विज्ञापन
Story ProgressBack

लैंड ग्रेबिग घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, शाहजहां शेख और उसके भाई के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

ईडी ने शाहजहां और उसके भाई आलमगीर, करीबी शिव प्रसाद हाजरा, दीदार बक्श मौला के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की. हाल में इन सभी की करीब 14 करोड़ की प्रोपर्टी अटैच की गई थी.

Read Time: 3 mins
लैंड ग्रेबिग घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, शाहजहां शेख और उसके भाई के खिलाफ चार्जशीट दाखिल
इस मामले में अब तक चार गिरफ्तारियां
नई दिल्ली:

लैंड ग्रेबिग घोटाले में ED ने शाहजहां शेख उसके भाई एक बेहद करीबी और अन्य के खिलाफ़ चार्जशीट दाखिल की है. ये चार्जशीट शाहजहां के भाई आलमगीर, और एक बेहद करीबी शिव प्रसाद हाजरा, दीदार बक्श मौला के खिलाफ दाखिल की गई. हाल में इन सभी की करीब 14 करोड़ की प्रोपर्टी अटैच की गई थी. इसके पहले इन सभी की प्रॉपर्टी और बैंक अकांउट भी अटैच किये गए थे. दरअसल हाल ही में हुई अटैच प्रोपर्टी संदेशखाली मे बनाई गई थी.

डरा-धमका कर जमीनों पर किया था कब्जा

बाहुबल का प्रयोग कर लोगो को डरा धमका कर प्रोपर्टी पर कब्जा जमाया था. इस मामले में अब तक ED 288 करोड़ प्रोसिड ऑफ क्राइम चिह्नित कर चुकी है. वहीं 4 लोगों को ED गिरफ्तार भी कर चुकी थी. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को बताया था कि उसने पश्चिम बंगाल के संदेशखालि में महिलाओं के उत्पीड़न और जमीन कब्जाने के आरोपी एवं टीएमसी से निलंबित शाहजहां शेख और उससे कथित तौर पर जुड़े लोगों की 14 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति कुर्क करने का नया आदेश जारी किया था.

पीएमएलए कानून के तहत कुर्की

एजेंसी ने बताया कि शाहजहां शेख, उसके भाई एस.के. आलमगीर, शेख सुमैया हाफिजिया ट्रस्ट (आलमगीर द्वारा प्रतिनिधित्व किया जाता है), शाहजहां शेख के ‘साथियों' अब्दुल अलीम मुल्ला और शिब प्रसाद हाजरा एवं कुछ अन्य की कुल सत्रह बैंक खातों में जमा 3.78 करोड़ रुपये और 10.50 करोड़ रुपये की कुल 38.90 बीघे की 55 अचल संपत्तियां कुर्क की हैं. ईडी ने बताया कि कुर्की का वैकल्पिक आदेश धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत जारी किया है.

ईडी ने इस मामले में 12.78 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क करने का पहला आदेश मार्च में जारी किया था. संघीय एजेंसी ने बताया कि शाहजहां शेख ने जमीन हड़पने, अवैध मत्स्यपालन और व्यापार, ईंट भट्ठों को हथियाने, ठेकेदारी में गिरोहबाजी, अवैध रूप से उगाही / लेवी के संग्रह और भूमि सौदों में कमीशन आदि के आधार पर अपना ‘आपराधिक साम्राज्य' स्थापित किया.

कब हुई शाहजहां शेख की गिरफ्तारी

शाहजहां शेख को ईडी ने 30 मार्च को एजेंसी के अधिकारियों पर भीड़ के हमले के मामले में गिरफ्तार किया था. अधिकारियों पर हमला तब किया गया था, जब वह इस साल पांच जनवरी को पश्चिम बंगाल में हुए कथित राशन घोटाले से जुड़े धनशोधन के मामले में राज्य के उत्तर 24 परगना के संदेशखालि में शाहजहां शेख के परिसरों की तलाशी लेने गए थे.

शाहजहां शेख और उसके सहयोगियों पर कई मामले दर्ज

ईडी ने बताया कि शाहजहां शेख और उसके सहयोगियों के खिलाफ नवीनतम धनशोधन जांच पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा उनके खिलाफ धमकी देने, हत्या, हत्या के प्रयास, जबरन वसूली, जमीन हड़पने आदि के आरोप में दर्ज कई प्राथमिकियों के आधार पर कर रही है. ईडी ने कहा कि उसने मामले में स्थानीय किसानों, आदिवासियों, मछली व्यापारियों, एजेंट, निर्यातकों, भूस्वामियों और ठेकेदारों सहित विभिन्न व्यक्तियों के बयान दर्ज किए हैं और शाहजहां और आलमगीर की तीन एसयूवी भी जब्त की है।

संघीय एजेंसी के मुताबिक, धनशोधन मामले में कुल ‘अपराध की आय' 288.20 करोड़ रुपये होने का अनुमान है. शेख, आलमगीर, हाजरा और मुल्ला को एजेंसी ने गिरफ्तार किया है और अदालत ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
दिल्ली में बारिश, यूपी में हीटवेव तो झुलस रहा राजस्थान... जानें आपके शहर के मौसम का हाल
लैंड ग्रेबिग घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, शाहजहां शेख और उसके भाई के खिलाफ चार्जशीट दाखिल
वीके सिंह, अश्विनी चौबे और हर्षवर्धन... चुनाव से दूर रहे इन नेताओं को गवर्नर बनाएगी BJP? खत्म हो रहा 11 राज्यपालों का कार्यकाल
Next Article
वीके सिंह, अश्विनी चौबे और हर्षवर्धन... चुनाव से दूर रहे इन नेताओं को गवर्नर बनाएगी BJP? खत्म हो रहा 11 राज्यपालों का कार्यकाल
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;