आयकर विभाग के छापों में ओडिशा में 220 करोड़ से ज्‍यादा की नकदी बरामद, PM मोदी ने कसा तंज

PM मोदी ने एक पोस्ट में लिखा, ‘‘देशवासी इन नोटों के ढेर को देखें और फिर इनके नेताओं के ईमानदारी के 'भाषणों' को सुनें... जनता से जो लूटा है, उसकी पाई-पाई लौटानी पड़ेगी, यह मोदी की गारंटी है.’’

खास बातें

  • शराब बनाने वाली कंपनी के ठिकानों पर आयकर विभाग का छापा
  • अब तक 220 करोड़ रुपये से अधिक की नकदी बरामद की गई
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छापेमारी को लेकर विपक्ष पर निशाना साधा
भुवनेश्वर/रांची:

आयकर विभाग (Income Tax) ने ओडिशा (Odisha) स्थित शराब बनाने वाली एक कंपनी के खिलाफ कर चोरी के आरोप में शुक्रवार को तीसरे दिन भी छापे मारे और अब तक 220 करोड़ रुपये से अधिक की नकदी बरामद की जा चुकी है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आयकर विभाग की इस छापेमारी को लेकर शुक्रवार को विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि जनता से लूटा गया पैसा वापस करना होगा. मोदी ने अप्रत्यक्ष रूप से ओडिशा और झारखंड के उन नेताओं का जिक्र करते हुए यह टिप्पणी, जिनका शराब कंपनी से संबंध है.

मोदी ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स' पर एक हिंदी समाचारपत्र की खबर साझा की जिसमें दावा किया गया है कि झारखंड से कांग्रेस सांसद धीरज प्रसाद साहू से कथित तौर पर जुड़े एक कारोबारी समूह के विभिन्न ठिकानों से आयकर विभाग ने 200 करोड़ रुपये नकदी बरामद की है.

प्रधानमंत्री ने ‘एक्स' पर एक पोस्ट में लिखा, ‘‘देशवासी इन नोटों के ढेर को देखें और फिर इनके नेताओं के ईमानदारी के 'भाषणों' को सुनें... जनता से जो लूटा है, उसकी पाई-पाई लौटानी पड़ेगी, यह मोदी की गारंटी है.''

उन्होंने इस पोस्ट के साथ कई इमोजी भी लगाई.

खबर में नोटों से भरी कई अलमारियों की तस्वीर भी प्रदर्शित की गई हैं.

शराब कंपनी से कथित तौर पर संबंध रखने वाले झारखंड के एक सांसद से जब ‘पीटीआई-भाषा' ने संपर्क करने की कोशिश की तो उनका मोबाइल फोन बंद मिला. उनके रांची स्थित कार्यालय में कर्मचारियों ने बताया कि सांसद उपलब्ध नहीं हैं.

अधिकारियों के मुताबिक आयकर विभाग ने ओडिशा स्थित शराब बनाने वाली एक कंपनी के खिलाफ कर चोरी के आरोप में शुक्रवार को तीसरे दिन भी छापे मारे और नकदी से भरे 156 बैग बरामद किए.

उन्होंने बताया कि इन बैग से बरामद नकदी में से अब तक 20 करोड़ रुपये गिने जा चुके हैं. इसके साथ ही छापेमारी में अब तक 220 करोड़ रुपये बरामद किए गए हैं.

आयकर विभाग के अधिकारियों ने शुक्रवार को बोलांगीर जिले के सुदापाड़ा में छापेमारी के दौरान नकदी से भरे 156 बैग बरामद किए.

एक अधिकारी ने कहा, ‘‘156 बैग में से केवल छह-सात की गिनती की गई, जिसमें 20 करोड़ रुपये की रकम पाई गई.''

आयकर विभाग ने संबलपुर, बोलांगीर, टिटिलागढ़, बौध, सुंदरगढ़, राउरकेला और भुवनेश्वर में छापेमारी की.

शराब का कारोबार करने वाली कंपनी ने अभी तक छापे को लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

इस बीच, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ओडिशा इकाई ने एक संवाददाता सम्मेलन में पूरे प्रकरण की केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराए जाने की मांग की और ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) से स्पष्टीकरण भी मांगा.

भाजपा प्रवक्ता मनोज महापात्रा ने ओडिशा के पश्चिमी क्षेत्र की एक महिला मंत्री की तस्वीरें भी दिखाईं. जिसमें वह उन शराब व्यापारियों में से एक के साथ मंच साझा करते हुए पाई गईं, जिनके ठिकानों पर आयकर विभाग की ओर से छापे मारे जा रहे हैं. भाजपा प्रवक्ता ने दावा किया कि कर चोरी की यह सच्चाई स्थानीय नेताओं और राज्य सरकार के सक्रिय समर्थन और संरक्षण के बिना संभव नहीं हो सकती.

मनोज महापात्रा ने सवाल किया, ‘‘ ओडिशा का आबकारी विभाग, सतर्कता प्रकोष्ठ, खुफिया प्रकोष्ठ और आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ क्या कर रहे थे? ''

बीजद विधायक सत्यनारायण प्रधान ने भाजपा के आरोप को खारिज करते हुए दावा किया कि ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को भ्रष्टाचार से नफरत है और वह पारदर्शिता में विश्वास करते हैं. सत्यनारायण प्रधान ने कहा, ‘‘ दोषी पाए गए लोगों को निश्चित रूप से दंडित किया जाएगा क्योंकि हमारे मुख्यमंत्री हमेशा कहते हैं कि कानून अपना काम करेगा.''

देश की सबसे बड़ी शराब बनाने वाली कंपनियों में है शुमार 

देश की सबसे बड़ी शराब बनाने वाली और बिक्री करने वाली कंपनियों में शुमार ‘बलदेव साहू एंड ग्रुप ऑफ कंपनीज' के बोलांगीर कार्यालय पर छापेमारी के दौरान बृहस्पतिवार को लगभग 200 करोड़ रुपये नकद जब्त किए गए. बुधवार को सुंदरगढ़ शहर के सरगीपाली में कुछ घरों, कार्यालयों और शराब उत्पादन इकाई पर छापेमारी की गई थी. 

कंपनी के कॉरपोरेट कार्यालय की भी तलाशी ली गई 

आयकर विभाग की टीम ने भुवनेश्वर के पलासापल्ली में बौध शराब प्राइवेट लिमिटेड के कॉरपोरेट कार्यालय की भी तलाशी ली. इसके अलावा कंपनी के कुछ अधिकारियों के घरों, बौध स्थित कंपनी के कारखाना और कार्यालय तथा रानीसती राइस मिल में भी तलाशी ली गयी है.

'इतनी बड़ी मात्रा में नकदी बरामद होते नहीं देखी' 

आयकर विभाग के पूर्व आयुक्त शरत चंद्र दास ने कहा कि यह ओडिशा में आयकर विभाग द्वारा अब तक की सबसे बड़ी नकदी जब्ती हो सकती है. शरत चंद्र दास ने कहा, ‘‘ मैंने राज्य में इतनी बड़ी मात्रा में नकदी बरामद होते कभी नहीं देखी.''

इस मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं 

आयकर विभाग के महानिदेशक संजय बहादुर बृहस्पतिवार को भुवनेश्वर पहुंच गए हैं और पूरे अभियान पर नजर रख रहे हैं. इस सिलसिले में अब तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है.
 

ये भी पढ़ें :

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

* "अब बंगाल में 'मोदी सुनामी' का इंतजार": विधानसभा चुनाव में BJP के प्रदर्शन पर सुवेंदु अधिकारी
* आईएफएस ने शेयर कीं ओडिशा में नज़र आए ब्लैक पैंथर की अद्भुत तस्वीरें, लोगों से पूछा ये दिलचस्प सवाल
* पारादीप बंदरगाह पर जहाज से 220 करोड़ रुपये की कोकीन बरामद, चालक दल के सदस्य हिरासत में



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)