NDTV Khabar
होम | फैक्‍ट फाइल

फैक्‍ट फाइल

  • एक मई से ओपन मार्केट में उपलब्ध होगी कोरोना वैक्सीन, जानिए टीकाकरण के तीसरे फेज की खास बातें...
    केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों के बीच एक महत्वपूर्ण फसेले में देश में टीकाकरण का तीसरे फेज (Vaccination Phase 3) की घोषणा की जो कि 1 मई से शुरू होगा. इस चरण में सरकार ने टीका लगाने के लिए उम्र सीमा को खत्म करते हुए 18 वर्ष या उससे ऊपर के सभी लोगों के लिए टीकाकरण (Covid vaccination) की घोषणा की है. सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है, 'कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम के तीसरे चरण के तहत सभी व्‍यस्‍कों का टीकाकरण किया जाएगा.' जिन लोगों की सेकेंड डोज बची है, उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी. सरकार ने कहा है कि विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण में टीकों की खरीद और टीका लगवाने की पात्रता में ढील दी जा रही है. जानिए टीकाकरण के इस तीसरे चरण की खास बातें...
  • Delhi Lockdown: आपको किसी भी तरह की परेशानी से बचना है, तो ये 10 बातें जरूर जान लें
    Delhi Lockdown Guidelines: दिल्ली में कोरोनावायरस (Coronavirus) के रिकॉर्ड मामलों के बाद 19 अप्रैल की रात से लेकर 26 अप्रैल की सुबह तक संपूर्ण कर्फ्यू लगाया गया है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि इस लॉकडाउन (Delhi Lockdown Rules) के दौरान आवश्यक सेवाएं (Delhi Emergencies Services) चलती रहेंगी, लेकिन अन्य गतिविधियों पर कई तरह की पाबंदियां रहेंगी, जानिए क्या खुला या बंद रहेगा...
  • नहीं थम रहा कोरोना का कहर : कई जगह रिकॉर्ड मामले, राजस्थान, बिहार सहित कई राज्यों ने बढ़ाई सख्ती
    भारत में कोरोना वायरस का कहर कम होता नहीं दिख रहा है. रोजाना नए मामले 2 लाख से ऊपर सामने आ रहे हैं. कोविड-19 से जान गंवाने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है. रविवार के आंकड़ों को देखा जाए तो दिल्ली, यूपी और महाराष्ट्र सहित कई राज्यों में रिकॉर्ड तोड़ मामले सामने आए हैं. ऐसे में कोरोना से निपटने के लिए कई राज्यों में और ज्यादा सख्ती की गई है. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूरे राज्य में 19 अप्रैल से तीन मई की सुबह पांच बजे तक जन अनुशासन पखवाड़े के तहत विभिन्न गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय किया है. वहीं. बिहार में पूरे प्रदेश में रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक कर्फ़्यू लगाने, स्कूल और कॉलेज 15 मई तक बंद रखे जाने का फैसला किया गया है.
  • कोरोना का हाहाकार: बेड, ऑक्सीजन और टीकों के लिए भटक रहे हैं लोग, राज्यों में भी संकट गहराया, 10 बातें
    देश में रविवार को कोविड-19 के 2.61 लाख नए मामले सामने आए. यह लगातार चौथा दिन है जब देश में एक दिन में महामारी के दो लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं. इसके साथ ही दिल्ली सहित 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में ऑक्सीजन सिलेंडर, टीके की खुराक और रेमडेसिविर की मांग भी बढ़ गई है. भारत में कोविड-19 रोगियों की संख्या 1.50 करोड़ और मृतकों की संख्या 1.75 लाख के करीब पहुंचने के नजदीक है। वहीं, राज्यों द्वारा हाल में बढ़े मामलों के रोकथाम और प्रबंधन के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बैठक की. कोविड-19 की स्थिति से निपटने के लिए जन स्वास्थ्य तैयारियों की समीक्षा करने के लिए बुलाई गई बैठक में पीएम मोदी ने महामारी को हराने के लिए राज्यों में सहयोग का आह्वान किया और साथ ही कहा कि दवा निर्माण की पूर्ण राष्ट्रीय क्षमता का इस्तेमाल किया जाए. बैठक में प्रधानमंत्री ने जांच, संपर्क का पता लगाने और फिर उपचार की दिशा में आगे बढ़ने पर जोर दिया और कहा कि इनका कोई विकल्प नहीं है.
  • कोरोना के साये में पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव का पांचवा चरण जारी, 10 बातें
    Bengal Election Phase 5 Voting:: एक तरफ पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है तो वहीं दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल में पांचवे चरण के लिए मतदान हो रहा है. भारतीय राजनीति के इतिहास में शायद ही इतनी कठिन परिस्थितियों के बीच मतदान की प्रक्रिया कराई गई होगी. आज सुबह शुरू हुई मतदान प्रक्रिया सुबह सात बजे शुरू हुई और शाम 6.30 बजे तक जारी रहेगी. आज के चरण के चुनावों में छह जिलों की 45 सीटों पर 342 प्रत्याशियों की राजनीतिक तकदीर का फैसला मतदाता EVM में कैद हो रहा है, मतदान केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था भी चाक चौबंद रखी गई है, पिछला चरण हिंसक होने के बाद सुरक्षाकर्मियों को खास निर्देश दिए गए हैं. चुनाव आयोग का दावा है कि पोलिंग बूथ्स पर कोविड नियमों का पालन किय़ा जा रहा है लेकिन बूथ के बाहर कतार में खड़े लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के अनुसार तो नजर नहीं आ रहे हैं. बताते चलें कि राज्य में विधानसभा चुनाव आठ चरणों में होने हैं जिसमें से चार चरणों का मतदान पूरा हो चुका है, पांचवे चरण के लिए आज मतदान हो रहा है. बाकी के तीन चरणों के लिए 22, 26 और 29 अप्रैल को मतदान होगा.
  • India Coronavirus : भारत में कोरोना के खतरनाक वेरिएंट्स से संक्रमित मिले 1,189 नमूने, पढ़ें 10 जरूरी बातें
    COVID-19 Cases Updates: कोरोनावायरस ने एक बार फिर अपनी दूसरी लहर के जरिए देश को अपनी चपेट में बुरी तरह जकड़ लिया है. कई वेरिएंट्स के स्ट्रेन और डबल म्यूटेंट स्ट्रेन के चलते इस बार की लहर ज्यादा खतरनाक मानी जा रही है. शुक्रवार वो स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देश में सार्स सीओवी-2 के चिंताजनक स्वरूपों से अब तक कुल 1189 नमूने संक्रमित मिले हैं. मंत्रालय ने कहा कि इनमें से 1109 नमूने ब्रिटिश स्वरूप से संक्रमित पाए गए हैं जबकि 79 नमूने दक्षिण अफ्रीकी स्वरूप से और एक नमूना ब्राजीलियाई स्वरूप से संक्रमित मिला है. दिल्ली और महाराष्ट्र देश में वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. दिल्ली ने नए संक्रमणों की रफ्तार मामले में सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. दिल्ली में शुक्रवार की शाम तक एक दिन में 19,400 से ऊपर मामले सामने आए, वहीं पूरे महाराष्ट्र में 63,000 से ऊपर मामले दर्ज किए गए, दोनों ही शहरों में ये रिकॉर्ड हाई नंबर हैं.
  • कोरोना का हाहाकार: देश की स्वास्थ्य सुविधाएं हुई लाचार, कहीं बंदी तो कहीं पाबंदी, 10 बातें
    कोरोना वायरस का प्रकोप देश के सामने एक विकराल समस्या के रूप में खड़ा हो गया है. आलम ये है कि देश की स्वास्थ्य सुविधाएं इस वायरस के सामने बौनी साबित हो गई हैं. मेट्रो शहर और महानगरों के बाद इस वायरस ने अब छोटे शहरों का रूख किया है, जिसके कारण पूरे देश में हाहाकार जैसी स्थितियां पैदा हो गई हैं. कहीं बंदी की जा रही है तो कही पाबंदियां लगाई जा रही हैं. आक्सीजन से लेकर अस्पतालों में बेड और श्मशानों में जगह कम पड़ गई है. देश में इस समय कोरोना का प्रकोप अपने चरम पर है. शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन को देश में कोरोना संक्रमण के 2 लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार शुक्रवार को सर्वाधिक 2 लाख 17 हजार 353 नए मामले सामने आए हैं. कोरोना संक्रमण के खतरनाक हालातों को इस तरह से समझा जा सकता है कि यह लगातार 10वां दिन है जब एक लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं जबकि यह छठवां दिन है जब 1.5 लाख से ज्यादा मामले रिकॉर्ड किए गए हैं.
  • अरविंद केजरीवाल ने कोरोना की दूसरी लहर को सबसे खतरनाक बताया,लॉकडाउन से लेकर वैक्सीन तक कहीं 10 बड़ी बातें
    दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal) ने लॉकडाउन, वीकेंड कर्फ्यू (Delhi Weekend Curfew Rules) से लेकर बेड की उपलब्धता पर स्थिति स्पष्ट की. उन्होंने एनडीटीवी से खास बातचीत में कहा कि बेड बढ़ाने से लेकर सबको वैक्सीन लगवाने तक उनकी सरकार हर मुद्दे पर क्षमता से आगे जाकर काम करने को तैयार है.. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने वैक्सीन से लेकर कोरोना की दूसरी लहर को लेकर दस अहम मुद्दों पर अपनी बात रखीं. साथ हीराजधानी में फिलहाल लॉकडाउन की संभावना नकारते हुए कहा है कि अभी स्थिति काबू में दिख रही है.
  • बेकाबू होता कोरोना, हर तरफ देखने को मिल रही है कोविड-19 की तबाही, जानें- कैसे हैं राज्यों के हालात
    भारत में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है. कोविड-19 की दूसर लहर देश में लहर बरपा रही है. पिछले कुछ दिनों से लगातार एक लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. वहीं पिछले चार दिन दिनों के आंकड़ें देखें तो कोरोना के नए मामलों की संख्या लगातार 1.5 लाख से ऊपर जा रही है. वहीं, दूसरी ओर देश में टीकाकरण का काम भी काफी तेजी के साथ चल रहा है. देश में रोजाना करीब 30 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है. टीकाकरण में तेजी लाने के लिए सरकार ने 'टीका उत्सव' की शुरुआत की है, जिसके तहत ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगाया जा रहा है.
  • रोज नए रिकॉर्ड बनाता कोरोना, 24 घंटों में 1.84 लाख नए मामले, श्रमिकों का पलायन हुआ तेज, 10 बातें
    देश में कोरोना संक्रमण अपने शीर्ष स्तर पर चल रहा है, रोजाना आने वाले मामले 1.5 से ज्यादा हो चुके हैं, लेकिन आंकड़ों का यह सड़कों और बाजारों से दूर है लेकिन बिना डर के अभी कोविड नियमों को अनदेखा करते हुए घूम रहे हैं. बुधवार को देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 1,84,372 नए मामले सामने आने के साथ देश में इस महामारी के मामले बढ़कर 13,873, 825 हो गए हैं. एक्टिव मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है जोकि 13 लाख 65 हजार 704 पर पहुंच चुकी है.वहीं ठीक होने की दर में गिरावट देखने को मिल रही है. वहीं महाराष्ट्र में कोविड हालातों को देखते हुए आज रात आठ बजे से 15 दिनों का कर्फ्यू लगा दिया है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सोशल मीडिया के जरिए महाराष्ट्र के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बुधवार रात आठ बजे से कर्फ्यू शुरू होगा और जरूरी सेवाओं को इससे छूट दी गई है. वहीं दूसरी तरफ पीएम मोदी ने कोविड-19 के खिलाफ जंग में दुनिया के साझा प्रयासों की वकालत करते हुए कहा कि जब तक सभी देश कोविड-19 के खिलाफ एकजुट नहीं होंगे, तब तक मानवजाति इसे हरा पाना संभव नहीं होगा. इसके अलावा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने व्यापक स्तर पर लॉकडाउन लगाने की संभावना को खारिज कर दिया है.
  • महाराष्‍ट्र में कोरोना का कहर, CM उद्धव ठाकरे ने बढ़ते केसों के बीच कहा-जंग फिर शुरू हो गई है, 10 बातें
    Maharashtra corona cases update: भारत में कोरोना के केसों में तेजी से इजाफा हो रहा है. महाराष्‍ट्र राज्‍य में तो हालात बेहद गंभीर हैं जहां पिछले 24 घंटों में कोरोना के महाराष्‍ट्र में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 60,212 नए मामले सामने आए हैं और 281 लोगों को जान गंवानी पड़ी है. संक्रमितों की संख्‍या इतनी तेजी से बढ़ रही है कि ज्‍यादातर शहरों के अस्‍पतालों में बेड और ऑक्‍सीजन की कमी की नौबत आ गई है. सीएम उद्धव ठाकरे ने आज सीएम ने राज्‍य की जनता को अपने संबोधन में राज्‍य में बुधवार रात 8 बजे से अगले 15 दिनों के लिए धारा 144 लगाने के फैसले की जानकारी दी.
  • देश में 'कोरोना विस्फोट' के कारण अफरा-तफरी जैसे हालात, लगातार तीसरे दिन 1.5 लाख से ज्यादा नए मामले, 10 बातें
    COVID-19 Cases Updates: कोरोना विस्फोट के कारण देश में अब अफरा-तफरी जैसे हालात पैदा हो गए हैं. देश में लगातार सातवें दिन एक लाख से ज्यादा मामले और लगातार तीसरे दिन 1.5 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं. मंगलवार को देश में कोरोना के 1,61,736 नए मामले सामने आए हैं. इसके अलावा कोरोना के कारण 879 मरीजों की मौत हुई है. अस्पतालों में बेड और श्मशानों में जमीन कम पड़ गई है. देश के लगभग आधे हिस्से में नाइट कर्फ्यू के साथ अलग अलग तरह की पाबंदियां लगी हुई हैं लेकिन कोरोना के मामले हर रोज नए रिकॉर्ड बना रहे हैं. कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या के लिहाज से ब्राजील को पीछे छोड़कर भारत दूसरे स्थान पर पहुंच गया है. इन सबके बीच एक राहत की खब ये है कि देश को कोरोना के खिलाफ जंग में एक वैक्सीन का साथ और मिल गया है. रूसी वैक्सीन SPUTNIK V को DCGI से भी इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है. इस वैक्सीन की प्रभावशीलता 91.6 प्रतिशत है, जो कि मॉडर्ना और फाइजर शॉट्स के बाद सबसे अधिक है. तो चलिए देखते हैं देश में इस वक्त कोरोना से जुड़े 10 बड़े अपडेट्स
  • कोरोना संक्रमण से बुरी तरह प्रभावित देशों की सूची में दूसरे स्‍थान पर भारत, 10 खास बातें..
    कोरोना से सबसे ज्‍यादा प्रभावित देशों की सूची में भारत अब दुनिया में दूसरे नंबर पर आ गया है. अब अमेरिका ही इस मामले में भारत से ऊपर है. चुनावी रैलियों, धार्मिक त्‍यौहारों और कोरोना के लेकर केजुअल अप्रोच के कारण पिछले कुछ समय से देश में कोरोना के मामलो में भारी उछाल आया है. महाराष्‍ट्र, कर्नाटक, छत्‍तीसगढ़ और पंजाब जैसे राज्‍यों में कोरोना को लेकर स्थिति लगातार बिगड़ी है. महाराष्‍ट्र के कई शहरों में तो अस्‍पतालों में बेड कम पड़ने की नौबत आई है.
  • कोरोना हाहाकार: बेकाबू हालात के बीच महाराष्ट्र में लॉकडाउन की संभावनाएं, वैक्सीन संकट पर विपक्ष लामबंद, 10 बातें
    कोरोना महामारी के हालात दिन-ब-दिन बिगड़ते जा रहे हैं. पिछली लहर के मुकाबले हर तरफ कई गुना ज्यादा मामले देखने को मिल रहे हैं. सोमवार को एक दिन में करीब 1.69 लाख नए मामले सामने आए हैं. जिसके बाद एक्टिव मामले 12 लाख के चिंताजनक आंकड़े को पार कर चुकी है. वहीं गहराते वैक्सीन संकट पर विपक्ष की मोर्चाबंदी तेज हो गई है. सोमवार को कांग्रेस ने सबको वैक्सीन के लिए एक अभियान की शुरुआत की है. महाराष्ट्र में 63 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. जिसके बाद राज्य में लॉकडाउन के बादल मंडरा रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के अनुसार रविवार को हुई बैठक में इस पर चर्चा हुई. वर्क फोर्स मानता है कि राज्य में लॉकडाउन लगाया जाना चाहिए, लिहाजा 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन पर फैसला लिया जाएगा. एक तरफ कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं तो दूसरी तरफ हरिद्वार कुंभ दूसरे शाही स्नान की तैयारी कर रहा है. हजारों लोग इस पावन मौके पर गंगा में डुबकी लगाएंगे लेकिन एक सच यह भी है कि महामारी काल में इस स्नान से कोविड फैलने का डर बना हुआ है. इसके अलावा केंद्र सरकार ने कोविड-19 के मामलों में तेज इजाफे के चलते वायरल-रोधी दवा रेमडेसिविर की मांग बढ़ने के मद्देनजर इसके एक्सपोर्ट पर पाबंदी लगा दी है. संक्रमण के मामलों में तेजी के चलते देश के 15 राज्यों और दिल्ली में स्वास्थ्य ढांचे पर जबरदस्त भार बढ़ गया है, ऐसे में शासन-प्रशासन ने पहले से कहीं ज्यादा संख्या में कोविड अस्पताल रिजर्व करना शुरू कर दिया है और लोगों की आवाजाही पर रोक बढ़ाने के अलावा मेडिकल सप्लाई की किसी भी कमी को दूर करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं.
  • PM मोदी के 'टीका उत्सव' के ऐलान के बीच कई राज्यों में Covid-19 वैक्सीन की 'किल्लत', 10 बातें
    एक तरफ देश में आज से प्रधानमंत्री के आह्वाहन पर 'टीका उत्सव' मनाया जा रहा हैं तो वहीं दूसरी तरफ कई राज्य वैक्सीन की 'किल्लत' की शिकायत कर रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर आज से 14 अप्रैल तक ‘टीका उत्सव’ का आयोजन मनाया जाएगा. जिसका उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा योग्य लोगों का टीकाकरण करना है. ‘टीका उत्सव’ के दौरान उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे कई राज्य लोगों से टीका लगवाने की अपील कर रहे हैं. तो वहीं दूसरी महाराष्ट्र और दिल्ली जैसे राज्य वैक्सीन की कमी की बात कह रहे हैं, तो चलिए देखते हैं कि किन राज्यों में वैक्सीन की कमी है और कहां टीका उत्सव पूरी क्षमता के साथ मनाया जा रहा है.
  • कोरोना हुआ आउट ऑफ कंट्रोल: पाबंदियों का बढ़ता दायरा, अब UP के इन जिलों में भी लगा नाइट कर्फ्यू, 10 बातें
    India Covid-19: देश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच पाबंदियों का दायरा भी बढ़ाया जा रहा है. रविवार को देश में 1 लाख 52 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए. इससे निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों ने नए सिरे से पाबंदियों को लगाना शुरू किया है, साथ ही आज से पूरे देश में टीका उत्सव भी मनाया जाएगा. 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक चलने वाले इस ‘टीका उत्सव’ का उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगाना है. टीका उत्सव के तहत कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने ज्यादा से ज्यादा संख्या में टीका लगाने की अपील की है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत ने 85 दिन में 10 करोड़ टीके लगाए हैं और वह दुनिया का सबसे तेज टीकाकरण अभियान चलाने वाला देश बन गया है. वहीं दिल्ली में आज से कड़ी पाबंदिया लागू कर दी गई हैं तो महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव आज लॉक़डाउन को लेकर अहम बैठक करेंग. दिल्ली में सभी तरह की सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक एवं धार्मिक सभाओं पर रोक लगा दी है. दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की ओर से जारी आदेश के मुताबिक, दिल्ली में सभी कॉलेज, प्रशिक्षण एवं कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे. तो चलिए जानते हैं कोरोना से जुड़ी आज की 10 बड़ी अपडेट्स.
  • भारत में बेकाबू होता कोरोना: कई राज्यों में लगा नाइट कर्फ्यू, PM मोदी ने कहा- डरने की जरूरत नहीं, 10 बातें
    Night Curfew in Bengaluru: एक तरफ कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ वैक्सीन को लेकर केंद्र और राज्य की तकरार खुलकर सामने आ गई है. राज्यों के आरोप और केंद्र के जवाब के बीच पीएम मोदी ने गुरुवार शाम को अपने संबोधन में जिक्र करते गुए कहा कि भारत अपनी पूरी क्षमता से टीका के उत्पादन कर रहा है और जरूरत के हिसाब से राज्यों को दिया जाएगा. देश में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों पर चिंता जताते हुए पीएम मोदी ने गुरुवार को कहा कि संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए फिर से युद्ध स्तर पर काम करना जरूरी हैय मुख्यमंत्रियों के साथ देश में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करने के बाद अपने संबोधन में PM ने कहा कि देश ने पिछले साल बगैर टीके के कोविड-19 से लड़ाई जीती थी, इसलिए आज भयभीत होने की जरूरत नहीं है. दूसरी बड़ी चिंता ये है कि अब कोरोना की चपेट में डॉक्टर्स भी तेजी से आ रहा है. लखनऊ के KGM यूनिवर्सिटी में दर्जनों डॉक्टरों के संक्रमित होने के बाद अब सर गंगाराम अस्पताल में भी 37 डॉक्टरों की रिपोर्ट पॉजिटीव आई है. तो चलिए जानते हैं कोरोना संक्रमण से जुड़ी अब तक की 10 बड़ी अपडेट्स.
  • PM Modi ने कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों पर काबू पाने के लिए राज्यों को दिए ये 5 मंत्र
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों पर काबू पाने के लिए गुरुवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि कोरोना के ग्राफ को नीचे लाने के लिए युद्धस्तर पर प्रयास करने की जरूरत है. उन्होंने वैक्सीनेशन के मुकाबले कोरोना की टेस्टिंग, ट्रैकिंग और ट्रेसिंग पर जोर देने की वकालत की है.ऑनलाइन संवाद के दौरान पीएम मोदी ने कोरोनावायरस पर नियंत्रण के लिए ये 5 अहम सुझाव मुख्यमंत्रियों को दिए हैं.
  • कोरोना की महालहर: दिल्ली के बाद गुजरात में भी नाइट कर्फ्यू, UP में भी संभव, 10 बातें
    देश में कोरोना के बढ़ते मामलों की संख्या ने सरकार की चिंताओं को और बढ़ा दिया है. वैक्सीनेशन अभियान के बीच आई कोरोना की दूसरी लहर ने देश में एक्टिव मरीजों की संख्या को एकाएक 8 लाख के आंकड़े के करीब पहुंचा दिया है, स्थिति को बिगड़ता हुआ देख केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन आज 11 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक कर इसकी समीक्षा करेंगे. इन 11 राज्यों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, पंजाब और राजस्थान हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, दिल्ली तमिलनाडु, मध्य प्रदेश और पंजाब में कोविड-19 के मामलों में तेज बढ़ोतरी हुई है
  • दुनिया के सबसे ऊंचे पुल का आर्च बनकर तैयार, जानिए तूफान-भूकंप को नाकाम करने वाले पुल की ये 10 खासियतें..
    Chenab Bridge : जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में चिनाब नदी पर बन रहे रेलवे पुल को सोमवार को मेहराब तकनीक यानी हैंगिंग आर्च के जरिए पूरा किया गया. ये दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे पुल है और इसकी कुल ऊंचाई 467 मीटर है. सीस्मिक जोन 5 के हिसाब से ये पुल तैयार किया गया है, यानी भारी भूकंप पर भी इसका बाल बांका नहीं होगा.दुनिया का सबसे ऊंचा यह रेलवे पुल अगले साल चालू होने की उम्‍मीद है. यह पुल कश्मीर घाटी को शेष भारत से जोड़ेगा. आर्च को इंजीनियर का बेहतरीन नमूना माना जा रहा है.रेल मंत्री पीयूष गोयल (Railway Minister Piyush Goyal) ने दिल्ली में वीडियो लिंक के जरिये केबल क्रेन द्वारा आर्च का काम पूरा होने के वाकये को देखा. उत्तर रेलवे (Northern Railways) ने इस कामयाबी को मील का पत्थर बताया है.
12345»

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com