गुजरात में बारिश और बाढ़ का कहर, कई गांवों का टूटा संपर्क; सुरक्षित जगहों पर भेजे गए हजारों लोग

अधिकारियों ने कहा कि बाढ़ से प्रभावित कुल 9,613 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया, जबकि नर्मदा, भरूच, वडोदरा, दाहोद और पंचमहल जिलों में 207 अन्य लोगों को बचाया गया.

गुजरात में बारिश और बाढ़ का कहर, कई गांवों का टूटा संपर्क; सुरक्षित जगहों पर भेजे गए हजारों लोग

गुजारत में बारिश और बाढ़ का कहर(प्रतीकात्मक फोटो)

गुजरात के कई हिस्सों में रविवार को भारी बारिश हुई. नर्मदा और अन्य नदियों में जलस्तर बढ़ जाने से निचले इलाकों में बाढ़ आ गई और कई गांवों का संपर्क टूट गया. इस दौरान पांच जिलों के करीब 9,600 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया और 207 अन्य को बचाया गया. अहमदाबाद में रविवार शाम छह बजे तक 12 घंटे की अवधि में 76 मिमी बारिश दर्ज की गई जिससे शहर के कई इलाकों में जल जमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई. अधिकारियों ने एहतियात के तौर पर यातायात के लिए अंडरपास को बंद कर दिया.

ये भी पढे़ं-यूपी: दुकानदार को मात्र 115 रुपये देने के विवाद में दोस्तों ने की किशोर की हत्या

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने पंचमहल, दाहोद, खेड़ा, अरावली, महिसागर, बनासकांठा और साबरकांठा जिलों में मंगलवार सुबह तक अत्यधिक भारी बारिश का ‘रेड अलर्ट' जारी किया है. आईएमडी बुलेटिन में अगले सप्ताह के बृहस्पतिवार तक गुजरात के कई हिस्सों में भारी बारिश की संभावना जताई गई है.

मध्य प्रदेश में जलग्रहण क्षेत्रों में भारी बारिश के कारण सरदार सरोवर बांध (एसएसडी) से भारी मात्रा में पानी नर्मदा नदी में छोड़े जाने से नर्मदा जिले के निचले इलाकों में बाढ़ आ गई. सरदार सरोवर बांध इस मानसून में पहली बार रविवार सुबह 138.68 मीटर के पूर्ण भंडारण स्तर (एफआरएल) पर पहुंच गया.

सुरक्षित जगहों पर पहुंचाए गए 9,613 लोग

अधिकारियों ने कहा कि बाढ़ से प्रभावित कुल 9,613 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया, जबकि नर्मदा, भरूच, वडोदरा, दाहोद और पंचमहल जिलों में 207 अन्य लोगों को बचाया गया. उन्होंने बताया कि भरूच में सबसे अधिक 5,744 लोगों को स्थानांतरित किया गया जबकि नर्मदा में 2,317, वडोदरा में 1,462, दाहोद में 20 और पंचमहल में 70 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया. नर्मदा की जिला अधिकारी श्वेता तेवतिया ने बताया कि बचाव प्रयास जारी हैं और प्रशासन बांध (सरदार सरोवर) से पानी छोड़े जाने के कारण उत्पन्न हुई स्थिति पर नजर बनाए हुए है.

अलर्ट पर NDRF की टीमें

मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण किया.अधिकारियों ने बताया कि सरकार ने नर्मदा में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की दो टीम तथा भरूच, राजकोट, जूनागढ़ और वडोदरा में एक-एक टीम की तैनाती की है.अधिकारियों ने बताया कि सेना की दो टीम वडोदरा में तैयार अवस्था में हैं.

एनडीआरएफ के कर्मचारियों और स्थानीय बचाव टीमों ने बाढ़ प्रभावित इलाकों में फंसे लोगों को निकाला, जिनमें नर्मदा जिले के एक आवासीय विद्यालय के लगभग 70 छात्र और पंचमहल जिले में एक नदी के पास एक पुल के नीचे फंसे लगभग 100 मजदूर शामिल हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढे़ं-कहां होगी विपक्षी गठबंधन 'इंडिया' की पहली रैली...? रणदीप सुरजेवाला ने कहा- "अभी तय नहीं"



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)