विज्ञापन
Story ProgressBack

पिछले 9 सालों में इन थीमों के साथ मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, दुनिया ने पहचानी योग की शक्ति

International Yoga Day 2024: पिछले नौ सालों के अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के थीम के बारे में नीचे बताया गया है. साथ ही अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के महत्व के बारे में भी जानें.

Read Time: 5 mins
पिछले 9 सालों में इन थीमों के साथ मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, दुनिया ने पहचानी योग की शक्ति
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का उद्देश्य योग के महत्व और लाभों के बारे में जागरूकता बढ़ाना है.

International Yoga Day 2024: अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, जिसे हर साल 21 जून को मनाया जाता है, ने दुनिया भर में योग के महत्व और लाभों को प्रचारित करने में बड़ी भूमिका निभाई है. हर साल इस दिवस की एक अलग थीम होती है, जो योग के अगग-अलग पहलुओं और उसके व्यापक लाभों पर ध्यान केंद्रित करती है. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का उद्देश्य योग के महत्व और लाभों के बारे में जागरूकता बढ़ाना है. पिछले नौ सालों के अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के थीम के बारे में नीचे बताया गया है. साथ ही ये भी बताया गया है कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का महत्व क्या है.

यह भी पढ़ें: रात को ठीक से नींद नहीं आती तो, सोने से पहले कर लीजिए ये एक काम, लेटने के बाद सीधा सुबह खुलेगी नींद

पिछले नौ अंतर्राष्ट्रीय योग दिवसों की थीम | Nine International Yoga Days Theme

2015: सद्भाव और शांति के लिए योग- योग दिवस 2015 को नई दिल्ली में राजपथ पर आयोजित किया गया. इस कार्यक्रम ने 2 गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज किए- पहला एक ही स्थान पर एक ही योग सत्र में 35,985 लोगों की भागीदारी के लिए और दूसरा 2015 में एक योग सत्र में सबसे अधिक राष्ट्रीयताओं (84) की भागीदारी.
2016: युवाओं को जोड़ें - यह कार्यक्रम 21 जून, 2016 को चंडीगढ़ में आयोजित किया गया था. भारत के माननीय प्रधान मंत्री के साथ 30,000 लोगों और 150 दिव्यांगजनों ने भाग लिया.
2017: स्वास्थ्य के लिए योग - 21 जून, 2017 को लखनऊ में 51,000 प्रतिभागियों के साथ कार्यक्रम मनाया गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जीवनशैली में इसके महत्व पर चर्चा की.
2018: शांति के लिए योग - 21 जून, 2018 को देहरादून में 50,000 प्रतिभागियों के साथ मनाया गया.
2019: जलवायु कार्रवाई - माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रांची में अन्य प्रतिभागियों के साथ योग दिवस मनाया.
2020: स्वास्थ्य के लिए योग - घर पर योग: वैश्विक COVID-19 महामारी के कारण यह कार्यक्रम वर्चुअली आयोजित किया गया.
2021: स्वास्थ्य के लिए योग - माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'WHO M-योग' ऐप लॉन्च किया.
2022: मानवता के लिए योग: माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक के मैसूर पैलेस ग्राउंड में अन्य प्रतिभागियों के साथ योग दिवस मनाया.
2023: वसुधैव कुटुम्बकम के लिए योग: अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2023: न्यूयॉर्क में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'योग जीवन जीने का एक तरीका है.' 
2024: “स्वयं और समाज के लिए योग”: प्रधानमंत्री ने श्रीनगर में 10वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस समारोह का नेतृत्व किया, योग के अभ्यास के माध्यम से वैश्विक स्वास्थ्य और कल्याण को बढ़ावा देने का संदेश दिया. प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ग्राम प्रधानों से संवाद किया और उनसे योग को जन-नेतृत्व वाला आंदोलन बनाने का आग्रह किया था.

यह भी पढ़ें: दिन ढल जाता है, पर गर्मी नहीं... रात में बढ़ा तापमान पहुंचा रहा स्वास्थ्य को नुकसान, क्या कहते हैं एक्सपर्ट

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2024 का महत्व:

पिछले कुछ सालों में लाखों लोगों ने अपने सामान्य स्वास्थ्य और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए योग को अपनाया है. योग में सांस लेने की तकनीक, ध्यान और अन्य शारीरिक गतिविधियां शामिल हैं. यह तनाव, चिंता और निराशा को कम करने के अलावा लचीलापन, शक्ति, संतुलन और सहनशक्ति को बढ़ाता है.

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2024: दुनिया भर में होने वाले कार्यक्रम

श्रीनगर, जम्मू और कश्मीर में डल झील के किनारे, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया. ये योग दिवस जगह शेर-ए-कश्मीर अंतर्राष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर (SKICC) में मनाया गया, जो खूबसूरत बुलेवार्ड रोड के बगल में स्थित है.

योग क्या है और हम इसे क्यों मनाते हैं? | What Is Yoga And Why Do We Celebrate It?

योग एक प्राचीन शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक अभ्यास है जिसकी उत्पत्ति भारत में हुई थी. 'योग' शब्द संस्कृत से लिया गया है और इसका अर्थ है जुड़ना या एकजुट होना, जो शरीर और चेतना के मिलन का प्रतीक है. आज यह दुनिया भर में कई रूपों में प्रचलित है और इसकी लोकप्रियता बढ़ती जा रही है. इसकी सार्वभौमिक अपील को पहचानते हुए, 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र ने संकल्प 69/131 द्वारा 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में घोषित किया. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का उद्देश्य योग अभ्यास के कई लाभों के बारे में दुनिया भर में जागरूकता बढ़ाना है.

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की स्थापना के लिए मसौदा प्रस्ताव भारत द्वारा प्रस्तावित किया गया था और रिकॉर्ड 175 सदस्य देशों द्वारा इसका समर्थन किया गया था. इस प्रस्ताव को पहली बार प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने महासभा के 69वें सत्र के उद्घाटन के दौरान अपने संबोधन में पेश किया था, जिसमें उन्होंने कहा था: "योग हमारी प्राचीन परंपरा का एक अमूल्य उपहार है. योग मन और शरीर, विचार और क्रिया की एकता का प्रतीक है.

यह भी पढ़ें: मोटे पेट को पतला करने के लिए रोजाना सुबह करें ये काम, महीनेभर में दिखने लगेगा असर, 36 से 30 हो जाएगी कमर

सभी के लिए योग का महत्व

शारीरिक स्वास्थ्य: योग लचीलापन, शक्ति और सहनशक्ति बढ़ाता है. नियमित अभ्यास से पीठ दर्द और हार्ट रिलेटेड प्रोब्लम्स सहित कई शारीरिक बीमारियों को रोका और कम किया जा सकता है.
मानसिक स्वास्थ्य: योग तनाव कम करने एकाग्रता बढ़ाने और मानसिक स्पष्टता को बढ़ावा देने में मदद करता है.
प्राणायाम (सांस पर नियंत्रण) और ध्यान जैसे अभ्यास चिंता और अवसाद को कम करते हैं.
आध्यात्मिक विकास: आध्यात्मिकता में निहित, योग आंतरिक शांति और सद्भाव को बढ़ावा देता है, व्यक्तियों को आत्म-जागरूकता और आत्म-साक्षात्कार की ओर मार्गदर्शन करता है.

10 Yoga Poses You Should Do Every Day: योगाभ्यास कैसे शुरू करें? 10 आसान योगासन

(अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
ग्लूकोमा के मरीजों में आंखों की रोशनी जाने के जोखिम का पता लगाएगा नया बायोमार्कर
पिछले 9 सालों में इन थीमों के साथ मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, दुनिया ने पहचानी योग की शक्ति
बढ़ने लगा है पेट का मोटापा, तो रोज पिएं इस काले बीज का पानी, गलने लगेगी शरीर की चर्बी, शेप में आ जाएगी बॉडी
Next Article
बढ़ने लगा है पेट का मोटापा, तो रोज पिएं इस काले बीज का पानी, गलने लगेगी शरीर की चर्बी, शेप में आ जाएगी बॉडी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;