How To Control Uric Acid Level: हाई यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के 7 सबसे आसान, कारगर और नेचुरल तरीके

How To Control Uric Acid Naturally: यूरिक एसिड को घटाने के तरीके कई हैं, लेकिन कई लोगों को इनके बारे में जानकारी नहीं होती है. यहां कुछ ऐसे उपाय बताए गए हैं जो हाई यूरिक एसिड को जल्द कंट्रोल करने में मदद कर सकते हैं.

How To Control Uric Acid Level: हाई यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के 7 सबसे आसान, कारगर और नेचुरल तरीके

How To Reduce High Uric Acid: आहार और जीवनशैली में बदलाव से भी मदद मिल सकती है.

खास बातें

  • डाइट और लाइफस्टाइल में बदलाव से भी मदद मिल सकती है.
  • यूरिक एसिड को कम करने से गाउट का खतरा कम हो सकता है.
  • कुछ तरीके हाई यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मदद कर सकते हैं.

How To Control Uric Acid Level: शरीर में यूरिक एसिड का बढ़ना आपके लिए गंभीर परेशानी बन सकता है. गाउट एक प्रकार का गठिया है जो तब विकसित होता है जब ब्लड में यूरिक एसिड लेवल असामान्य रूप से बढ़ जाता है. यूरिक एसिड अक्सर पैरों और बड़े पैर की उंगलियों में जोड़ों में क्रिस्टल बनाता है, जो गंभीर और दर्दनाक सूजन का कारण बनता है. कई लोग यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के उपाय तलाशते हैं लेकिन जब तक आप अपनी यूरिक एसिड डाइट और लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव नहीं करते हैं तब तक आपका हाई यूरिक एसिड लेवल आपको परेशान करता रहेगा, लेकिन आहार और जीवनशैली में बदलाव से भी मदद मिल सकती है. यूरिक एसिड को कम करने से गाउट का खतरा कम हो सकता है. हालांकि यूरिक एसिड को घटाने के तरीके कई हैं, लेकिन कई लोगों को इनके बारे में जानकारी नहीं होती है. यहां कुछ ऐसे उपाय बताए गए हैं जो हाई यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मदद कर सकते हैं. 

यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए क्या करें और क्या नहीं? | Do's and Don'ts To Control Uric Acid?

1. प्यूरीन वाले फूड्स का सेवन सीमित करें

प्यूरीन ऐसे यौगिक होते हैं जो कुछ फूड्स में स्वाभाविक रूप से पाए जाते हैं. जैसे ही शरीर प्यूरीन को तोड़ता है, यह यूरिक एसिड पैदा करता है. प्यूरीन वाले फूड्स के चयापचय की प्रक्रिया से शरीर में बहुत अधिक यूरिक एसिड उत्पन्न होने से गाउट हो सकता है. इसलिए टारगेट यह होना चाहिए कि प्यूरीन का सेवन कम किया जाए.

हाई प्यूरीन वाले फूड्स-

  • ट्राउट, टूना, हैडॉक, सार्डिन, एन्कोवीज, मसल्स और हेरिंग जैसी मछलियां
  • बीयर और शराब
  • हाई फैट फूड्स, जैसे बेकन, डेयरी उत्पाद और रेड मीट
  • मीठा भोजन और पेय पदार्थ
high fat food 625How To Control Uric Acid Level: टारगेट यह होना चाहिए कि प्यूरीन का सेवन कम किया जाए.

2. ज्यादा लो-प्यूरीन खाद्य पदार्थ खाएं

हाई प्यूरीन कंटेंट वाले फूड्स से कम प्यूरीन सामग्री वाले फूड्स पर स्विच करके, कुछ लोग अपने यूरिक एसिड के स्तर को लगातार कम करने में सक्षम हो सकते हैं या कम से कम आगे बढ़ने से बच सकते हैं. कम प्यूरीन सामग्री वाले कुछ खाद्य पदार्थों में शामिल हैं:

  • कम वसा और वसा रहित डेयरी उत्पाद
  • पीनट बटर और नट्स
  • फल और सब्जियां
  • कॉफी
  • साबुत अनाज चावल, रोटी, और आलू

3. यूरिक एसिड को बढ़ाने वाली दवाओं से बचें

कुछ दवाएं यूरिक एसिड के स्तर को बढ़ा सकती हैं. यूरिक एसिड लेवल को बढ़ाने वाली दवाएं आवश्यक स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकती हैं, हालांकि, लोगों को कोई भी दवा बदलने से पहले डॉक्टर से बात करनी चाहिए.

4. हेल्दी बॉडी वेट बनाएं रखें

हेल्दी बॉडी वेट बनाएं रखें तक पहुंचने से गाउट फ्लेरेस के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है. मोटापे से गाउट का खतरा बढ़ जाता है, खासकर कम उम्र के लोगों में. अधिक वजन होने से व्यक्ति में मेटाबोलिक सिंड्रोम का खतरा भी बढ़ जाता है. यह हृदय रोग के जोखिम को बढ़ाते हुए रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल बढ़ा सकता है.

body weightHow To Control Uric Acid Level: अधिक वजन होने से व्यक्ति में मेटाबोलिक सिंड्रोम का खतरा भी बढ़ जाता है.

5. शराब और शुगरी ड्रिंक से बचें

शराब और मीठे पेय दोनों का भारी सेवन - जैसे सोडा और मीठे रस - गाउट के विकास के बढ़ते जोखिम से संबंधित हैं. शराब और मीठे पेय भी अनावश्यक कैलोरी से भरे होते हैं संभावित रूप से वजन बढ़ने और चयापचय संबंधी समस्याएं पैदा करते हैं.

7. विटामिन सी सप्लीमेंट लेने का प्रयास करें

विटामिन सी सप्लीमेंट लेने से गाउट का खतरा कम हो सकता है. एक शोध में पाया गया कि विटामिन सी ने रक्त में यूरिक एसिड के स्तर को काफी कम कर सकता है. यूरिक एसिड लेवल कम होने से गाउट के हमलों का खतरा कम हो सकता है. शोध ने यह साबित नहीं किया है कि विटामिन सी गठिया का इलाज करता है या रोक सकता है.

बात-बात पर आता है रोना, हो सकता है मेनोपॉज का लक्षण, जानें सबकुछ


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.