Benefits Of Tulsi Leaves: क्यों इस समय तुलसी का सेवन करना है सबसे ज्यादा फायदेमंद? यहां हैं 16 शानदार फायदे

Health Benefits Of Basil: तुलसी में लिनोलिक एसिड होता है जो त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है. तुलसी के पेस्ट के साथ-साथ पाउडर का उपयोग हर्बल और कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में लंबे समय से इसके शुद्धिकरण, डिटॉक्सिफाइंग और क्लींजिंग गुणों के लिए किया जाता है.

Benefits Of Tulsi Leaves: क्यों इस समय तुलसी का सेवन करना है सबसे ज्यादा फायदेमंद? यहां हैं 16 शानदार फायदे

Benefits Of Tulsi Leaves: तुलसी में लिनोलिक एसिड होता है जो त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है.

खास बातें

  • तुलसी में लिनोलिक एसिड होता है जो त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है
  • इम्यूनिटी को मजबूत करने के लिए तुलसी काफी फायदेमंद मानी जाती है.
  • बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण से लड़ने में तुलसी लाभकारी हो सकती है.

Tulsi Health Benefits In Hindi: यह सस्ती जड़ी बूटी कई स्वास्थ्य लाभों से भरी हुई है. तुलसी सेहत के लिए अत्यंत लाभकारी मानी जाती है. खासकर सबसे आम बीमारियों में से कुछ को दूर करने जैस- इम्यूनिटी को मजबूत करने के लिए तुलसी काफी फायदेमंद मानी जाती है. यह समस अपने इम्यून सिस्टम पर सबसे ज्यादा ध्यान देने का है. बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण से लड़ने और विभिन्न बालों और स्किन विकारों का उपचार करने में कमाल है. तुलसी के फायदे कई हैं. नियमित रूप से उपयोग किए जाने पर तुलसी के कुछ पत्ते स्वास्थ्य और लाइफस्टाइल से संबंधित समस्याओं को दूर करने में मदद कर सकते हैं. इसके इसेंशियल ऑयल का उपयोग बीमारियों का इलाज करने के लिए किया जाता है. तुलसी में पाए जाने वाले इसेंशियल तेल हमारे श्वसन तंत्र पर प्रभावी रूप से काम करते हैं. तुलसी एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होती है.

जो तनाव और डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर और इसी तरह की स्थितियों को कम करने में मदद करता है. तुलसी में लिनोलिक एसिड होता है जो त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है. तुलसी के पेस्ट के साथ-साथ पाउडर का उपयोग हर्बल और कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में लंबे समय से इसके शुद्धिकरण, डिटॉक्सिफाइंग और क्लींजिंग गुणों के लिए किया जाता है.

तुलसी कई समस्याओं के लिए एक बेहतरीन घरेलू उपचार है | Basil Is An Excellent Home Remedy For Many Health Problems

तुलसी को कई भारतीय घरेलू उपचारों में सबसे सामान्य और व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाता है. नियमित बुखार से लेकर कुछ बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण को तुलसी से ठीक करने में मदद मिल सकती है. तुलसी की पत्तियों से बनी हेल्दी हर्बल ड्रिंक आपकी इम्यूनिटी को बनाने में मदद कर सकती है, यह एक जीवाणुरोधी तत्व के रूप में कार्य करता है और डेंगू से उबरने में मदद करता है.

Mask Mistakes| Covid-19: मास्क पहनने का सही तरीका, लोग कर रहे ऐसी-ऐसी गलतियां!

1. यह एक डिटॉक्सीफाइंग, क्लीजिंग और शुद्ध करने वाले एजेंट के रूप में कार्य करता है.

2. इसलिए यह त्वचा के लिए अच्छा है - जब इसका सेवन किया जाता है या इसे स्किन पर लगाया जाता है.

3. यह त्वचा विकारों, खुजली और दाद जैसी समस्याओं के इलाज में भी प्रभावी है.

4. इसे चाय में बनाया जा सकता है या इसे कच्चा, पाउडर, पेस्ट या हर्बल सप्लीमेंट के रूप में लिया जा सकता है.

5. इसमें एंटीबायोटिक, एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-कार्सिनोजेनिक गुण होते हैं.

6. यह बुखार, सिरदर्द, गले में खराश, सर्दी, खांसी, फ्लू और सीने में जमाव से राहत दिलाने में मदद करता है.

7. यह क्रोनिक ब्रोंकाइटिस, अस्थमा वगैरह जैसी सांस की बीमारियों के इलाज में भी फायदेमंद माना जाता है.

8. तुलसी तनाव को दूर करने, इम्यूनिटी को मजबूत करने और उचित पाचन की सुविधा में मदद कर सकती है.

9. यह इसेंशियल ऑयल, विटामिन ए और सी के साथ भरी हुई है.

10. नियमित तुलसी का सेवन विभिन्न शारीरिक प्रक्रियाओं को संतुलित करने में भी मदद कर सकता है.

11. यह ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मददगार है इसलिए डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है.

12. यह शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को विनियमित करने में मदद करता है, जिससे किडनी की पथरी के विकास के जोखिम कम कर सकती है.

14. तुलसी मुक्त कणों के हानिकारक प्रभावों को दूर कर सकता है.

15. दंत स्वास्थ्य के लिए और स्वस्थ मसूड़ों के लिए बहुत अच्छा है.

16. हेपेटाइटिस, मलेरिया, तपेदिक, डेंगू और स्वाइन फ्लू जैसी स्थितियों के इलाज में भी फायदेमंद माना जाता है.

कैसे करें तुलसी का इस्तेमाल (How To Use Tulsi)

इसका सेवन कच्चा, इसे अपनी चाय में मिलाएं या इसमें से कढ़ा बना लें. तुलसी के सेवन के पारंपरिक तरीकों के अलावा, आप इसे अपने खाना पकाने में प्रयोग कर सकते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.