'पाकिस्तानी शख्स की इत्र दुकान में 13 घंटे काम करता था', संघर्ष के दिनों को याद कर Harshal Patel हुए इमोशनल

आईपीएल (IPL) एक ऐसा मंच रहा है जहां अज्ञात खिलाड़ी अपना हुनर दिखकर स्टार बन जाते हैं. इस लिस्ट में हर्षल पटेल (Harshal Patel Success Story) का नाम शामिल हो गया है

'पाकिस्तानी शख्स की इत्र दुकान में 13 घंटे काम करता था', संघर्ष के दिनों को याद कर Harshal Patel हुए इमोशनल

संघर्ष के दिनों को याद कर इमोशनल हुए हर्षल पटेल

आईपीएल (IPL) एक ऐसा मंच रहा है जहां अज्ञात खिलाड़ी अपना हुनर दिखाकर स्टार बन जाते हैं. इस लिस्ट में हर्षल पटेल (Harshal Patel Success Story) का नाम शामिल हो गया है. पिछले सीजन में हर्षल सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे. 2021 में हर्शल ने 32 विकेट लेने का कमाल कर दिखाया था. यही कारण रहा कि इस बार भी फ्रेंचाइजी आरसीबी ने हर्षल को अपने टीम में फिर से खरीदकर टीम में शामिल किया, इस तेज गेंदबाज को आरसीबी ने  मेगा ऑक्शन में 10.75 करोड़ में रूपये में खरीदकर फिर से अपने टीम के साथ जोड़ा था. हर्षल ने अपनी गेंदबाजी से दिखा दिया है कि उनके अंदर काफी सारा टैलेंट है. हाल ही में ब्रेकफास्ट विद चैंपियंस शो में हर्षल ने अपने संघर्ष के दिनों को लेकर बात की औऱ बताया कि कैसे वो USA में पाकिस्तानी शख्स के इत्र की दुकान में काम किया करते थे. 

यह पढ़ेंधोनी के साथ मिलकर CSK खिलाड़ियों ने मनाया ईद का जश्न, उठाया लजीज पकवानों का लुत्फ - Video

शो में तेज गेंदबाज ने कहा कि, 'मैं न्यू जर्सी के एलिजाबेथ में इस पाकिस्तानी लड़के के परफ्यूम स्टोर में काम करता था, मैं अंग्रेजी का एक शब्द भी नहीं बोल पाता था, क्योंकि मैंने गुजराती माध्यम से अपनी पढ़ाई की थी. पहली बार मुझे भाषा की परेशानी झेलनी पड़ी थी. 


शो के होस्ट गौरव कपूर के साथ बात करते हुए हर्षल ने आगे बताया कि, फिर मैंने उनकी अंग्रेजी सीखी. मुझे हर शुक्रवार को 100 डॉलर का भुगतान किया जाता था, जिसमें मैं अपना भरन पोषण करना पड़ता था.” 

यह पढ़ें- मैच से पहले ही हाथ पर '50 NOT OUT' लिख कर आए थे रिंकू सिंह, नीतिश राणा से बात कर हुए इमोशनल, देखिए VIDEO

पटेल ने आगे कहा कि तब उन्हें यह अहसास हुआ कि वास्तव में ब्लू-कॉलर नौकरियां क्या हैं, उन्होंने कहा कि उन्हें हर दिन 12-13 घंटे काम करना पड़ता था. मेरी चाची और चाचा अपने ऑफिस चले जाते थे और वे मुझे रास्ते में दुकान पर छोड़ देते थे. मैं इत्र की दुकान में सुबर 7 बजे पहुंच जाता था, वह दुकान  सुबह 9 बजे खुल जाती थी. दो घंटे मैं एलिजाबेथ रेलवे स्टेशन पर बैठा करता था,  मेरा काम 7.30, से 8 तक का होता था. मुझे एक दिन में 35 डॉलर मिला करते थे. 

हर्षल ने अपने शुरुआती क्रिकेट को लेकर भी शो में बात की और कहा कि, हर्षल ने कहा कि मैंने जूनिया क्रिकेट गुजरात में खेलना शुरू किया. क्रिकेट खेलने के दौरान मुझे एहसास हुआ कि मैं यहां अपना करियर क्रिकेट में बना सकता हूं. मैंने अपने परिवार वालों को इस बात के लिए मनाया कि वो मुझे भारत में छोड़कर यूएस चले जाएं, मैं भारत में रहकर क्रिकेट करियर में अपना भविष्य मनाना चाहता हूं.'

पटेल ने कहा “जब मेरे माता-पिता चले गए तो उन्होंने मुझसे एक बात कही 'ऐसा कुछ मत करो जो हमें बुरी स्थिति में डाल दे, मैंने इसे दिल से लगा लिया. मैं सुबह 7 बजे से करीब 10 बजे तक अभ्यास करने मोटेरा जाता था, सैंडविच की दुकान थी, मैं सैंडविच खाकर लौट आता था. 

ये भी पढ़े- KKR को मिली जीत तो लोगों ने अंपायर को बना दिया 'मैन ऑफ द मैच', जानिए क्यों.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

बता दें कि इस सीजन आईपीएल में हर्षल ने 11 मैच में 11 विकेट चटका लिए हैं. आरसीबी के लिए हर्षल अब काफी अहम खिलाड़ी बन गए हैं.