World Arthritis Day 2021: अर्थराइटिस में कैसा हो खान-पान, क्या खाएं और क्या न खाएं

World Arthritis Day 2021: अर्थराइटिस की वजह से जोड़ों यानी कि ज्वाइंट्स में बेजोड़ दर्द होता है. ये दर्द इस हद तक बढ़ जाता है कि इससे चलना फिरना भी मुश्किल लगने लगता है. अर्थराइटिस में खान-पान को लेकर खास ध्यान देने की जरूरत है.  

World Arthritis Day 2021: अर्थराइटिस में कैसा हो खान-पान, क्या खाएं और क्या न खाएं

World Arthritis Day 2021: गठिया रोग में किन चीजों से करना चाहिए परहेज.

World Arthritis Day 2021:  अर्थराइटिस यानी कि गठिया की समस्या आज केवल बढ़ती उम्र वालों में ही नहीं बल्कि युवाओं में आम हो गई है. अर्थराइटिस की वजह से जोड़ों यानी कि ज्वाइंट्स में बेजोड़ दर्द होता है. ये दर्द इस हद तक बढ़ जाता है कि इससे चलना फिरना भी मुश्किल लगने लगता है. इस दर्द की वजह गलत खानपान भी हो सकती है, लिहाजा अर्थराइटिस में खान-पान को लेकर खास ध्यान देने की जरूरत है.  World Arthritis Day 2021 के मौके पर हम आपको बता रहे हैं कि गठिया से पीड़ित व्यक्ति को किस तरह का आहार लेना चाहिए और किन चीजों से परहेज करने की जरूरत है. 

क्या खाने से मिलेगा फायदा:

  • बथुए का साग गठिया के रोगियों के लिए किसी औषधि से कम नहीं है. आप बथुआ का जूस रोजाना खाली पेट पी सकते हैं, इससे आपको दर्द में फायदा महसूस हो सकता है. 
  • आप हर दिन एक सेब खाएं. इससे गठिया के रोगियों को लाभ मिलता है, हां खाने से पहले इसे अच्छे से धोएं ताकि कोई हानिकारक रसायन आपके शरीर में प्रवेश न करें.
  • हर दिन अलसी के बीज चबा-चबाकर खाते हैं तो इससे आपके शरीर में यूरिक एसिड नियंत्रित करने में सहायता मिलती है. आपको करना केवल ये है कि नियमित रूप से एक छोटे से चम्मच में लेकर अलसी का बीज खाएं. आप अपने अनुसार इसे नाश्ते और खाने के बीच के अंतराल में खा सकते हैं. 
  • ऐसे फल जो खट्टे होते हैं उनमें विटामिन सी अधिक रहता है इसके सेवन से गठिया के रोगियों को फायदा मिलता है. संतरा, मौसमी, नींबू, आंवला आदि जमकर खा सकते हैं. 
8sg55hho

अर्थराइटिस की वजह से जोड़ों यानी कि ज्वाइंट्स में बेजोड़ दर्द होता है.Photo Credit: iStock

अर्थराइटिस में क्या न खाएंः

1. ठंडी चीजों से परहेजः

अर्थराइटिस के रोगियों को ठंडी चीजों से दूरी बना कर ही रखनी चाहिए. कुछ ठंडा खाने के दर्द बढ़ सकता है. ऐसे में गठिया के मरीजों को फ्रिज में पड़ी हुई दही, खट्टी और ठंडी-ठंडी छाछ नहीं लेनी चाहिए. इसके साथ ही अगर आपको गठिया है तो आप आइसक्रीम और कुल्फी से बिल्कुल दूर ही रहें. 

2. अधिक प्रोटीन युक्त भोजन से करें परहेजः

अर्थराइटिस के रोगियों को डॉक्टर सलाह देते हैं कि उन्हें हाई प्रोटीन फूड से दूरी बनाकर रखनी चाहिए, अधिक प्रोटीन लेने से अर्थराइटिस की समस्या बढ़ सकती है. शरीर में वायु बढ़ाने वाली चीजों से परहेज जरूरी है, जैसे- छोले, चना, राजमा, अरबी और कटहल इनसे दूर रहें.

3. डीप फ्राई फूड से बचेंः

घी या तेल में डीप फ्राई किया हुआ खाना अर्थराइटिस में आपकी समस्या बढ़ा सकता है. पैकेज्ड फूड, स्नैक्स और चिप्स वगैरह न खाएं तो अच्छा है. अधिक फ्राइड खाने से पेट में गैस बनती है जो दर्द बढ़ा सकती है.

4. मछली और अखरोट न खाएंः

अखरोट और मछली दोनों में ही ओमेगा-3 फैटी एसिड अधिक मात्रा में रहता है, ये आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ा देता है, इससे अर्थराइटिस में दर्द बढ़ जाता है, लिहाजा इससे दूर रहें. वहीं रेड मीट का इस्तेमाल न करें.

डॉक्‍टरों ने कहा था Count Your Days,अब कैंसर को हरा खुशियां गिन रहा है अमित


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.