केंद्र सरकार की दोटूक, 'हर आयु वर्ग के लिए वैक्‍सीनेशन फिलहाल नहीं'

भूषण ने कहा कि यूके में आज भी टीका सबके लिए नहीं खोला गया है. अमेरिका में भी उम्र के हिसाब से टीका दिया गया है. फ्रांस में भी कहा गया कि 50 साल से ऊपर के लोग जो रिस्क में है उन्हें टीका दिया जाएगा.

केंद्र सरकार की दोटूक, 'हर आयु वर्ग के लिए वैक्‍सीनेशन फिलहाल नहीं'

स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी को टीका देने की मांग पर दिया जवाब.

नई दिल्ली:

देशभर में कोरोना (India Coronavirus Updates) के बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय (Health ministry) ने सभी को टीका देने की मांग पर जवाब दिया है. मंगलवार को आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषणHealth Secretary Rajesh Bhushan) ने कहा कि विश्व में भी बहुत विचार विमर्श हुआ है तो जब भी टीकाकरण (Vaccination) होता है तो उसका पहला उद्देश्य मौत से लोगों को बचाना होता है और दूसरा हेल्थकेयर सिस्टम को दुरुस्त करना होता है. भारत, अमेरिका, ब्रिटेन सभी देश में यही दो उद्देश्य से टीका दिया जा रहा है. जिसको जरूरत है उसे टिका दिया जाता है. भूषण ने कहा कि यूके में आज भी टीका सबके लिए नहीं खोला गया है. अमेरिका में भी उम्र के हिसाब से टीका दिया गया है. फ्रांस में भी कहा गया कि 50 साल से ऊपर के लोग जो रिस्क में है उन्हें टीका दिया जाएगा.

दिल्ली में 30 अप्रैल तक रात 10 से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा नाइट कर्फ्यू

अन्य देशों की बात करें तो स्वीडन में 65 साल से ऊपर के लोगों को दिया जा रहा है. आस्ट्रेलिया में 70 साल से ऊपर के लोगों को दिया जा रहा है और कुछ दूसरी कटेगरी भी हैं जिन्हें दिया जा रहा है. भूषण ने कहा कि बिना योजनाबद्ध के टीका नहीं दिया जाता है. वहीं, कोरोना की रफ्तार पर नीति आयोग के सदस्य, वीके पॉल ने कहा कि इस बार कोरोना की स्पीड पिछली बार से ज्यादा है तो बचकर रहना है. असाधारण स्थिति उत्पन्न हो रही है और अगले 4 हफ्ते बहुत-बहुत क्रिटिकल है. 

वहीं, देशभर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने 45 वर्ष या उससे अध‍िक के अपने सभी कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने की सलाह दी है कि कोरोना के प्रसार को रोकने में मदद मिल सके. साथ ही सरकार ने कहा है कि वैक्सीन लगवाने के बाद भी कोरोना से बचने के उपयों, जैसे मास्क लगाना, हाथ धोना और दो गज की दूरी बनाए रखना, इनका पालन करते रहना होगा. 

कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि कर्मचारियों को टीकाकरण के बाद भी कोविड-19 से बचाव के दिशा निर्देशों का पालन करने का सुझाव दिया गया है, जिसमें लगातार हाथ धोना, सेनेटाइजेशन, मास्क या फेस कवर पहनना और सामाजिक दूरी शामिल हैं.

भारत में कोरोनावायरस केस : नए COVID-19 केसों में 6 प्रतिशत कमी, पिछले 24 घंटे में दर्ज हुए 96,982 मामले

इसमें कहा गया है कि सरकार स्थिति की गहरी निगरानी कर रही है और कोविड-19 के प्रसार की रोकथाम के दृष्टिगत टीकाकरण के लिए समूहों को प्राथमिकता देने के वास्ते अपनाई गई रणनीति के आधार पर 45 साल या उससे अधिक उम्र के सभी व्यक्ति टीकाकरण अभियान में हिस्सा ले सकते हैं.

केंद्र सरकार के सभी विभागों एवं मंत्रालयों को जारी इस आदेश में कहा गया है, ‘‘उपरोक्त के मद्देनजर, 45 साल या उससे अधिक उम्र के सभी केंद्रीय कर्मचारियों को सुझाव दिया जाता है कि संक्रमण के प्रसार पर प्रभावी रोक लगाने के लिये वह टीकाकरण करवायें.'' देश में पिछले कुछ हफ्तों में कोरोना वायरस संक्रमण की चिंताजनक होती स्थिति के बीच यह आदेश आया है.

गौरतलब है कि देश में कोरोना के मामलों में हो रहे इजाफे के बीच सरकार का प्रयास टीकाकारण कार्यक्रम को गति देने का है. भारत में कोरोना का प्रकोप जारी है. मंगलवार को देश में एक बार फिर कोरोना संक्रमण के 96,982 नए मामले सामने आए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में देश में 96982 मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 12686049 हो गई है. वहीं इस दौरान 446 लोगों की मौत हुई है. मृतकों की संख्या बढ़कर 1,65,547 हो गई है. पिछले 24 घंटों में देश में एक्टिव मरीजों की संख्या में 46,393 का इजाफा हुआ है, देश में इस वक्त उपचारधीन मरीजों की संख्या 788,223 हो गई है जोकि कुल मामलों का 6.21 फीसदी है.

Video : कोरोना मामलों में उछाल का असर, पुणे के अस्पताल में वेटिंग एरिया में लगे बेड


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com