Intermittent Fasting Benefits: सिर्फ मोटापे का काल ही नहीं है इंटरमिटेंट फास्टिंग ठीक से करने पर मिलते हैं ये 16 आश्चर्यजनक लाभ

Benefits Of Intermittent Fasting: इंटरमिटेंट फास्टिंग के स्वास्थ्य लाभों पर कई साक्ष्य आधारित शोध उपलब्ध हैं. प्रारंभिक अवस्था में क्लीजिंग की प्रक्रिया तेज गति से होती है.

Intermittent Fasting Benefits: सिर्फ मोटापे का काल ही नहीं है इंटरमिटेंट फास्टिंग ठीक से करने पर मिलते हैं ये 16 आश्चर्यजनक लाभ

Intermittent Fasting Benefits: वेट लॉस करने की चाह वाले लोगों में इंटरमिटेंट फास्टिंग पॉपुलर है.

खास बातें

  • वेट लॉस की चाह वाले लोगों में इंटरमिटेंट फास्टिंग काफी पॉपुलर है.
  • उपवास के दौरान शरीर में टॉक्सिक लेवल कम हो जाता है.
  • कोशिका कार्य में वृद्धि होती है और रिकवरी रेट तेज हो जाता है.

How To Do Intermittent Fasting: अगर आपका मोटापा बढ़ गया है या आप वजन कम करने की कोशिश रहे हैं तो आपने इंटरमिटेंट फास्टिंग के बारे में जरूर सुना होगा. वजन कम करने और स्लिम फिट बनने की रेस में अव्वल आने की चाह वाले लोगों में इंटरमिटेंट फास्टिंग काफी पॉपुलर है. उपवास को सभी प्रकार के भोजन या फूड्स से आत्म-संयम के रूप में परिभाषित किया गया है. उपवास के दौरान टॉक्सिक लेवल कम हो जाता है, कोशिका कार्य में वृद्धि होती है और रिकवरी रेट तेज हो जाता है. उपवास एक चमत्कारिक उपचारक और स्वास्थ्य को बहाल करने वाला माना जाता है. ठीक से किया गया उपवास शरीर की अंतर्निहित उपचार क्षमता को बढ़ाने के लिए फायदेमंद माना जाता है. इंटरमिटेंट फास्टिंग के स्वास्थ्य लाभों पर कई साक्ष्य आधारित शोध उपलब्ध हैं. प्रारंभिक अवस्था में क्लीजिंग की प्रक्रिया तेज गति से होती है, इसलिए शरीर को अवसाद, सिरदर्द, दर्द आदि का अनुभव होता है, लेकिन माना जाता है कि इस अवस्था के बाद मस्तिष्क को ताजा रक्त मिलने लगा जिससे मस्तिष्क की मानसिक शक्ति में वृद्धि होती है.

बालों के लिए किसी औषधी से कम नहीं हैं मेथी के बीज, हेयर फॉल रोकना और बालों की ग्रोथ बढ़ाने का तो जवाब नहीं

इंटरमिटेंट फास्टिंग स्टेप | Intermittent Fasting Step

उपवास के पहले चरण में शरीर से अपशिष्ट उत्पादों को हटाकर सफाई प्रक्रिया को काफी बढ़ाया जाता है. सांसों में दुर्गंध आना आम है क्योंकि शरीर से अवशेष पदार्थ निकलता है.
दूसरे चरण में श्लेष्मा, अनवांटेड सब्सटेंस और ड्राई सेल्स की सफाई आम है.
तीसरे चरण में सेलुलर लेवल पर सफाई होती है.

क्या उपवास आपके शरीर के लिए अच्छा है? | Is Fasting Good For Your Body?

  • पाचन को ऊर्जा की जरूरत होती है जिसे अन्य उद्देश्यों जैसे सेल्फ-हीलिंग और सेल्फ-रिपेयर के लिए मोड़ा जा सकता है.
  • मृत और क्षतिग्रस्त कोशिकाओं और ऊतकों, विष को जारी किया जाता है जिससे प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद मिलती है.
  • पाचन तंत्र की डिटॉक्सिफाइंग और शुद्ध करने की प्रक्रिया बीमारियों को दूर रखती है.

महिलाओं की इस एक पावर को बढ़ाता है Black Raisin Water, लेडीज की इन समस्याओं का भी है अचूक उपाय

इंटरमिटेंट फास्टिंग के 16 शानदार फायदे | 16 Great Benefits Of Intermittent Fasting

  1. एक्स्टेंड फास्टिंग मृत कोशिकाओं और ऊतकों से छुटकारा पाने में मदद करता है.
  2. इंटरमिटेंट फास्टिंग सभी अंगों से विष मुक्त करता है, विशेष रूप से पाचन तंत्र इस प्रकार कई पाचन अंगों की दक्षता को बढ़ाता है.
  3. उपवास रोगों को कंट्रोल करने का सबसे सरल और आसान उपाय है. इसलिए कोशिश करें कि जब भी समय मिले इंटरमिटेंट फास्टिंग करें.
  4. उपवास रोगों के उपचार में प्रमुख भूमिका निभाता है और रोग की स्थिति को सामान्य स्थिति के करीब उलटने की शक्ति रखता है.
  5. उपवास के दौरान कोशिकाओं और ऊतकों का निर्माण और हड्डियों का उपचार अधिकतम हो जाता है.
  6. इंटरमिटेंट फास्टिंग के दौरान शरीर कई अपशिष्टों और विषाक्त पदार्थों से खुद को साफ करता है जिससे विषहरण की प्रक्रिया में मदद मिलती है जिससे उपचार होता है.
  7. जैसे ही विषैला पदार्थ शरीर से बाहर निकलता है, प्रणाली तंत्र स्पष्ट रूप से सोचने के लिए विकसित होता है.
  8. उपवास हेल्दी कोशिकाओं और ऊतकों को छोड़कर मृत और रोग कोशिकाओं को तोड़ता है. इस प्रकार पूरी तरह से सफाई सभी स्तरों पर होती है.
  9. इंटरमिटेंट फास्टिंग पाचन को फिर से जीवंत करता है, और क्रमिक वृत्तों में सिकुड़नेवाली क्रिया तेज हो जाती है.
  10. उपवास की अवधि के आधार पर शरीर की ऊर्जा, जीवन शक्ति और शक्ति में वृद्धि हुई.
  11. सेल्फ रेगुलेशन और शरीर के एक सेल्फ हीलिंग सिस्टम में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है.
  12. तंत्रिका तंत्र और संवेदी अंग सही ढंग से काम करने लगते हैं.
  13. अस्थमा, गठिया, ऑस्टियो और रूमेटोइड, गठिया, हाइपरकोलेस्ट्रोलेमिया, माइग्रेन, हाई ब्लड प्रेशर, स्पॉन्डिलाइटिस, हाइपोथायरायडिज्म, अपचन, मोटापा इत्यादि जैसे पुराने रोग नियमित रूप से उपवास करने से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से लाभान्वित होते हैं.
  14. त्वचा की संवेदनशीलता बढ़ती है.
  15. श्वास में सुधार हो सकता है.
  16. यह हेल्दी तरीके से वजन घटाने में मदद करता है. इसके लिए शहद का इस्तेमाल किया जा सकता है.

गर्मियों के 5 फल जिनसे बिगड़ते कोलेस्ट्रॉल पर पा सकते हैं काबू, जानें और क्या करते हैं कमाल

इंटरमिटेंट फास्टिंग डाइट क्या हैं? | What Are Intermittent Fasting Diets?

  • उपवास का सबसे अच्छा, सबसे सुरक्षित और सबसे प्रभावी तरीका नींबू का रस है क्योंकि यह विष को दूर करने में मदद करता है. जूस शरीर को पर्याप्त ऊर्जा प्रदान करता है.
  • सभी सब्जियों या सभी फलों के रस पिएं; जूस कॉम्बिनेशन तैयार करने के लिए कभी भी फलों और सब्जियों को एक साथ न मिलाएं.
  • ताजी सब्जियों या फलों से जूस बनाना बेहतर है. बेहतर होगा कि आप जूस को छान लें या छान लें क्योंकि यह अतिरिक्त फाइबर को हटा देता है और पाचन तंत्र को पूर्ण आराम देता है. वजन कम करने के लिए जूस को पानी से पतला करें.

उपवास करने के सर्वोत्तम तरीके | Best Ways To Fast

  • आदर्श रूप से लोगों को विषाक्त पदार्थों और भावनात्मक निर्माण से निपटने के लिए साल में एक या दो बार उपवास करना चाहिए.
  • उपवास की अवधि तीन से दस दिनों तक हो सकती है.
  • लंबे उपवास में 30 से 40 दिन तक जा सकते हैं, लेकिन यह व्यक्तिगत क्षमता पर निर्भर करता है.
  • उपवास की अवधि रोगी की उम्र और रोग की प्रकृति पर भी निर्भर होनी चाहिए.

भृंगराज के 6 हैरान करने वाले स्वास्थ्य लाभ, सिरदर्द, पाचन, स्किन, बालों और लीवर के लिए है कमाल

कैसे करें उपवास? | How To Fast?

उपवास तोड़ने के मुख्य नियम हैं: अधिक भोजन न करें, धीरे-धीरे खाएं और अपने भोजन को अच्छी तरह से चबाएं और सामान्य डाइट में क्रमिक परिवर्तन के लिए कई दिनों का समय लें. व्रत तोड़ने का सबसे सुरक्षित तरीका ताजे फलों का रस / रसीले फल हैं. उपवास के तुरंत बाद भोजन करने की सलाह नहीं दी जाती है.

व्रत तोड़ने का सही समय | Right Time To Break The Fast

  • जब भूख लौट आती है.
  • जीभ का लेप साफ हो जाता है और गुलाबी रंग का हो जाता है.
  • सांसों से बदबू आने लगती है और मुंह में साफ स्वाद आता है.
  • नाड़ी सामान्य हो जाती है.
  • तापमान सामान्य हो जाता है.
  • मूत्र गंधहीन हो जाता है.
  • आंखें साफ हो जाती हैं.
  • श्वसन दर सामान्य हो जाती है.

बोना या छोटू नाम से हो गए हैं परेशान, तो तेजी से हाइट बढ़ाने के लिए रोजाना करें ये 5 कारगर योग आसन

वेट लॉस और इंटरमिटेंट फास्टिंग | Weight Loss And Intermittent Fasting

इंटरमिटेंट फास्टिंग करने से वजन घटाने और फैट बर्न करने में मदद मिलेगी. वैज्ञानिक आधार पर उपवास करने से मोटापे पर काबू पाने में मदद मिलती है, फलस्वरूप कई बीमारियों और विकारों का इलाज होता है. उपवास के माध्यम से वजन कम करने के लिए वैज्ञानिक तकनीक का पालन करके कम से कम 20 या 30 दिनों तक लंबी अवधि का उपवास करना होता है. प्राकृतिक और मौसमी फूड्स के साथ-साथ हर्बल जूस पर विशेष ध्यान देने के साथ भोजन के सेवन का बहुत सावधानी से पालन करने की जरूरत है. न्यूट्रिशनिष्ट के सलाह के बाद भोजन या जूस लेने की समय सीमा बनानी चाहिए. जूस के जरिए व्रत तोड़ना चाहिए और व्रत के बाद तली-भुनी चीजें खाने से बचना चाहिए.

सही तरीके से इंटरमिटेंट फास्टिंग कैसे करें जानने के लिए क्लिक करें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.