मक्खन या वेजिटेबल ऑयल: खाना पकाने के लिए क्या है बेस्ट और हेल्दी ?

Butter or oil: खाने के कई आइटम्स बनाने के लिए बटर या तेल क्या होता है ज्यादा अच्छा? जानिए किसमें खाना पकाना है ज्यादा बेहतर.

मक्खन या वेजिटेबल ऑयल: खाना पकाने के लिए क्या है बेस्ट और हेल्दी ?

मक्खन और तेल दोनों ही खाना बनाने में इस्तेमाल होते हैं.

खाना पकाने के लिए फैट जरूरी होता है, लेकिन आप अच्छी हेल्दी और टेस्ट के लिए किसे चुनते हैं ये आप पर डिपेंड करता है. मक्खन और वेजिटेबल ऑयल के बीच बहस कई सालों से चलती आ रही है. दोनों ही अपने स्वाद से खाने में एक अलग ही जायका जोड़ते हैं. जहां मक्खन अपनी मखमली बनावट और नमकीन स्वाद को जोड़ता है, वहीं तेल का एक अलग स्वाद होता है जो खाने को चमक देता है. हालाँकि, इन दोनो में ही अनहेल्दी फैट होने के कारण ये दोनों जांच के दायरे में आ गए हैं. सलाहकार पोषण विशेषज्ञ रूपाली दत्ता हमें बताती हैं, " आप पूरे दिन जितनी कैलोरी लेते हैं सेचुरेटेड फैट का सेवन उसके 7 प्रतिशत से कम होना चाहिए." कुछ लोग सोचते हैं कि मक्खन कोलेस्ट्रॉल के लिए हानिकारक है, और दूसरे सोचते हैं कि खाना पकाने का तेल अनहेल्दी है. लेकिन ये फैट हमारे लिए कितना हानिकारक हैं? और आपकी रेसिपी के लिए कौन सा बेहतर है: मक्खन या तेल? चलो पता करते हैं.

मक्खन किससे बनता है?

मक्खन, एक पसंदीदा डेयरी प्रोडक्ट है जो मलाई को मथकर बनाया जाता है. यह सैचुरेटेड फैट का स्रोत होता है, जो हार्मोन उत्पादन और वसा में घुलनशील विटामिन के अवशोषण के लिए जरूरी होता है. हालाँकि इसका ज्यादा सेवन हाई कोलेस्ट्रॉल में योगदान कर सकता है. मक्खन को लेकर चल रही बहस इसकी संतृप्त वसा सामग्री पर केंद्रित है, हार्वर्ड पब्लिक हेल्थ जैसे कुछ स्टडीज में इसे दिल के रोगों से जुड़ा होने के कारण भी माना गया है.

वेजिटेबल ऑयल वास्तव में क्या है?

वनस्पति तेल पौधों के बीज, मेवे या फलों से निकाला जाता है. इसमें पाया जाने वाला अनसैचुरेटेड फैट दिल को स्वस्थ रखने और खराब कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करने के लिए जाना जाता है. हालाँकि, कुछ वेजिटेबल ऑयल कई प्रोसेस से गुजरते हैं जो उसके पोषण मूल्य को कम कर देता है. शोध से पता चलता है कि ओमेगा-6 फैटी एसिड से भरपूर कुछ वनस्पति तेलों का अधिक सेवन सूजन में योगदान कर सकता है.

Butter and oil are used extensively in cooking.

Photo Credit: iStock

तेल या मक्खन किसका उपयोग करना बेहतर है?

खाना पकाने के लिए:

जब खाना पकाने की बात आती है, तो मक्खन और वेजिटेबल ऑयल दोनों की अपनी खूबियाँ होती हैं. मक्खन भुने हुए व्यंजनों में एक समृद्ध स्वाद जोड़ता है और तवे पर भुने हुए चिकन को सुनहरा क्रस्ट देता है. हालाँकि इसे हाई टेंपरेचर पर नहीं बनाना चाहिए. वेजिटेबल ऑयल अपने हाईअर स्मोक प्लाइंट के साथ तलने और डीप-फ्राइंग के लिए बेहतर माना जाता है. स्वास्थ्य की दृष्टि से, अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन जैसे विशेषज्ञ हार्ट को हेल्दी बनाए रखने के लिए हर रोज खाने के हााई अनसैचुरेटेड फैट वाले तेल में खाना पकाने का सुझाव देते हैं. 

बेकिंग के लिए:

बेकिंग के लिए, मक्खन और वेजिटेबल ऑयल के बीच का चुनाव आपके व्यंजनों की बनावट और स्वाद पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालता है. मक्खन कुकीज़ और केक को एक अच्छा और क्रीमी टेस्ट देता है, जिससे इसमें एक अलग रंग भी आता है. दूसरी ओर, वेजिटेबल ऑयल नमी लाता है, जिससे लाइट और फूला हुआ लास्ट प्रोडक्ट बनकर तैयार होता है. शेफ अक्सर स्वाद और बनावट के लिए दोनों का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं.

मक्खन या तेल: विजेता कौन?

मक्खन बनाम वेजिटेबल ऑयल की दुविधा में, कोई एक उत्तर नहीं है जो सभी के लिए उपयुक्त हो. "मक्खन एक सैचुरैटेड फैट का सोर्स है, वहीं वेजिटेबल ऑयल पॉली और मोनो संतृप्त वसा में समृद्ध हैं. बच्चों की ग्रोथ के लिए वेजिटेबल ऑयल के साथ बटप एक हेल्दी ऑप्शन है. एडल्ट्स के लिए नट्स, बीज और नॉन-वेज फूड्स में भी सेचुरेटेड फैट होता है, इसलिए बटर या ऑयल के उपयोग के बारे में जानकारी होना जरूरी है. दोनों की अपने-अपने रोल, स्वाद, बनावट और न्यूट्रिशनल प्रोफाइल हैं. मेन बात  ये है कि अपनी पसंद और हेल्थ बेनिफिट्स के मुताबित इनका चयन करें.



Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)