके तहत सोमवार से 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा. इसके अलावा भी कई राज्यों ने नियमों को सख्त किया है, आइए जानते हैं.
  • आज थम जाएगा चुनाव प्रचार का शोर, चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में मंगलवार को डाले जाएंगे वोट
    असम, तमिलनाडु, केरल, बंगाल और पुड्डुचेरी में विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार का आज आखिरी दिन है. आज पांचों जगह चुनाव प्रचार का शोर थम जाएगा. इन पांचों जगह मंगलवार को वोट डाले जाएंगे. असम और बंगाल में तीसरे चरण का मतदान है, जबकि तमिलनाडु, केरल और पुड्डुचेरी में एक ही चरण में वोट डाले जाएंगे.
  • कोरोना की दूसरी लहर: बढ़ते मामलों के साथ बढ़ती चिंताएं, पुणे के बाद अब एक और शहर में मिनी लॉकडाउन, 10 बातें
    Corona Case in India: भारत में कोरोना जिस तरह से अपने पैर पसार रहा है, उसने देशवासियों की चिंताओं को बढ़ा दिया है. शनिवार को अकेले महाराष्ट्र में कोरोना के करीब 50 हजार नए मामले सामने आए. मुंबई में 9 हजार से लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए. देश में कोरोना के एक्टिव मामले बढ़कर 6,58,909 हो गए हैं यानी कि इन मरीजों का अभी इलाज चल रहा है, जो कि संक्रमण के कुल मामलों का 5.32 प्रतिशत है. एक दिन में कोरोना के एक्टिव केसों में 44,213 की बढ़ोतरी हुई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश के आठ राज्यों में नए कोविड-19 मामलों में अच्छी-खासी तेजी आई है. पिछले 24 घंटे में सामने आए कोरोना के कुल मामलों में इन राज्यों से 81.42 प्रतिशत केस हैं. ये आठ राज्य हैं- महाराष्ट्र, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, दिल्ली, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, पंजाब और मध्य प्रदेश. कोरोना को नियंत्रित करने के लिए पुणे के बाद अब रायपुर में भी पाबंदियां लगा दी गई हैं. इसी के साथ कई राज्यों में सख्ती बरतने की भी तैयारी है.
  • भारत में बेकाबू कोरोना: रिकॉर्ड तोड़ मामलों के बीच कई शहरों में लॉकडाउन, वैक्सीनेशन अभियान हुआ तेज, 10 बातें
    COVID-19 Cases in India: भारत में कोरोना के हालात बेकाबू होते दिखाई दे रहे हैं. शनिवार को पिछले 7 महीनों के सर्वाधिक मामले आने के बाद चिंताएं और बढ़ गई हैं.एक्टिव मरीजों की बढ़ती संख्या ने अस्पतालों के सामने भी चुनौतियां खड़ी कर दी हैं. जानकारों का मानना है कि दूसरी लहर में कोरोना ज्यादा खतरनाक है, यहां न सिर्फ संक्रमितों की संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है बल्कि मृतकों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है. शुक्रवार सुबह तक के आंकड़ों के अनुसार देश में लगातार 24वें दिन नए मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की गई और इसके साथ ही एक्टिव मरीजों की संख्या भी बढ़कर 6,58,909 हो गई है. जो कुल मामलों का पांच प्रतिशत है. मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर में गिरावट आई है. हालात सबसे ज्यादा खराब महाराष्ट्र में हैं. पुणे में एक हफ्ते के लिए 12 घंटों का कर्फ्यू लगाया गया है जोकि आज सुबह 6 बजे से लागू हो गया. कोरोना के इस चुनौतीपूर्ण हालातों को देखते हुए कई शहरों में पूर्ण लॉकडाउन का भी ऐलान किया गया है. तो चलिए जानते हैं देश के कोविड हालातों के बारे में.
  • देश में फिर खतरनाक होता कोरोना, केंद्र सरकार के साथ आज राज्यों की बैठक, 10 बड़ी बातें
    भारत में कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है. देश में कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक होती जा रही है. कोरोना के बढ़ते केस को देखते हुए केंद्र सरकार की आज राज्यों के साथ बड़ी बैठक है. कैबिनेट सचिव आज सभी राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ कोरोना को लेकर समीक्षा बैठक करेंगे. बैठक में स्वास्थ्य मंत्रालय के बड़े अधिकारी भी शामिल होंगे. यह बैठक 11 बजे होगी.
  • बंगाल चुनाव : BJP उम्मीदवार की कार पर पत्थरबाजी, TMC ने लगाया नंदीग्राम में बूथ कैप्चरिंग का आरोप, 10 बड़ी बातें
    बंगाल विधानसभा चुनाव (Bengal Election) के दूसरे चरण का मतदान जारी है. बंगाल की 'हॉट सीट' नंदीग्राम में भी आज ही वोट डाले जा रहे हैं. यहां से टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और शुभेंदु अधिकारी के बीच कड़ी टक्कर है. बंगाल में तीस और असम में 30 सीटों के लिए वोट डाले जा रहे हैं. असम में आज के चरण में चार मंत्रियों और डिप्टी स्पीकर मैदान में हैं.
  • देशभर में आज से 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए वैक्सीनेशन शुरू , केंद्र के साथ राज्यों ने कसी कमर, 10 बातें
    Vaccination start From Today देशभर में आज से 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए वैक्सीनेशन शुरू हो गया है. पहला चरण 16 जनवरी को शुरू हुआ था जिसमें देश भर में  स्वास्थ्य कर्मी और अग्रिम पंक्ति के कर्मियों को टीका लगाया गया था. वहीं दूसरे चरण में, 60 वर्ष से अधिक उम्र और पहले से गंभीर बीमारी से पीड़ित 45-59 साल के लोगों को कोरोना वायरस से बचाव का टीका लगाया गया था. तीसरे चरण में, जो लोग एक जनवरी 2022 को 45 साल और इससे अधिक उम्र के होंगे, वे टीकाकरण के पात्र हैं, चाहे उन्हें कोई बीमारी हो या नहीं. टीकाकरण केंद्र सुबह नौ से रात नौ बजे तक काम करेंगे. सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों पर टीका निशुल्क लगाया जाएगा जबकि निजी अस्पतालों में प्रति खुराक 250 रुपये का भुगतान करना होगा. 
  • असम विधानसभा चुनाव : 4 मंत्री और डिप्टी स्पीकर मैदान में, जानें- दूसरे चरण के मतदान से जुड़ी बड़ी बातें
    असम विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में आज 39 सीटों के लिए मतदान हो रहा है. इस चरण में चार मौजूदा मंत्री और डिप्टी स्पीकर सहित 345 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं. करीब 10 हजार से ज्यादा मतदान केंद्रों पर 73.4 लाख मतदाता उनके भाग्य का फैसला करेंगे. भाजपा इस चरण की 34 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, जबकि कांग्रेस ने 28 सीटों पर अपने उम्मीदावर उतारे हैं, कांग्रेस ने बाकि सीटें अपने गठबंधन के साथियों के लिए छोड़ दी हैं. पहले चरण में असम में 79 फीसदी मतदान हुआ था.
  • देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के नए मामलों में आई तेजी ने प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है. कोरोना को काबू करने के लिए एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं. इस बीच, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा कि देश में कोरोना के मामलों में उछाल नए स्ट्रेन की वजह से है और यह स्थिति ठीक ब्रिटेन जैसी ही है जब वहां पर क्रिसमस के आसपास वायरस एक म्यूटेशन के दौर से गुजर रहा था.      
  • कोरोना ने बढ़ाई सरकार की टेंशन, कहा-
    केंद्र ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण संबंधी स्थिति ‘‘बद से बदतर हो रही है’’ और यह खास तौर पर कुछ राज्यों के लिए बड़ी चिंता का विषय है. केंद्र ने कहा कि पूरा देश जोखिम में है और किसी को भी लापरवाही नहीं करनी चाहिए. इसने कहा कि कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित 10 जिलों में से आठ महाराष्ट्र (Maharashtra) से हैं और दिल्ली (Delhi) भी एक जिले के रूप में इस सूची में शामिल है. 
  • तेजी से बढ़ता कोरोना : कई राज्यों में घुसने के लिए नेगेटिव RT-PCR रिपोर्ट जरूरी, तो कइयों में लगी दूसरी पाबंदियां
    भारत में एक बार फिर कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले बढ़ते जा रहे हैं. शनिवार को भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 62,258 नए मामले सामने आए. यह इस वर्ष की अब तक की सर्वाधिक संख्या है. पिछले साल 16 अक्टूबर को 24 घंटे के अंतराल में संक्रमण के 63,371 नए मामले सामने आए थे. देश में गत मई से कोविड-19 के साप्ताहिक मामलों में वृद्धि के बीच केंद्र ने शनिवार को उन 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए जांच की संख्या महत्वपूर्ण रूप से बढ़ाने समेत पांचसूत्री निषिद्ध रणनीति जारी की जहां कोविड-19 के मामलों में इजाफा देखने को मिला है. वहीं दूसरी ओर महाराष्ट्र सरकार ने राजनीतिक और धार्मिक सहित सभी प्रकार की सभाओं के आयोजन पर पूर्ण प्रतिबंध की शनिवार को घोषणा की. इसके अलावा कई राज्यों में प्रवेश के लिए नेगेटिव RT-PCR रिपोर्ट जरूरी कर दी है. वहीं, कई राज्यों में कई तरह की पाबंदियां लगाई गई हैं.
  • प. बंगाल, असम विधानसभा चुनाव: छिटपुट हिंसा के बीच वोटिंग, CPM कैंडिडेट से हाथापाई, BJP समर्थक की हत्या- 10 बड़ी बातें
    पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के पहले चरण में शनिवार को जिन सीटों पर मतदान हो रहा है, वहां हिंसा की छिटपुट घटनाएं सामने आयी हैं. बहरहाल, शांतिपूर्ण माहौल और राज्य में कड़ी सुरक्षा के बीच 30 सीटों पर मतदान हो रहा है, जिनमें से ज्यादातर कभी नक्सल प्रभावित इलाका रहे जंगल महल में हैं. पुलिस ने बताया कि पश्चिम मेदिनीपुर जिले के बेगमपुर इलाके में एक व्यक्ति मृत पाया गया है. उसकी उम्र 30 वर्ष के आसपास बताई जा रही है. मृतक की पहचान मंगल सोरेन के रूप में की गई है. उसका शव उसके घर के बाहर बरामद किया गया है. बीजेपी ने दावा किया कि सोरेन उनका समर्थक था और टीएमसी के ‘‘गुंडों’’ ने कथित तौर पर उसकी हत्या की. हालांकि सत्तारूढ़ पार्टी ने इस आरोप को खारिज किया है.
  • प. बंगाल, असम विधानसभा चुनाव: कड़ी सुरक्षा के बीच प. बंगाल की 30, असम की 47 सीटों पर वोटिंग, जानें-10 अहम बातें
    पश्चिम बंगाल और असम विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए आज सुबह 7 बजे से वोटिंग शुरू हो गई. पश्चिम बंगाल में पहले चरण में 30 विधानसभा सीटों पर चुनाव हो रहे हैं, जिनमें से अधिकतर सीटें एक समय नक्सल प्रभावित रहे जंगलमहल इलाके में आती हैं. ऐसे में सबकी निगाहें इस क्षेत्र में होने वाले मतदान पर टिकी हैं. असम की 126 सदस्यीय विधानसभा की 47 सीटों पर भी पहले चरण में मतदान हो रहे हैं. दोनों राज्यों में पहले चरण में पंजीकृत मतदाताओं की संख्या 1.54 करोड़ से अधिक है. अधिकारियों ने कहा है कि मतदान सुबह 7 बजे शुरू होकर शाम 6 बजे समाप्त होगा. कोविड-19 नियमों का पालन सुनिश्चित करने के लिये मतदान का समय एक घंटा बढ़ाया गया है.
  • 45 Plus के लिए कोरोना टीकाकरण: कैसे करें रजिस्‍ट्रेशन और वे बातें जो आपको जानना जरूरी हैं..
    Corona Vaccination: केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar)ने कहा है कि 45 वर्ष या इससे अधिक आयु के लोग भी 1 अप्रैल से कोरोना वैक्सीन लगवा सकेगा. उन्होंने बताया कि यह निर्णय कैबिनेट ने टास्क फोर्स और विशेषज्ञों की सलाह के आधार पर लिया है. गौरतलब है कि इस समय 60 वर्ष या इससे अधिक और 45 वर्ष के अधिक उम्र के गंभीर बीमारी से पीडि़त (co-morbidities) व्‍यक्तियों को ही कोरोना का टीका लगाया जा रहा है. ऐसे समय जब देश के ज्‍यादातर राज्‍यों में कोरोना के नए केसों में तेजी से इजाफा हो रहा है, सरकार के इस कदम से टीकाकरण अभियान में तेजी आ सकेगी और लाभार्थियों की संख्या में इजाफा होगा. बड़ा सवाल यह है कि टीकाकरण के लिए रजिस्‍ट्रेशन किस तरह होगा.
12345»

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com