Inflammation: 7 चमत्कारी हर्ब्स और मसाले जो शरीर की सूजन का करते हैं तुरंत इलाज, डेली डाइट में शामिल करें

Anti Inflammatory Diet: डेली डाइट में कुछ एंटी इंफ्लेमेटरी जड़ी बूटियों और मसालों को शामिल करके शरीर में सूजन से बचा जा सकता है. यहां 7 ऐसी ही हर्ब्स के बारे में बताया गया है.

Inflammation: 7 चमत्कारी हर्ब्स और मसाले जो शरीर की सूजन का करते हैं तुरंत इलाज, डेली डाइट में शामिल करें

Anti Inflammatory foods: यहां 7 ऐसी ही हर्ब्स के बारे में बताया गया है.

Herbs For Inflammation: डीप-फ्राइड, शुगर और प्रोसेस्ड फूड्स के अधिक सेवन से कभी-कभी आंत में सूजन, अपच, सूजन, कब्ज और चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम (IBS) हो जाता है. यह हमारे हार्मोन को प्रभावित कर सकता है, जिसकी वजह से पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम, थायराइड और अन्य हार्मोनल विकार हो सकते हैं. सूजन से ऑटो-इम्यून डिसऑर्डर जैसे रूमेटाइड आर्थराइटिस भी हो सकता है. डेली डाइट में कुछ एंटी इंफ्लेमेटरी जड़ी बूटियों और मसालों को शामिल करके शरीर में सूजन से बचा जा सकता है. यहां कुछ एंटी इंफ्लेमेटरी जड़ी बूटियों और मसालों लिस्ट दी गई है जिनका आप हर दिन सेवन कर सकते हैं.

सूजन से बचाने वाली एंटी इंफ्लेमेटरी हर्ब्स | Anti Inflammatory Herbs that Prevent Inflammation

1) हल्दी

यह घरेलू मसाला भारतीय व्यंजनों में बेहद लोकप्रिय है. यह करक्यूमिन से भरा होता है, एक एंटीऑक्सिडेंट, जो इसके एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों के लिए जाना जाता है. शरीर में करक्यूमिन के अवशोषण को बढ़ाने के लिए आप हल्दी को काली मिर्च के साथ ले सकते हैं.

लंच में सिर्फ 15 मिनट में बनाएं टेस्टी स्वीट कॉर्न-आलू सब्ज़ी

2) काली मिर्च

काली मिर्च एंटीऑक्सीडेंट, एंटीमाइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होती है. यह कई गैस्ट्रोएंटेरोलॉजिकल समस्याओं को ठीक करने में भी काफी प्रभावी है.

3) इलायची

इलायची में एक जटिल मीठा और सुगंधित स्वाद होता है. शोध से पता चलता है कि इलाइची सूजन को कम करने के साथ-साथ फैटी लीवर की समस्या में भी मदद करती है.

कैसे बनाएं पॉपुलर जोधपुरी स्टाइल वाली मिर्ची वडा, यहां देखें रेसिपी

Videos: क्‍या होता है Psychological First Aid, बता रहे हैं डॉ. समीर पारिख...

4) दालचीनी

अध्ययनों के अनुसार, दालचीनी का सेवन सूजन को कम करता है. हालांकि, सीमित मात्रा में दालचीनी का उपयोग करने की सलाह देते हैं.

इन 4 लोगों को नहीं करना चाहिए आंवले का ज्यादा सेवन, फायदा की जगह हो सकता है नुकसान

5) अदरक

अदरक को पारंपरिक रूप से सर्दी, मेंट्रुअल क्रैम्प्स, माइग्रेन, मतली, गठिया और हाई ब्लड प्रेशर के इलाज के लिए एक दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. अदरक सूजन और जोड़ों के दर्द को कम करने में मदद कर सकता है.

6) लहसुन

पारंपरिक रूप से गठिया, खांसी, कब्ज और अन्य बीमारियों के संक्रमण के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है. लहसुन में अपने सल्फर यौगिकों के कारण एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए गए हैं.

चेहरे की झुर्रियों, दाग-धब्बों से छुटकारा पाने के लिए शहद का ऐसे करें इस्तेमाल

7) मेथी

मेथी का इस्तेमाल भारतीय घरों में कई कारणों से किया जाता है. यह जोड़ों के दर्द, कब्ज और सूजन से छुटकारा पाने में भी मदद करता है. मेथी का नियमित सेवन वजन कम करने में भी आपकी मदद कर सकता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.