महाराष्ट्र के सतारा में रोका गया कोरोना टीकाकरण, राज्य में बची है सिर्फ 3 दिन की खुराक

महाराष्ट्र के सतारा (Covid-19 Vaccination in Satara) में बुधवार रात से कोरोना टीकाकरण (Coronavirus Vaccine Drive in Maharashtra) का कार्य रोक दिया गया है.

खास बातें

  • महाराष्ट्र के सतारा में टीकाकरण का काम रोका
  • महाराष्ट्र के पास तीन दिन का वैक्सीन स्टॉक
  • राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र सरकार से की अपील
सतारा:

महाराष्ट्र के सतारा (Satara Covid-19 Vaccine) में बुधवार रात से कोरोना टीकाकरण (Coronavirus Vaccine Drive) का कार्य रोक दिया गया है. जिला प्रशासन ने जिले में कोरोना वैक्सीन की खुराक खत्म होने का हवाला दिया है. सतारा जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विनय गौड़ा ने इसकी जानकारी दी. जिले में 45 साल से अधिक उम्र के 2.6 लाख लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने कहा कि प्रदेश में अगले तीन दिनों में कोरोना की वैक्सीन खत्म हो जाएगी. उन्होंने केंद्र सरकार से मदद की गुहार लगाई है.

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने NDTV से बातचीत में कहा, 'प्रदेश में कोरोना वैक्सीन का केवल तीन दिन का स्टॉक बचा है. हमने केंद्र सरकार से गुजारिश की है कि जल्द वैक्सीन भेजें. राज्य में हर रोज कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. मुंबई में भी तीन दिन का स्टॉक बचा है.'

केंद्र सरकार की दोटूक, 'हर आयु वर्ग के लिए वैक्‍सीनेशन फिलहाल नहीं'

उन्होंने आगे कहा, 'आज की तारीख में 14 लाख डोज उपलब्ध हैं, जिसका मतलब है कि यह बस तीन दिनों का स्टॉक है. तो अगर हम हर दिन पांच लाख वैक्सीन डोज देते हैं तो हमें हर हफ्ते 40 लाख डोज की जरूरत पड़ेगी.' राजेश टोपे ने बताया कि उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन से कहा, 'हमारे कई टीकाकरण केंद्रों पर वैक्सीन नहीं है, जिसके चलते उन्हें बंद करना पड़ा है. डोज नहीं है तो वो लोगों को वापस भेज रहे हैं. मैं आपसे कह रहा हूं कि हमें वैक्सीन सप्लाई करें.'

केंद्र सरकार ने राज्यों से कहा- हर कोरोना पॉजिटिव शख्स के संपर्क में आए 25-30 लोगों का पता लगाएं

शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने भी डॉक्टर हर्षवर्धन को लिखे पत्र में राज्य में कोरोना वैक्सीन की खुराक की कमी का जिक्र किया है. वहीं कोरोना का टीका न मिलने के आरोपों पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि यह कुछ राज्यों का निंदनीय प्रयास है, जो कोरोना की महामारी पर काबू पाने में अपनी नाकामी से ध्यान भटकाने और लोगों के बीच डर पैदा करने के लिए ऐसे बयान दे रहे हैं.

महाराष्ट्र में कोविड-19 टीकाकरण पर केंद्रीय मंत्री और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के बीच जुबानी जंग

महाराष्ट्र में कोरोना वैक्सीन की किल्लत के सवाल पर डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि उन्होंने ऐसे कुछ राज्य सरकारों के गैरजिम्मेदाराना बयान देखे हैं, जो जनता के बीच भ्रम पैदा करने के साथ घबराहट का माहौल पैदा कर सकते हैं. वहीं महाराष्ट्र से ताल्लुक रखने वाले केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि उद्धव सरकार को वैक्सीन के मामले में राजनीति नहीं करनी चाहिए. उन्होंने ट्वीट कर वैक्सीन की उपलब्धता के आंकड़े भी जाहिर किए.

Corona Vaccine Wastage Rate के मामले में तेलंगाना ने PM नरेंद्र मोदी को दी चुनौती, किया यह दावा..


बताते चलें कि महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में कोरोना के करीब 60 हजार नए मरीज मिले हैं. बुधवार शाम जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में कोविड के 59,907 नए मामले सामने आए हैं. इस दौरान 322 लोगों की मौत हुई है. महाराष्ट्र में कोरोना के कुल मामले 31 लाख 73 हजार का आंकड़ा पार कर गए हैं, जबकि कुल मौतों की तादाद भी 56,652 तक पहुंच गई है. महाराष्ट्र में नाइट कर्फ्यू और वीकेंड लॉकडाउन का ऐलान पहले ही हो चुका है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: महाराष्ट्र में कोरोना हुआ बेकाबू, इन जिलों में सबसे ज्यादा केस