फैक्‍ट फाइल

कोरोना: इन राज्यों में बढ़ा लॉकडाउन, आज से धीरे-धीरे अनलॉक होगी दिल्ली, UP में पाबंदियों में कुछ राहत; 10 बातें

कोरोना: इन राज्यों में बढ़ा लॉकडाउन, आज से धीरे-धीरे अनलॉक होगी दिल्ली, UP में पाबंदियों में कुछ राहत; 10 बातें

,

देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए मामले की रफ्तार भले की कम हो गई है, लेकिन खतरा अब भी पूरी तरह से टला नहीं है. कोरोना के नए मामले में तो घटे हैं, लेकिन मृतकों की संख्या अब भी चिंता का विषय है. ऐसे में कई राज्यों ने लॉकडाउन और कोरोना कर्फ्यू बढ़ा दिया है जबकि कुछ राज्यों ने पाबंदियों में ढील देना शुरू किया है. महाराष्ट्र, हरियाणा, ओडिशा समेत अन्य राज्यों ने लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया है. वहीं दिल्ली, उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों ने पाबंदियों में ढील देना शुरू किया है. कोरोना की तीसरी लहर आने का भी अंदेशा जताया जा रहा है. जिसे लेकर राज्यों में तैयारियां शुरू कर दी हैं.  

Lockdown Last Date : दिल्ली के बाद UP समेत ये राज्य 1 जून से दे सकते हैं लॉकडाउन में छूट,जानिए अपने राज्य का हाल...

Lockdown Last Date : दिल्ली के बाद UP समेत ये राज्य 1 जून से दे सकते हैं लॉकडाउन में छूट,जानिए अपने राज्य का हाल...

,

दिल्ली और उत्तर प्रदेश समेत 10 से ज्यादा राज्यों में लॉकडाउन (Delhi Lockdown News) का एक माह से ज्यादा वक्त हो गया है. दिल्ली ने पहले ही 1 जून से निर्माण और फैक्ट्री गतिविधियां शुरू होंगी. यूपी (UP Lockdown News) समेत कई राज्यों ने संकेत दिया है कि वो 1 जून से लॉकडाउन में छूट दे सकते हैं. जबकि पंजाब (Punjab Lockdown News), राजस्थान (Rajasthan Corona News) समेत कई राज्यों ने जून के पहले हफ्ते के आगे कोरोना से जुड़ी पाबंदियां बढ़ा दी हैं. ऐसे में अगर आप भी जून में किसी यात्रा का प्लान बना रहे हैं तो जान लीजिए कि आपके राज्य में पाबंदियां बढ़ेंगी या ढील मिलेगी.

चक्रवाती तूफान यास का असर, बिहार और झारखंड में तेज हवाएं और बारिश, 10 बातें

चक्रवाती तूफान यास का असर, बिहार और झारखंड में तेज हवाएं और बारिश, 10 बातें

,

Cyclone Yaas Updates: चक्रवाती तूफान ‘यास’ के बुधवार को देश के पूर्वी तटों से टकराने के बाद भारी बारिश हुई. बुधवार रात 'यास' 75 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की हवाओं और भारी बारिश के साथ झारखंड की सीमा में पहुंच गया. चक्रवात के दौरान 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तूफानी हवाएं चलने से कई मकान क्षतिग्रस्त हो गये, खेतों में पानी भर गया. इस चक्रवात ने बंगाल और ओडिशा में जमकर तबाही मचाई. ज्यादातर इलातों में लगातार बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. अब बिहार और झारखंड में भी मुसीबते बढ़ती हुई दिखाई दे रही हैं. प्राप्त जानकारी के अनुसार यास ने पश्चिम बंगाल में जहां तीन लाख घरों को नुकसान पहुंचाया है तो वहीं ओडिशा में कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. चक्रवात के कारण ओडिशा, पश्चिम बंगाल ओर झारखंड में 21 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया. अपराह्र में तटों से टकराने के बाद तूफान कमजोर पड़ गया था. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ‘ताउते’ के बाद एक सप्ताह के भीतर देश के तटों से टकराने वाला ‘यास’ दूसरा चक्रवाती तूफान है.

कमजोर पड़ा चक्रवाती तूफान 'यास', बंगाल में 3 लाख घर क्षतिग्रस्त, 10 बड़ी बातें

कमजोर पड़ा चक्रवाती तूफान 'यास', बंगाल में 3 लाख घर क्षतिग्रस्त, 10 बड़ी बातें

,

उत्तर ओडिशा (Odisha) और पड़ोसी पश्चिम बंगाल (West Bengal) में 130-145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाओं के साथ समुद्र तटों से टकराने के बाद बुधवार की अपराह्र भीषण चक्रवाती तूफान ‘यास’ (Yaas Cyclone) कमजोर पड़ गया है. तूफान के कारण इन दो पूर्वी राज्यों में निचले इलाकों में पानी भर गया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि चक्रवात ओडिशा के भद्रक जिले में धामरा के उत्तर और बहनागा ब्लॉक के निकट बालासोर से 50 किलोमीटर दूर तट पर लगभग सुबह 9 बजे टकराया. उन्होंने बताया कि चक्रवात के पहुंचने की प्रक्रिया अपराह्र एक बजकर 30 मिनट पर पूरी हुई.

कमजोर पड़ी कोरोना की दूसरी लहर? नए केस घटे, सिर्फ मई में अब तक करीब 1 लाख मौतें; 10 बातें

कमजोर पड़ी कोरोना की दूसरी लहर? नए केस घटे, सिर्फ मई में अब तक करीब 1 लाख मौतें; 10 बातें

,

देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए मामलों में लगातार कमी देखी जा रही है. मई की शुरुआत में जहां कोविड-19 के नए मामले चार लाख से ऊपर आ रहे थे, अब दो लाख के आसपास आ गए हैं. हालांकि, कोरोना से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या अब भी चिंता का विषय बनी हुई है. पिछले 24 घंटों में साढ़े तीन हजार से ज्यादा मरीजों की मौत हुई है. दूसरी ओर, महामारी के खिलाफ देश में चल रहे वैक्सीनेशन अभियान के मोर्चे पर भी समस्या देखने को मिल रही है. दिल्ली समेत कई राज्यों ने वैक्सीन की कमी का मुद्दा उठाया है. 

Cyclone Yaas: चक्रवात यास आज उत्तर ओडिशा में देगा दस्तक, कोलकाता एयरपोर्ट से बंद रहेंगी उड़ानें

Cyclone Yaas: चक्रवात यास आज उत्तर ओडिशा में देगा दस्तक, कोलकाता एयरपोर्ट से बंद रहेंगी उड़ानें

,

चक्रवात यास (Cyclone Yaas) कल दोपहर ओडिशा (Odisha) तट पर धामरा बंदरगाह और बालासोर के बीच 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दस्तक दे सकता है. इसके बंगाल (West Bengal) से भी गुजरने की उम्मीद है. दोनों राज्य हाई अलर्ट पर हैं. चक्रवात की गंभीरता को देखते हुए कोलकाता एयरपोर्ट से सभी उड़ानों को निलंबित कर दिया गया है. कोलकाता एयरपोर्ट की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक एयरपोर्ट से 26 मई की सुबह 8.30 बजे से शाम 7.45 बजे तक सभी उड़ानें निलंबित रहेंगी. आइये आपको बताते हैं इस चक्रवात से जुड़ी 10 बड़ी बातें..

वैक्सीन पर SII के दावे से सवालों के घेरे में सरकार? ब्लैक फंगस से लड़ने के लिए देश ने कसी कमर, 10 बातें

वैक्सीन पर SII के दावे से सवालों के घेरे में सरकार? ब्लैक फंगस से लड़ने के लिए देश ने कसी कमर, 10 बातें

,

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए टीकाकरण अभियान (Vaccination Drive in India) जारी है. कई राज्यों में टीके की किल्लत की खबरें भी सामने आ रही हैं. इस बीच सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर सुरेश जाधव की तरफ से पहली बार इसको लेकर बयान आया है. वहीं दूसरी तरफ ब्लैक फंगस के बढ़ते खतरे के बीच इसकी दवाई की किल्लत नई चुनौती बनकर उभरी है. जिसके चलते शुक्रवार को सरकार ने पांच नए फर्मों को इन दवाओं के प्रोडक्शन के लिए आपात लाइसेंस जारी किया है. साथ ही जो फर्म ये दवाएं बना रहे हैं उन्हें प्रोडक्शन बढ़ाने की अनुमति भी दी गई है. इसके अलावा इधर डीआरडीओ ने कोरोना से लड़ने के लिए एंटीबॉडी डिटेक्शन किट तैयार किया है. इसे दिल्ली के वैनगार्ड डायग्नॉस्टिक्स के सहयोग से विकसित किया गया है. DIPCOVAN किट के ज़रिए ये पता लगाया जा सकता है कि इंसान के शरीर में कोरोना से लड़ने के लिए ज़रूरी एंटीबॉडी या प्लाज़्मा है या नहीं. इस किट को 1000 से ज़्यादा मरीज़ों पर टेस्ट किया जाएगा.

Cyclone Tauktae: कमजोर पड़ा चक्रवात 'ताउते', गुजरात में तीन, महाराष्ट्र में 6 लोगों की मौत, 10 बातें

Cyclone Tauktae: कमजोर पड़ा चक्रवात 'ताउते', गुजरात में तीन, महाराष्ट्र में 6 लोगों की मौत, 10 बातें

,

गुजरात में दो दशक के सबसे भयंकर तूफान चक्रवात ताउते (Cyclone Tauktae) ने सोमवार रात को दस्तक दी. दक्षिण पश्चिम राज्यों में चक्रवाती तूफान ताउते कहर बनकर टूटा है. इस दौरान 190 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं.  जिससे गुजरात में लैंडफॉल हुआ, बिजली आपूर्ति चरमरा गई, कई पेड़ उखड गए और कई घरों को भीषण नुकसान पहुंचा. मौसम विभाग ने अपने एक ट्वीट में कहा कि चक्रवात कमजोर हो रहा है. 

Cyclone Tauktae:विकराल बन चुका तूफान ताउते कुछ ही घंटों में पहुंचेगा गुजरात, कर्नाटक में 6 मरे

Cyclone Tauktae:विकराल बन चुका तूफान ताउते कुछ ही घंटों में पहुंचेगा गुजरात, कर्नाटक में 6 मरे

,

Cyclone Tauktae: केरल, कर्नाटक और गोवा के तटीय इलाकों में रविवार को तबाही मचाने के बाद चक्रवात ‘ताउते’ उत्तर में गुजरात की ओर बढ़ रहा है. इस बीच महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में तेज हवाओं के साथ ही हल्की बारिश हुई और समुद्र में ऊंची लहरें उठीं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार को चक्रवाती तूफान ‘‘ताउते'' के कारण महाराष्ट्र (Maharashtra) में उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) से चर्चा की और ताजा स्थिति की जानकारी ली.कर्नाटक (Karnataka) में चक्रवात ताउते की वजह से प्रभावित तटीय और मलनाड जिले में अब तक छह लोगों की मौत हो गई. बयान में बताया गया कि 547 लोगों को अब तक उनके संबंधित स्थानों से निकाला गया है और चक्रवात से लोगों को बचाने के लिए यहां खोले गए 13 राहत शिविरों में 290 लोग शरण लिए हुए हैं.

तूफान तौकते:गुजरात और महाराष्ट्र में कोरोना मरीज सुरक्षित स्थान पर भेजे गए,कर्नाटक-केरल में नुकसान

तूफान तौकते:गुजरात और महाराष्ट्र में कोरोना मरीज सुरक्षित स्थान पर भेजे गए,कर्नाटक-केरल में नुकसान

,

Cyclone ​​Tauktae: गुजरात के तटीय इलाकों की ओर बढ़ रहा चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ (CycloneTauktae) ने रौद्र रूप धारण कर लिया है. गुजरात और महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में तमाम अस्पतालों से कोरोना के मरीजों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने रविवार को ये चेतावनी जारी की है. आईएमडी के अनुसार, तौकते तूफान के 17 (मई) की शाम तक गुजरात तट पर पहुंचने की संभावना है. यह 18 मई को तड़के पोरबंदर और भावनगर जिले में महुवा के बीच से गुजरात के तट को पार करेगा. गुजरात और दमन एवं दीव के लिए भी येलो अलर्ट जारी किया गया है. तौकते के कारण कर्नाटक में तमाम घर और नावें के साथ 271 बिजली के खंभे गिर गए. साथ ही एक व्यक्ति की मौत हो गई. केरल में भारी बारिश से अलपुझा समेत कई जिलों में घरों में पानी घुस गया.

कोरोना :  दिल्ली-महाराष्ट्र में समेत कई राज्यों में कोरोना के मामलों में गिरावट, पढ़ें 10 बातें

कोरोना : दिल्ली-महाराष्ट्र में समेत कई राज्यों में कोरोना के मामलों में गिरावट, पढ़ें 10 बातें

,

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर से हाहाकार मचा हुआ है. देश में अब भी कोविड-19 के रोजाना 3.5 लाख नए मामले आ रहे हैं. हालांकि, पिछले कुछ दिनों में पहले के मुकाबले हालात में कुछ सुधार देखा जा रहा है. महाराष्ट्र कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों में से एक है. राज्य में कोरोना के मामलों में धीरे-धीरे गिरावट देखने को मिल रही है. नए मामले 50 हजार से नीचे आ गए हैं. भारत में कोविड-19 से स्वस्थ होने वालों की संख्या ने दैनिक नये मरीजों को पीछे छोड़ दिया है. इससे पहले अब तक स्वस्थ हुए लोगों की संख्या बढ़कर दो करोड़ से अधिक हो गई है, पिछले चार दिनों में यह तीसरा मौका है, जब स्वस्थ होने वालों की संख्या कोविड-19 के दैनिक नये मरीजों से अधिक रही है. आइए नजर डालते हैं कि किन राज्यों में सुधार हुआ और कहां मामले बढ़ रहे हैं.

कोरोना : महाराष्ट्र में COVID केस 50 हजार सेे नीचे, दिल्ली-यूपी में गिरा ग्राफ, 10 खास बातें

कोरोना : महाराष्ट्र में COVID केस 50 हजार सेे नीचे, दिल्ली-यूपी में गिरा ग्राफ, 10 खास बातें

,

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर से हाहाकार मचा हुआ है. देश में अब भी कोविड-19 के रोजाना 3.5 लाख नए मामले आ रहे हैं. हालांकि, पिछले कुछ दिनों में पहले के मुकाबले हालात में कुछ सुधार देखा जा रहा है. महाराष्ट्र कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों में से एक है. राज्य में कोरोना के मामलों में धीरे-धीरे गिरावट देखने को मिल रही है. नए मामले 50 हजार से नीचे आ गए हैं. दिल्ली और उत्तर प्रदेश में भी संक्रमण के मामलों में कमी देखने को मिल रही है. इस बीच, विभिन्न राज्य कोरोना वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) की कमी का मुद्दा उठा रहे हैं. वैक्सीन के मोर्चे पर आगामी दिनों में कुछ राहत मिलने की उम्मीद है. केंद्र ने कहा कि रूस की स्पुतनिक-वी वैक्सीन अगले सप्ताह तक उपलब्ध होने की उम्मीद है. 

गांव की तरफ रुख करता खतरनाक कोरोना वायरस, UP और बिहार की नदियों में दिखे शव, 10 बातें

गांव की तरफ रुख करता खतरनाक कोरोना वायरस, UP और बिहार की नदियों में दिखे शव, 10 बातें

,

कोरोना के प्रकोप के आगे अब सारी व्यवस्थाएं बौनी लगने लगी हैं, स्वास्थ्य सुविधाएं वेंटिलेटर पर हैं तो मानवीय संवेदनाओं ने भी मानों मास्क लगा लिया हो. तमाम प्रयासों के बाद स्थिति नियंत्रण में नहीं मालूम पड़ रही है. उत्तर प्रदेश और बिहार में शव अब श्मशानों के बजायों नदियों में तैरते दिख रहे हैं. हालांकि वैक्सीनेशन अभियान में हम तेजी से चल रहे हैं लेकिन अभी भी बड़ी आबादी इस टीके की खुराक से मरहूम है, कई राज्यों में इसकी कमी लगातार बनी हुई है. वहीं सबसे चिंता जनक बात ये है कि अब इस खतरनाक वायरस ने गांवों की तरफ अपना रुख किया है, जहां स्वास्थ्य सुविधाओं की बात ही बेमानी लगती है. लगातार चार दिन कोरोना वायरस संक्रमण के चार लाख से अधिक नए मामले सामने आने के बाद भारत में सोमवार को एक दिन में कोविड-19 के 3,66,161 मामले सामने आए और इसी के साथ देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 2,26,62,575 हो गए हैं.

'ब्लैक फंगस' कोरोना मरीजों की आंखों की रोशनी छीन रहा, जानिए बीमारी की 10 बड़ी बातें

'ब्लैक फंगस' कोरोना मरीजों की आंखों की रोशनी छीन रहा, जानिए बीमारी की 10 बड़ी बातें

,

इस बीमारी में में कुछ गंभीर मरीजों की जान बचाने के लिए उनकी आंखें निकालनी पड़ती है. इस बीमारी को‘ब्लैक फंगस' (Black Fungus)  या म्यूकोरमाइकोसिस (Mucomycosis)कहते हैं, जो नाक से शुरू होती है, आंखों से लेकर दिमाग तक फैल जाती है. मुंबई में बीएमसी के बड़े अस्पताल ‘सायन' में डेढ़ महीने में ब्लैक फंगस के 30 मरीज मिले हैं. इनमें 6 की मौत हुई है और 11 मरीजों की एक आंख निकालनी पड़ी. 

कोरोना की बेलगाम रफ्तार का खौफ! कई राज्यों में लॉकडाउन या कड़ी पाबंदियों का ऐलान, 10 बड़ी बातें

कोरोना की बेलगाम रफ्तार का खौफ! कई राज्यों में लॉकडाउन या कड़ी पाबंदियों का ऐलान, 10 बड़ी बातें

,

भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) के नए मामलों और महामारी से हो रही मौतों के आंकड़े में कमी आते हुए नहीं दिख रही है. महाराष्ट्र में शुक्रवार को 54,000 से ज्यादा मामले दर्ज किए. इस दौरान, बीते 24 घंटे में करीब 900 लोगों की घातक वायरस की वजह से जान चली गई. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी कोरोना से हाल बेहाल है. दिल्ली में कोविड-19 के 19,832 नए मामले आए जबकि 341 मरीजों की मौत हुई. कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए कर्नाटक, केरल समेत कई राज्य लॉकडाउन (Lockdown) जैसे सख्त कदम उठाने के लिए मजबूर हुए. 

तमाम पाबंदियों के बावजूद भारत में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, जानें राज्यों की स्थिति; 10 खास बातें

तमाम पाबंदियों के बावजूद भारत में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, जानें राज्यों की स्थिति; 10 खास बातें

,

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के नए मामलों में तेजी थमने का नाम नहीं ले रही है. गुरुवार को एक बार फिर चार लाख से अधिक नए केस दर्ज किए गए. कोरोना की दूसरी लहर में कोविड-19 मामलों में उछाल से प्रशासन की चिंताएं बढ़ गई हैं. राज्यों द्वारा तमाम पाबंदिया लगाए जाने के बावजूद भी संक्रमण के मामलों में कमी आते नहीं दिख रही है. इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चार राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कोरोना हालातों पर चर्चा की. प्रधानमंत्री ने वैक्सीनेशन बढ़ाने पर जोर दिया है. 

ऑक्‍सीजन संकट: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, 'दिल्ली में ऑक्सीजन की दहशत नहीं होनी चाहिए', 10 खास बातें

ऑक्‍सीजन संकट: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, 'दिल्ली में ऑक्सीजन की दहशत नहीं होनी चाहिए', 10 खास बातें

,

ऑक्सीजन मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में गुरुवार को भी सुनवाई हुई. इस दौरान SC ने केंद्र सरकार के ऑक्सीज़न के बफर स्टॉक को लेकर सवाल उठाया. अदालत ने कहा कि ज़्यादातर अस्पताल SOS कॉल दे रहे हैं कि उनके यहां एक घंटे या दो घण्टे की ऑक्सीज़न बची हुई है. ऑक्सीज़न के बफर स्टॉक को सुनिश्चित किया जाना चाहिए.पिछले आदेश में सुप्रीम कोर्ट ने बफर स्टॉक बनाने को कहा था उसको लेकर केंद्र सरकार ने क्या किया.

केंद्र ने कहा, 'तीसरी लहर टाली नहीं जा सकती', भारत में कोरोना के हालात से संबंधित 10 बातें

केंद्र ने कहा, 'तीसरी लहर टाली नहीं जा सकती', भारत में कोरोना के हालात से संबंधित 10 बातें

,

'देश में कोरोना की तीसरी लहर को टाला नहीं जा सकता.' सरकार के वैज्ञानिक सलाहकार ने बुधवार को यह चेतावनी जारी की है. डॉ. के विजय राघवन ने ब्रीफिंग के दौरान कहा कि नए स्‍ट्रेन का मुकाबला करने के लिए वैक्‍सीन की अपडेट करने की जरूरत होगी, इसके साथ ही टीकाकरण कार्यक्रम को गति भी देनी होगी. गौरतलब है कि भारत इस समय कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहा है.

2 करोड़ से ज्यादा हुए कोरोना के कुल संक्रमित, महाराष्ट्र में मामूली राहत, दिल्ली में रिकॉर्ड मौतें ; 10 बातें

2 करोड़ से ज्यादा हुए कोरोना के कुल संक्रमित, महाराष्ट्र में मामूली राहत, दिल्ली में रिकॉर्ड मौतें ; 10 बातें

,

भारत में कोविड-19 के मामले दो करोड़ का आंकड़ा पार कर गए हैं और महज 15 दिनों में संक्रमण के 50 लाख से अधिक मामले आए हैं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, कोरोना वायरस के एक दिन में 3,57,229 नए मामले आने से संक्रमण के मामले बढ़कर 2,02,82,833 पर पहुंच गए जबकि 3,449 और लोगों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या 2,22,408 पर पहुंच गई है. भारत में कोविड-19 के मामले 19 दिसंबर को एक करोड़ का आंकड़ा पार कर गए थे जिसके 107 दिन बाद पांच अप्रैल को संक्रमण के मामले 1.25 करोड़ पर पहुंच गए। हालांकि महामारी के मामलों को 1.50 करोड़ का आंकड़ा पार करने में महज 15 दिन लगे. सुबह आठ बजे तक उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 34,47,133 हो गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 17 प्रतिशत है। कोविड-19 से स्वस्थ होने वाले लोगों की दर 81.91 प्रतिशत है.

विधानसभा चुनाव 2021: खत्म हो गई चुनावों की गहमागहमी, नतीजों पर डालते हैं एक नजर

विधानसभा चुनाव 2021: खत्म हो गई चुनावों की गहमागहमी, नतीजों पर डालते हैं एक नजर

,

आखिरकार देश में महीनों से चल रही चुनावी गहमागहमी रविवार को थम गई. देश के चार राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश- पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुदुच्चेरी में रविवार को विधानसभा चुनावों के नतीजे आ गए. लगभग दो महीनों से इन राज्यों में चुनाव चल रहे थे, वो भी तब जब देश कोरोनावायरस की दूसरी लहर की चपेट में जकड़ा हुआ है. चुनावों को इतने लंबी अवधि तक कराने के फैसले को लेकर चुनाव आयोग की आलोचना भी हुई थी, खासकर तब जब देश में कोरोना के मामले भयंकर तेजी से बढ़ने लगे और पश्चिम बंगाल में आखिरी के कुछ चरणों के चुनावों को एक साथ कराने की मांग उठने लगी थी. खैर, मतदान आयोग के शेड्यूल के हिसाब से ही हुए और कल नतीजे आ गए. सबसे ज्यादा नजरें पश्चिम बंगाल पर टिकी थीं, जहां ममता बनर्जी ने बहुत बड़े मार्जिन से जीत हासिल कर अपनी कुर्सी बनाए रखी है. वहीं, असम में बीजेपी ने वापसी की है. तमिलनाडु में दशकों बाद डीएमके को मौका मिला है, वहीं केरल में पहली बार ऐसा हुआ है कि कोई सत्तारूढ़ पार्टी सत्ता में बनी रही है. पिनरई विजयन की एलडीएफ ने अपनी सत्ता बनाए रखी है. पुदुच्चेरी में NR कांग्रेस को जीत मिली है, बीजेपी और एआईडीएमके उनके साथ गठबंधन में हैं.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com