'Assembly elections 2018'

- more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | Edited by: आनंद नायक |रविवार मई 2, 2021 06:43 PM IST
    मध्‍य प्रदेश की दमोह विधानसभा सीट के परिणाम भी बीजेपी के लिए लिहाज से अहम हैं. राज्‍य के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित उनकी पूरी कैबिनेट राहुल लोधी के प्रचार के लिए दमोह में डेरा डाले रही थी. राहुल लोधी विधानसभा चुनाव 2018 में कांग्रेस प्रत्‍याशी के रूप में चुनाव जीते थे, बाद में वे इस्‍तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए.
  • Blogs | प्रमोद कुमार प्रवीण |बुधवार अप्रैल 14, 2021 08:27 AM IST
    यह पहली बार नहीं है, जब वोटिंग के वक्त प्रधानमंत्री किसी मंदिर में गए हों. 2018 में कर्नाटक विधान सभा चुनाव के दिन पीएम नेपाल के सीता मंदिर पहुंचे हुए थे. इसी तरह 2019 में लोकसभा चुनाव के वक्त वह केदारनाथ की गुफा में ध्यान लगा रहे थे. इस बार वह बांग्लादेश के मंदिरों में पूजा करेंगे.
  • India | Edited by: राहुल सिंह |रविवार मार्च 14, 2021 10:11 PM IST
    NDA सरकार में कई अहम मंत्रालय संभाल चुके यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) ने तृणमूल कांग्रेस (TMC) के साथ अपनी नई सियासी पारी का ऐलान किया. शनिवार को उन्होंने TMC की सदस्यता ली. इसके बाद सिन्हा ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की. TMC में शामिल होने की वजह बताते हुए सिन्हा ने कहा, 'मैंने अप्रैल 2018 में BJP से इस्तीफा दिया था. उसके लगभग तीन साल पूरे हो गए हैं. मेरा कूलिंग ऑफ पीरियड पूरा हो गया था लेकिन BJP से इस्तीफा देने के बाद मैंने सोचा था कि अब दलगत राजनीति में नहीं आऊंगा लेकिन परिस्थितियां बदल गईं. 2018 के मुकाबले आज की परिस्थितियां ज्यादा खतरनाक हैं, इसलिए मुझे लगा कि मुझे वापस दलगत राजनीति में लौटना चाहिए.'
  • India | Reported by: विष्णु सोम, Edited by: प्रमोद कुमार प्रवीण |रविवार मार्च 14, 2021 11:58 PM IST
    West Bengal Assembly Polls: 2018 में बीजेपी छोड़ने वाले यशवंत सिन्हा ने ऐसे वक्त तृणमूल कांग्रेस का हाथ थामा है, जब कुछ दिनों बाद राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होनी है. इससे पहले कुछ महीनों से टीएमसी से लगातार विधायकों और कई बड़े नेताओं का निकलना और बीजेपी में शामिल होना जारी था.
  • India | Written by: अमरीश कुमार त्रिवेदी |शुक्रवार फ़रवरी 26, 2021 06:55 PM IST
    Sunil Arora ने 2 दिसंबर 2018 को मुख्य चुनाव आयुक्त की जिम्मेदारी संभाली. 2019 के लोकसभा चुनाव के साथ ही कोरोना काल में बिहार का चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न कराने का श्रेय भी उन्हीं को जाता है.
  • India | Written by: अमरीश कुमार त्रिवेदी |शुक्रवार फ़रवरी 26, 2021 04:33 PM IST
    Tamil Nadu Assembly Election Results 2016 :जयललिता का 2016 और करुणानिधि का 2018 में निधन हो चुका है. देखना होगा कि क्या मुख्यमंत्री बने पलानीसामी और डिप्टी सीएम ओ पनीरसेल्वम में यह माद्दा है कि वह एआईएडीएमकेको लगातार तीसरा चुनाव जिता पाएं.क्या एमके स्टालिन एआईएडीएमके का विजयी रथ रोक पाएंगे
  • India | Edited by: सिद्धार्थ चौरसिया |सोमवार फ़रवरी 15, 2021 08:12 AM IST
    बिप्लब देब ने 2018 की बातचीत के आधार पर दावा किया कि, “हम अतिथिगृह में बात कर रहे थे तब अजय जम्वाल (भाजपा के उत्तर-पूर्व जोनल सचिव) ने कहा कि भाजपा ने कई राज्यों में अपनी सरकार बनाई. जवाब में अमित शाह ने कहा कि अभी श्रीलंका और नेपाल बाकी है. हमें पार्टी का विस्तार करना है. हमें श्रीलंका और नेपाल में सरकार बनाने के लिए पार्टी का विस्तार करना है.”
  • India | Reported by: भाषा |सोमवार नवम्बर 9, 2020 11:33 AM IST
    चुनाव आयोग ने सितंबर में नियम बनाया था कि उम्मीदवारों की आपराधिक पृष्ठभूमि के बारे में चुनाव प्रचार के दौरान जानकारी देना अनिवार्य है. आयोग ने अक्टूबर 2018 में निर्देश जारी कर अनिवार्य किया था कि उम्मीदवार और दल चुनाव प्रचार के दौरान टीवी और अखबारों में कम से कम तीन बार प्रचार कर आपराधिक इतिहास के बारे में जानकारी दें.
  • India | Written by: Samarjeet Singh |सोमवार दिसम्बर 23, 2019 10:30 PM IST
    राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने और बाद में सोनिया गांधी को पार्टी का कमान देने का साफ तौर पर असर विधानसभा चुनाव के परिणामों में दिखा. पार्टी ने 2018 और 2019 के बीच पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में BJP को सत्ता से बेदखल कर दिया.
  • India | Edited by: मानस मिश्रा |शनिवार अक्टूबर 26, 2019 08:20 AM IST
    हरियाणा में दुष्यंत चौटाला नए नेता के तौर पर उभरे हैं. सवाल है कि देवीलाल की विरासत का असली वारिस कौन है? मौजूदा चुनाव में INLD का जो हाल हुआ है और जननायक जनता पार्टी (JJP) जिस तरह नई ताक़त बन कर उभरी है, उसे देखते हुए माना जा रहा है कि देवीलाल की विरासत उन्हीं के हाथ में है. इस पूरी राजनीति में जेजेपी एक नई ताक़त और दुष्यंत चौटाला एक नए नेता के तौर पर उभरे हैं। ये साफ हो गया कि अब देवीलाल की विरासत उनके हाथ में है. शुक्रवार सुबह दुष्यंत चौटाला को विधायकों ने अपना नेता चुना. इसके बाद दुष्यंत तिहाड़ में बंद अपने पिता अजय चौटाला से मिले. दुष्यंत इसके पहले आइएनएलडी के टिकट पर ही हिसार से सांसद रह चुके हैं. लेकिन 2018 की टूट के बाद उन्होंने जननायक जनता पार्टी का गठन किया. वो जमीनी नेता माने जाते हैं जिनका लोगों और कार्यकर्ताओं से सीधा संपर्क है. दुष्यंत की पार्टी को 15 फ़ीसदी वोट मिले हैं, जिनमें बड़ी तादाद में युवाओं के वोट शामिल माने जा रहे हैं. हालांकि हरियाणा की मौजूदा राजनीति में 10 विधायकों के साथ अपना पहला क़दम तय करना दुष्यंत के लिए आसान नहीं है. जेजेपी के समर्थन के बाद हरियाणा की विधानसभा में बीजेपी गठबंधन के पास कुल 59 सीटें हो जाएंगी जो कि बहुमत से कहीं ज्यादा है.
और पढ़ें »
'Assembly elections 2018' - 201 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
'Assembly elections 2018' - 17 फोटो रिजल्ट्स
और देखें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com