मोहम्मद शमी ने किया साफ कि वह संन्यास लेने के बाद क्या करेंगे

विश्व भर के देश जब कोविड-19 महामारी से जूझ रहे हैं. तब शमी (Mohammed Shami) ने कहा कि ऐसे समय में बहुत अधिक योजनाएं बनाने का कोई फायदा नहीं है. इस तेज गेंदबाज ने ‘गल्फ न्यूज’ से कहा, ‘‘देखिये बहुत अधिक योजनाएं बनाने का कोई मतलब नहीं है क्योंकि कुछ चीजें हमारे नियंत्रण में नहीं हैं.

मोहम्मद शमी ने किया साफ कि वह संन्यास लेने के बाद क्या करेंगे

मोहम्मद शमी का रोल आने वाले समय में खासा अहम है

नयी दिल्ली:

भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने निलंबित इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) के दौरान अपनी लय हासिल कर ली है और उन्हें लगता है कि टीम यदि पिछले छह महीने के शानदार प्रदर्शन को दोहराने में कामयाब रहती है, तो ब्रिटिश दौरा भी उसके लिए सफल होगा. भारतीय टीम दो जून को साढ़े तीन महीने के ब्रिटिश दौरे के लिये रवाना होगी जहां वह कुछ छह टेस्ट मैच खेलेगी. इनमें न्यूजीलैंड के खिलाफ 18 जून से शुरू होने वाला विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल भी शामिल है. इसके बाद भारत चार अगस्त से इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला खेलेगा. वहीं, शमी ने अपने भविष्य की योजना भी साफ कर दी है कि वह संन्यास के बाद क्या करेंगे.

सचिन ने कोविडकाल में तनाव से निपटने को दिया "गुरुमंत्र", छात्रों सहित सभी को देगा फायदा

विश्व भर के देश जब कोविड-19 महामारी से जूझ रहे हैं. तब शमी ने कहा कि ऐसे समय में बहुत अधिक योजनाएं बनाने का कोई फायदा नहीं है. इस तेज गेंदबाज ने ‘गल्फ न्यूज' से कहा, ‘‘देखिये बहुत अधिक योजनाएं बनाने का कोई मतलब नहीं है क्योंकि कुछ चीजें हमारे नियंत्रण में नहीं हैं. किसने सोचा था कि यह महामारी हमारी जिदंगी के दो साल बर्बाद कर देगी. इसलिए मैं एक समय में एक श्रृंखला या एक टूर्नामेंट पर ध्यान दे रहा हूं.'


जब मैथ्यू हेडन ने मुझसे दो-तीन साल तक बात नहीं की, उथप्पा ने किया खुलासा, VIDEO

उन्होंने कहा, ‘‘हमने टीम के रूप में हाल में बेजोड़ क्रिकेट खेली है और निश्चित तौर पर इंग्लैंड दौरे से पहले हमारा मनोबल बढ़ा हुआ है.' अब तक 50 टेस्ट मैचों में 180 विकेट लेने वाले शमी ने कहा, ‘यदि हम पिछले छह महीने की फार्म को दोहराने में सफल रहते हैं तो मुझे पूरा विश्वास है कि यह दौरा हमारे लिये शानदार होगा.' ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड टेस्ट में कलाई में चोट लगने के कारण लगातार सात टेस्ट मैचों में नहीं खेल पाने वाले शमी जानते हैं कि वह हमेशा नहीं खेल सकते हैं और यही कारण है कि युवा पीढ़ी को गुर सिखाना चाहते हैं.

वॉन पचा नहीं सके अपने बारे में 'कड़वा सच', तो सलमान बट्ट पर किया पलटवार

शमी ने कहा, ‘‘ऐसा स्वत: ही होता है. इतने वर्षों से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में होने के बाद मैं युवाओं को गुर सिखाना पसंद करूंगा. मैं हमेशा नहीं खेलता रहूंगा इसलिए यदि मैं युवाओं को गुर सिखाता हूं तो यह अच्छा होगा.' शमी ने अपनी गेंदबाजी के बारे में कहा, ‘मेरा रवैया कैसा होगा इसको लेकर मैं बहुत अधिक नहीं सोचता. मैंने आईपीएल में अपनी लय हासिल कर ली थी और बाकी चीजें परिस्थितियों पर निर्भर करती हैं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ महीने पहले आईपीएल मिनी ऑक्शन में कृष्णप्पा गौतम 9.25 करोड़ में बिके थे. ​