विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Feb 02, 2023

Mental Health: ब्रेन और बॉडी को चुस्त, तुरुस्त रखने के लिए बेस्ट हैं ये 6 योग आसान, तनाव से मिलेगी मुक्ति

Yoga For Better Health: यहां हम आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए सर्वोत्तम योग आसन शेयर कर रहे हैं.

Read Time: 6 mins
Mental Health: ब्रेन और बॉडी को चुस्त, तुरुस्त रखने के लिए बेस्ट हैं ये 6 योग आसान, तनाव से मिलेगी मुक्ति
Easy Yoga Poses: पश्चिमोत्तानासन हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार करता है.

Daily Yoga Asanas: योग वर्कआउट का एक रूप है जिसमें हार्ट और स्ट्रेन्थ ट्रेनिंग (Strength Training) शामिल है. जबकि कुछ योग स्टाइल शांति को प्रोत्साहित करती हैं अन्य विकल्प फास्ट फेज योग सीक्वेंस प्रदान करते हैं. ज्यादातर वेरिएंट में योग मुद्रा और श्वास अभ्यास दोनों शामिल हैं.

योग के आपके शारीरिक और भावनात्मक स्वास्थ्य के लिए कई फायदे हैं. स्टेमिना एंड फ्लेसिबिलिटी को बढ़ाने के लिए योग (Yoga To Increase Flexibility) को अच्छी तरह से जाना जाता है, लेकिन इसके मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी बहुत सारे फायदे हैं, जिसमें मूड को बढ़ाना, ध्यान केंद्रित करना, तनाव और चिंता को कम करना और उदासी और नींद न आने के लक्षणों (Insomnia Symptoms) को कम करना शामिल है.

शरीर में सभी हार्मोन का लेवल बैलेंस रखने के लिए आपको करने होंगे ये 6 काम, कभी नहीं पड़ेंगे बीमार

भले ही योग एक सदियों पुरानी प्रथा है जो हजारों साल पहले भारत में शुरू हुई थी, फिर भी इसे आधुनिक समाज में बहुत प्रासंगिक और मददगार माना जाता है क्योंकि यह शारीरिक, मनोवैज्ञानिक, भावनात्मक और आध्यात्मिक स्वास्थ्य समस्याओं के व्यापक दायरे को कवर करती है. आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए यहां योग आसन शेयर किए गए गए हैं.

शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए योग | Yoga For Physical And Mental Health

1) उत्कटासन

जैसा कि नाम से पता चलता है, आपको इस स्थिति में स्क्वाट करने की जरूरत है जैसे कि आप एक कुर्सी पर बैठेंगे. इस बिंदु पर, अपनी आर्म्स को उठाएं और उन्हें छत की ओर सीधा रखते हुए 30 सेकंड के लिए इस स्थिति को बनाए रखें और कम से कम 4-5 बार दोहराएं.

कमजोर हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए ये आटा रोज खाएं, वज्र जैसी बन जाएंगी बोन्स!

2) पश्चिमोत्तानासन

अपने पैरों को अपने सामने सीधा करके बैठ जाएं इस स्थिति में आपके पैरों के तलुए सामने की ओर होने चाहिए. धीरे-धीरे अपने धड़ को अपने पैरों के पास लाएं और जहां तक संभव हो आप अपने हाथों का उपयोग अपने पैरों को पकड़ने के लिए कर सकते हैं. इस स्थिति में आपका पेट और छाती आपकी जांघों को छू रही होगी, आपका चेहरा सामने की ओर या पैरों की ओर हो सकता है, जो भी कम्फर्टेबल हो इस स्थिति को 10-20 सेकंड के लिए होल्ड करें. अपनी सुविधा के आधार पर कुछ बार दोहरा सकते हैं.

3) शवासन

समतल जमीन पर लेट जाएं. अपनी आर्म्स को एक तरफ रखें और आपकी हथेलियां खुली होनी चाहिए. आपकी हथेलियां आसमान की ओर होनी चाहिए. आपके पैर आपके कंधों से थोड़े दूर होने चाहिए. इस बिंदु पर सांस अंदर और बाहर लें.

क्या पीरियड्स में मैदा, अचार और चाय का सेवन नहीं करना चाहिए? जानें कौन सी चीजें बढ़ाती हैं दर्द और क्रैम्प्स

savasana 620

4) विपरीता करणी

इस मुद्रा में आपको अपने पैरों को अपने सिर के ऊपर रखने की जरूरत होती है. ऐसा करने के लिए आप पारंपरिक रूप से अपनी पीठ के बल लेट जाते हैं और अपने पैरों को 90 डिग्री के कोण पर जमीन से ऊपर उठाते हैं. जमीन को छूने वाले केवल शरीर के हिस्से आपके सिर, हाथ (कंधे से कोहनी तक) और ऊपरी पीठ आपके पैर की उंगलियों को आकाश की ओर होना चाहिए. हालांकि इस आसन को आराम से करने में सक्षम होने में समय और अभ्यास लगता है. इसलिए आप अपने पैरों को 90 डिग्री के कोण पर आराम करने के लिए एक दीवार के सहारे का उपयोग करने की कोशिश कर सकते हैं. शुरुआत में इस आसन को बेहतर ढंग से करने के लिए आप अपनी पीठ के निचले हिस्से के नीचे 1-2 तकिए रख सकते हैं ताकि बाहरी सपोर्ट के साथ शरीर को और ऊपर उठाया जा सके.

सुबह उठकर कर लिए ये 7 काम तो गोली की स्पीड से चलने लगेगा आपका माइंड

5) मर्जरीआसन-बितिलासन

अपने घुटनों और हाथों के बल बैठें (आप चार पैरों वाले जानवर की नकल कैसे करेंगे) अपनी पीठ को ऊपर की ओर उठाएं. एक पर्वत जैसी संरचना बनाएं जब आप ऐसा करते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप अपने चेहरे को अंदर की ओर धकेलें. अब अपनी पीठ को अंदर की ओर धकेलें. अपनी पीठ के साथ एक 'यू' पोजीशन बनाते हुए ऐसा करते हुए, छत की ओर देखें. एक मिनट के लिए ऊपर की ओर मुंह करके 'यू' स्ट्रक्चर बनाएं.

6) बालासन

अपने पैरों को मोड़कर सीधे बैठ जाएं. इस बिंदु पर आपके पैर ऊपर की ओर होने चाहिए. अब धीरे-धीरे अपने धड़ को फर्श पर आगे की ओर झुकाएं. इस बिंदु पर आपकी आर्म्स भी आगे की ओर फैली हुई होनी चाहिए. जहां तक संभव हो आपका चेहरा भी फर्श की ओर होना चाहिए.

बच्चे को जन्म देने के बाद मां के बाल क्यों झड़ते हैं? जानें कारण और हेयर लॉस को रोकने के तरीके

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
हर वक्त होती है एंग्जाइटी और स्ट्रेस, तो आपको रोज 10 मिनट करने हैं ये 5 योगासन, दिमाग होगा हल्का और खुश रहेगा मन
Mental Health: ब्रेन और बॉडी को चुस्त, तुरुस्त रखने के लिए बेस्ट हैं ये 6 योग आसान, तनाव से मिलेगी मुक्ति
International Day of Action for Women's Health: इस उम्र की महिलाओं को हर साल करवाने चाहिए ये 7 मेडिकल टेस्ट
Next Article
International Day of Action for Women's Health: इस उम्र की महिलाओं को हर साल करवाने चाहिए ये 7 मेडिकल टेस्ट
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;