विज्ञापन
Story ProgressBack

Explainer: बासी खाने से क्या होता है, कैसे पता चलेगा वो खाने लायक है, कितना बासी खाना है ठीक, बचे हुए खाने को दोबारा गर्म कर खाने से पहले जानें ये जरूरी बातें

बचा हुआ या बासी फूड आइटम खाना पैसे बचाने और भोजन की बर्बादी को कम करने का एक शानदार तरीका हो सकता है, लेकिन बचा हुआ खाना जोखिम भरा भी हो सकता है.

Read Time: 8 mins
Explainer: बासी खाने से क्या होता है, कैसे पता चलेगा वो खाने लायक है, कितना बासी खाना है ठीक, बचे हुए खाने को दोबारा गर्म कर खाने से पहले जानें ये जरूरी बातें
कितना सुरक्षित है बासी फूड आइटम्स को खाना? जानिए

Leftover Food: भागदौड़ और आपाधापी से भरी मौजूदा जिंदगी में ज्यादातर लोगों को तसल्ली से भोजन बनाने और ताजा खाना खाने का भी पर्याप्त समय नहीं मिल पाता. लोग कई बार बचा हुआ खाना स्टोर कर लेते हैं और बाद में उसे गर्म कर खा लेते हैं. बचा हुआ या बासी फूड आइटम खाना पैसे बचाने और भोजन की बर्बादी को कम करने का एक शानदार तरीका हो सकता है, लेकिन बचा हुआ खाना जोखिम भरा भी हो सकता है. क्योंकि ये फुड आइटम्स पहले से ही पर्यावरण में बैक्टीरिया के संपर्क में आ चुके होते हैं.

अगर आपने बचे हुए खाने को सही ढंग से स्टोर नहीं किया है और दोबारा गर्म नहीं किया है, तो आप अपने आप को कई बार जानलेवा फूड प्वाइजनिंग की आशंकाओं के जोखिम में डाल सकते हैं. हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि आपको बचे हुए खाने से परहेज करना शुरू कर देना चाहिए, लेकिन हां, बासी खाने को लेकर सावधानी जरूर बरतनी चाहिए.

यह भी पढ़ें: बासी रोटी खाने से क्या होता है? क्या आप बासी रोटी फेंक देते हैं? जानिए बासी रोटियां खाने के फायदे और नुकसान

कितना सुरक्षित है बासी फूड आइटम्स को खाना? जानिए

फूड सेफ्टी के सही तरीकों को अपनाकर आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि बासी खाना खाने से होने वाले नुकसान न हो सके. इसके लिए आपको फूड और न्यूट्रिशन एक्सपर्ट के बताए हुए कुछ फैक्ट्स और सेफ्टी टिप्स के बारे में जानना होगा. आइए, इनमें से कुछ अहम नुस्खों के बारे में जानते हैं.

बचे हुए भोजन को कितनी जल्दी रेफ्रिजरेटर में रख दिया जाना चाहिए? (How quickly should leftovers be refrigerated or frozen?)

बैक्टीरिया हमारी दुनिया में हर जगह मौजूद हैं, जिनमें रसोई और उनके भीतर के फूड आइट्म्स भी शामिल हैं. भोजन को खराब करने वाले बैक्टीरिया सही पोषक तत्वों, नमी और तापमान के साथ तेजी से बढ़ सकते हैं. कुछ की संख्या तो 20 मिनट में ही दोगुनी हो जाती है. यह बेहद महत्वपूर्ण फैक्ट है कि कोई भी बचा हुआ खाना जितनी जल्दी हो सके और ज्यादा से ज्यादा दो घंटे के भीतर फ्रिज या फ्रीजर में डाल दिया जाए. आपके फ्रिज को 0 और 5°C के बीच के तापमान पर रखा जाना चाहिए. क्योंकि यह बचे हुए भोजन में फूड प्वाइजनिंग बैक्टीरिया के बढ़ने से रोकता है.

बाहरी तापमान पर रखे भोजन में बैक्टीरिया काफी तेजी से बढ़ सकते हैं (How long are refrigerated leftovers safe to eat?)

फ्रिज में नहीं रखा गया तो बाहरी तापमान पर भोजन में बैक्टीरिया काफी तेजी से बढ़ सकते हैं. इसका मतलब है कि बचा हुआ खाना 5 डिग्री सेल्सियस से अधिक पर ज्यादा समय तक रहने से खाने के लिए कम सुरक्षित हो जाता है. आपको यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि बचा हुआ खाना फ्रिज में ढका हुआ हो. क्लिंगफिल्म और एयरटाइट ढक्कन हवा को भोजन तक पहुंचने से रोकने में मदद करते हैं. यह जरूरी है, क्योंकि अधिकतर रोग पैदा करने वाले बैक्टीरिया को बढ़ने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत होती है.

इसे भी पढ़ें : बच्चों के फेफड़ों को करना है मजबूत, तो इन दो चीजों पर दें ध्यान, बेहतर होगी Lung Function Growth, स्टडी में खुलासा

बचे हुए यानी बासी भोजन को कितने समय में खा लेना चाहिए? (How long are refrigerated leftovers safe to eat?)

मेडिकल प्रोफेशनल्स के मुताबिक, बचा हुआ खाना दो दिनों के भीतर खा लेना चाहिए. नहीं तो हानिकारक बैक्टीरिया को पनपने का अधिक समय मिल जाता है. दरअसल, लिस्टेरिया जैसे रोगजनक, जो फ्लू जैसे लक्षण पैदा कर सकते हैं, फ्रिज के टेम्परेचर में भी बढ़ सकते हैं और दो दिनों से अधिक होने पर बढ़ने की अधिक संभावना होती है.  अगर आपको नहीं लगता कि आप उस समय सीमा के भीतर अपना बचा हुआ खाना खा लेंगे, तो उन्हें डीप फ्रिज करने पर विचार करें. क्योंकि बचे हुए खाने को -18°C पर फ्रीज कर तीन महीने तक रखा जा सकता है.

बासी खाने को दोबारा गर्म करने का सबसे सेफ तरीका क्या है? (What is the safest way to re-heat your leftovers?)

बासी या बचे हुए खाने को दोबारा गर्म करते पूरी तरह गर्म करना चाहिए. अगर ऐसा नहीं है तो इसे न खाएं. बचे हुए खाद्य पदार्थों को कम से कम 165°F (74°C) के आंतरिक तापमान पर दोबारा गर्म किया जाना चाहिए. सॉस, स्ट्यू, सूप और ग्रेवी के लिए, उन्हें कम से कम तीन मिनट तक हिलाते हुए पूरी तरह उबालना सबसे अच्छा है. ये एक्सरसाइज ज्यादातर बैक्टीरिया को मार देगी और मौजूदा गर्मी किसी भी संवेदनशील बैक्टीरिया टॉक्सिन को न्यूट्रल कर देगी.

अगर ओवन में बचा हुआ खाना दोबारा गर्म कर रहे हैं, तो ओवन का तापमान कम से कम 325°F (163°C या गैस मार्क 3) पर सेट करें और भोजन को कम से कम 74°C तक पूरी तरह गर्म करने के लिए पर्याप्त समय तक बेक करें. अगर आप बचे हुए भोजन को माइक्रोवेव में दोबारा गर्म कर रहे हैं, तो आपको यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि खाने से पहले उनका आंतरिक तापमान 74°C तक पहुंच जाए.

इसे भी पढ़ें : सुबह खाली पेट उबालकर पी लें अमरूद के पत्ते, सेहत को मिलेंगे कई फायदे, जानें अमरूद की पत्तियों के फायदे और नुकसान

धीमी कुकर का उपयोग करके भोजन को दोबारा गर्म करना एक अच्छा विचार नहीं है. क्योंकि अगर भोजन कई घंटों तक 165°F से कम तापमान पर रहता है, तो इससे बैक्टीरिया का विकास हो सकता है और फूड प्वाइजनिंग का खतरा बढ़ जाता है.

क्या बचे हुए भोजन को एक से अधिक बार गर्म कर सकते हैं? (Can you reheat leftovers more than once?)

आपको वास्तव में बचे हुए भोजन को एक से अधिक बार गर्म नहीं करना चाहिए. हर बार जब कोई भोजन गर्म और ठंडा होता है, तो यह किसी भी हानिकारक बैक्टीरिया को फिर से पनपने के लिए सही तापमान और जरूरी समय मुहैया कराता है. इसके बाद अगली बार जब आप बचे हुए भोजन को गर्म करेंगे तो गर्मी के लिए मौजूद सभी बैक्टीरिया को मारना मुश्किल हो जाएगा. अगर आपको नहीं लगता कि आप दो दिनों के भीतर अपना सारा बचा हुआ खाना खा लेंगे, तो उन्हें फ्रिज करने पर विचार करें.

क्या आप टेकअवे फूड को दोबारा गर्म कर सकते हैं? (Can you reheat a takeaway?)

आप टेकअवे फूड आइटम्स को सुरक्षित रूप से दोबारा गर्म कर सकते हैं या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपने इसे कैसे स्टोर किया है. अगर इसे आपकी कार के पीछे गर्म रखा गया था या आपके घर में कमरे के तापमान पर दो घंटे से अधिक समय तक छोड़ दिया गया था, तो भोजन में फूड प्वाइजनिंग का खतरा हो सकता है. खासकर अगर आप इसे पहले ही छू चुके हैं या आंशिक रूप से खा चुके हैं तो ज्यादा सावधान रहें.

इसे भी पढ़ें : इन तीन चीजों को बाद कभी ब्रश नहीं करने चाहिए दांत, Dentist ने बताया दांतों को कितनी बार ब्रश करना चाहिए कि मजबूत रहें दांत

अगर आपने भोजन को ज्यादा नहीं छुआ है और खरीदने के दो घंटे के भीतर इसे फ्रीज में स्टोर कर दिया है, तो टेकअवे को दोबारा गर्म करना सुरक्षित है. बशर्ते कि अगली बार जब इसे खाया जाए तो इसे पहले कम से कम 74 डिग्री सेल्सियस टेम्परेचर तक गर्म किया जाए.

पके हुए चावल को स्टोर करना सबसे ज्यादा जोखिम भरा काम

पके हुए चावल से बने फूड आइटम्स को स्टोर करने और दोबारा गर्म कर खाने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि यह सबसे ज्यादा जोखिम भरा होता है. कच्चे चावल में बैसिलस सेरेस बैक्टीरिया के बीजाणु हो सकते हैं. यह जानलेवा फूड प्वाइजनिंग का कारण बनता है. अगर खाना पकाने के दो से तीन घंटों के भीतर चावल को फ्रीजर में नहीं रखा जाता है, तो बीजाणु बैक्टीरिया में विकसित हो सकते हैं और चावल को टॉक्सिक बनाकर दस्त, पेट दर्द और उल्टी जैसे लक्षणों को जन्म देते हैं.

पके हुए चावल को बचाने की जरूरत है तो क्या करना चाहिए

पके हुए चावल को बाहर के तापमान पर जितनी अधिक देर तक रखा जाएगा, बैसिलस सेरेस उतना ही अधिक मौजूद होगा और हमारा डिश उतना ही अधिक असुरक्षित हो जाएगा. अगर पके हुए चावल को बचाने की जरूरत है, तो इसे पकने के बाद ढक देना चाहिए और जल्दी से (आदर्श रूप से 2 घंटे के भीतर) ठंडा करना चाहिए. फिर भी इसे 24 घंटे से ज्यादा समय तक स्टोर और फ्रिज नहीं किया जाना चाहिए. पके हुए चावल के बचे हुए हिस्से को दोबारा गर्म करने पर बहुत ज्यादा गर्म करना चाहिए. हालांकि, इसे कभी भी एक से अधिक बार गर्म नहीं करना चाहिए.

Author: Primrose Freestone, Senior Lecturer in Clinical Microbiology, University of Leicester)

This article is republished from The Conversation under a Creative Commons license. Read the original article.

Frequent urination Causes | ये 4 बीमारियां होने पर बार-बार आता है पेशाब

(अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
इस वजह से बढ़ रहे हैं युवाओं में बवासीर, फिस्टुला और फिशर के मामले बढ़े : डॉक्टर
Explainer: बासी खाने से क्या होता है, कैसे पता चलेगा वो खाने लायक है, कितना बासी खाना है ठीक, बचे हुए खाने को दोबारा गर्म कर खाने से पहले जानें ये जरूरी बातें
Natural Henna Hair Dye: चुकंदर, कॉफी, केसर से यूं बनाएं मेहंदी, नहीं बचेगा एक भी सफेद बाल, भूल जाओगे हर संडे मेहंदी लगाने का झंझट
Next Article
Natural Henna Hair Dye: चुकंदर, कॉफी, केसर से यूं बनाएं मेहंदी, नहीं बचेगा एक भी सफेद बाल, भूल जाओगे हर संडे मेहंदी लगाने का झंझट
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;