Acidity Problem: पेट और सीने में जलन से तुरंत छुटकारा पाने के 13 कारगर घरेलू उपचार, चुटकियों में मिलेगी एसिडीटी से आराम

Home Remedies For Acidity: आमतौर आपके द्वारा खाए जाने वाले भोजन को तोड़ने के लिए पेट के एसिड की जरूरत होती है, लेकिन जब पेट का एसिड आपके अन्नप्रणाली में वापस आ जाता है. अगर आप भी एसिडिटी से छुटकारा पाने के तरीके जानना चाहते हैं यहां चमत्कारिक उपाय हैं.

Acidity Problem: पेट और सीने में जलन से तुरंत छुटकारा पाने के 13 कारगर घरेलू उपचार, चुटकियों में मिलेगी एसिडीटी से आराम

Acidity Problem: एसिडिटी से छुटकारा पाने के तरीके जानना चाहते हैं यहां चमत्कारिक उपाय हैं.

खास बातें

  • एसिडिटी या हार्ट बर्न यह आपके पेट और सीने में जलन होती है.
  • एसिडिटी के कारण क्या हैं सबसे पहले इसका पता लगाया जाना चाहिए.
  • क्योंकि एसिडिटी का इलाज इसके कारण का पता लगाने से ही शुरू होता है.

Acidity Home Remedy: एसिडिटी या हार्ट बर्न यह आपके पेट और सीने में जलन होती है. एसिडिटी के कारण क्या हैं सबसे पहले इसका पता लगाया जाना चाहिए, क्योंकि एसिडिटी का इलाज इसके कारण का पता लगाने से ही शुरू होता है. अगर आप एसिडिटी के लिए घरेलू उपचार भी कर रहे हैं तो पहले यह जानना जरूरी है कि आपको कौन सी चीजें खाने से एसिडिटी की समस्या (Acidity Problem) हो रही है. आमतौर आपके द्वारा खाए जाने वाले भोजन को तोड़ने के लिए पेट के एसिड की जरूरत होती है, लेकिन जब पेट का एसिड आपके अन्नप्रणाली में वापस आ जाता है. अगर आप भी एसिडिटी से छुटकारा पाने के तरीके (Ways To Get Rid Of Acidity) जानना चाहते हैं तो आपको एसिडिटी से राहत पाने के टिप्स कई मिल जाएंगे. अगर आप कुछ एक्स्ट्रा मसालेदार भोजन के साथ भारी भोजन करते हैं, तो बाद में सीने में जलन का अनुभव होना स्वाभाविक हो सकता है. यह कई लोगों के लिए बहुत ही आम समस्या है. इस अम्लता को एसिड रिफ्लक्स के रूप में भी जाना जाता है. यहां 13 सरल और प्रभावी घरेलू उपचार दिए गए हैं जो आपको एसिडिटी से राहत दिलाने में मदद करेंगे.

एसिडिटी से राहत के लिए इन चीजों का सेवन करें | Eat These Things To Get Relief From Acidity

1) ठंडा दूध पिएं

यह एसिडिटी के लिए सबसे आसान घरेलू उपचारों में से एक है. एक गिलास ठंडा दूध आपको एसिडिटी से राहत दिलाने में मदद कर सकता है. यह कैल्शियम से भरपूर होता है, इसलिए यह आपके पेट में एसिडिक बिल्डअप को भी रोक सकता है.

2) नारियल पानी

रोजाना 2 गिलास नारियल पानी पीने से आपको सीने में जलन से राहत मिल सकती है. फाइबर से भरपूर यह आपके पाचन तंत्र को शांत करने में मदद करता है. साथ ही यह आपके पेट को अतिरिक्त एसिड उत्पादन के प्रभाव से बचा सकता है.

इस एक कॉमन हेल्थ प्रोब्लम से जल्द निजात पाने के लिए 9 घरेलू उपचार, साइलेंट किलर है ये बीमारी

3) कच्चा प्याज खाने से बचें

कच्चे प्याज को फर्मेंटेड फाइबर के लिए जाना जाता है. इसलिए कच्चे प्याज वाले भोजन करने से आमतौर पर व्यक्तियों में अम्लता बढ़ जाती है. यह अन्नप्रणाली के साथ जलन पैदा करता है जिससे एसिडिटी या हार्ट बर्न की समस्या भी बढ़ जाती है. तो, कच्चे प्याज से पूरी तरह परहेज करने से आपको एसिडिटी से राहत मिल सकती है.

4) अदरक

अपने कई पाचन और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों के साथ अदरक को एसिड रिफ्लक्स के लिए सबसे प्रभावी घरेलू उपचारों में से एक माना जा सकता है. आप अपने खाना पकाने में अदरक का उपयोग कर सकते हैं या आप केवल ताजा अदरक का एक टुकड़ा चबा सकते हैं. इसके अलावा आप इसे एक गिलास पानी में उबाल कर आधा गिलास कर सकते हैं और फिर पानी पी सकते हैं.

5) पुदीने की पत्तियां

पुदीने की पत्तियों को पाचन गुणों के लिए भी जाना जाता है और यह प्राकृतिक शीतलन एजेंट के रूप में भी काम कर सकता है. यह आपको एसिडिटी और हार्ट बर्न से उचित राहत दिलाने में मदद करता है. एक कप पुदीने की चाय एसिड रिफ्लक्स के लिए एक प्रभावी प्राकृतिक उपचार के रूप में काम करती है. इसके अलावा आप पुदीने की पत्तियों को उबालकर उसका पानी पी सकते हैं.

पीठ दर्द से जल्द निजात पाने के लिए 7 कारगर घरेलू उपचार, बाद में खुद बोलेंगे वाह क्या गजब आराम मिला

6) तुलसी के पत्ते

तुलसी के पत्ते हमारे पेट में श्लेष्म पैदा करने में मदद करते हैं. यह हार्ट बर्न से राहत देता है जबकि पत्तियां पेट की परत को भी शांत कर सकती हैं. एसिडिटी से तुरंत राहत पाने के लिए आप बस 2-3 तुलसी के पत्तों को चबा सकते हैं या उन्हें पानी में उबाल कर पी सकते हैं.

7) छाछ

आपका सामान्य छाछ भी एसिड रिफ्लक्स और हार्ट बर्न के लिए सबसे उपयोगी घरेलू उपचारों में से एक है. इसमें लैक्टिक एसिड होता है जो आपके पेट में एसिडिटी को सामान्य करने में मदद करता है. एसिडिटी से राहत पाने के लिए आप किसी भी भारी भोजन के बाद एक गिलास छाछ पी सकते हैं.

8) सेब का सिरका

सेब का सिरका एसिडिटी के लिए सबसे प्रभावी घरेलू उपचारों में से एक है. बस एक कप पानी में 1-2 चम्मच कच्चा सेब का सिरका मिलाएं और इसे दिन में एक या दो बार पिएं. हार्ट बर्न से राहत के अलावा, सेब साइडर सिरका के कई अन्य स्वास्थ्य लाभ भी हैं.

आंखों के आसपास के कालेपन को हटाने के लिए 6 आसान नुस्खे, डार्क सर्कल की तुरंत करेंगे छुट्टी

9) केले

कब्ज के प्राकृतिक उपचारों में से एक होने के अलावा केला एसिडिटी से भी राहत देता है. इनमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है और पोटेशियम से भी भरपूर होते हैं. वे पाचन तंत्र के लिए कई लाभ प्रदान करते हैं और अम्लता के लिए प्रभावी घरेलू उपचार के रूप में कार्य करते हैं.

10) कच्चे बादाम

वे प्राकृतिक तेलों से भरपूर होते हैं, बादाम आपके पेट पर सुखदायक प्रभाव डालते हैं. जबकि कच्चे बादाम पाचन प्रक्रिया में मदद करने के लिए जाने जाते हैं, बादाम का दूध आपके पेट को अच्छे स्वास्थ्य में रख सकता है और एसिडिटी से राहत दिला सकता है.

कमजोरी और दुबलेपन से हैं परेशान, तो तेजी से वजन और ताकत बढ़ाने के लिए अपनाएं ये 4 सुपर इफेक्टिव तरीके

11) गुड़

एसिडिटी और एसिड रिफ्लक्स के लिए एक और उपयोगी घरेलू उपाय गुड़ है. यह पाचन प्रक्रिया में मदद करता है और एसिडिटी से राहत देता है. यह आपके पेट पर भी ठंडा प्रभाव डालता है. अपने भारी भोजन के बाद गुड़ का एक छोटा टुकड़ा लेना एसिड रिफ्लक्स के लिए सबसे उपयोगी घरेलू उपचारों में से एक है.

12) तरबूज का रस

तरबूज गर्मियों में शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए जाना जाता है. तो, तरबूज का रस भी हार्ट बर्न के प्राकृतिक उपचारों में से एक के रूप में कार्य करता है. एसिडिटी से राहत पाने के लिए आप नाश्ते के साथ एक गिलास तरबूज का जूस पी सकते हैं.

कहर बरपाती गर्म लू और तेज धूप से स्किन को होने वाले नुकसान से बचने के लिए 6 असरदार उपाय

13) एलोवेरा जूस

एलोवेरा हार्ट बर्न से राहत के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपचारों में से एक है. इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं और यह शक्तिशाली विटामिन से भी भरा होता है. आप एलोवेरा के पत्तों से गूदा निकाल सकते हैं, इसे पानी में मिला सकते हैं और इसे दिन में 2-3 बार लेने से एसिडिटी और हार्ट बर्न से राहत मिलती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.