यूएन वॉचडॉग ने यूक्रेन के परमाणु संयंत्र में गोलाबारी के बीच "गंभीर संकट" की चेतावनी दी

रूस-यूक्रेन (Russia-Ukraine) युद्ध को लेकर यूएन वॉचडॉग (UN watchdog) ने चिंता जताई है. अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के प्रमुख राफेल ग्रॉसी ने सुरक्षा परिषद से कहा, "यह एक गंभीर समय है."

यूएन वॉचडॉग ने यूक्रेन के परमाणु संयंत्र में गोलाबारी के बीच

रूस और यूक्रेन के बीच ज़ापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र के पास नई गोलाबारी हुई है.

संयुक्त राष्ट्र:

संयुक्त राष्ट्र के परमाणु प्रहरी के प्रमुख ने यूक्रेन (Ukraine) में ज़ापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर आने वाले "गंभीर" संकट के बारे में आपातकालीन सुरक्षा परिषद की बैठक की चेतावनी दी है. क्योंकि रूस और यूक्रेन के बीच ज़ापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र (Nuclear power plants) के पास गोलीबारी देखने को मिली है. अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के प्रमुख राफेल ग्रॉसी ने सुरक्षा परिषद को बताया, "यह एक गंभीर समय है. उन्होंने आईएईए को तत्काल जापोरिज्जिया के लिए एक मिशन का संचालन करने की अनुमति दी जानी चाहिए.

वहीं यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की ने रूस पर "परमाणु ब्लैकमेल" करने का आरोप लगाया है. उन्होंने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से "ज़ापोरिज़्ज़िया को रूस के कब्जे से मुक्त कराने के लिए तुरंत प्रतिक्रिया करने का आग्रह किया." ज़ेलेंस्की ने एक वीडियो में राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा, "केवल रूसियों की पूर्ण वापसी... पूरे यूरोप के लिए परमाणु सुरक्षा की गारंटी होगी. "दोनों पक्षों ने कहा कि संयंत्र में एक रेडियोधर्मी सामग्री भंडारण क्षेत्र के पास पांच रॉकेट हमले हुए, जो यूरोप की सबसे बड़ी परमाणु सुविधा है, जो हाल के दिनों में नए सिरे से लड़ाई का केंद्र रहा है.

यूक्रेन की परमाणु एजेंसी एनरगोएटॉम ने बाद में कहा कि संयंत्र के छह रिएक्टरों में से एक के पास रूस ने ताजा गोलाबारी की है. इसमें कई विकिरण सेंसर क्षतिग्रस्त हो गए थे". मास्को में स्थापित क्षेत्रीय प्रशासन के एक सदस्य व्लादिमीर रोगोव ने कहा कि यूक्रेनी बलों ने संयंत्र पर "एक बार फिर हमला किया". यूक्रेनी संयंत्र रूसी सैनिकों के नियंत्रण में हैं और यूक्रेन ने मास्को पर सैकड़ों सैनिकों को तैनात करने और वहां हथियार जमा करने का आरोप लगाया है.

'अब और इंतजार नहीं कर सकता' 
न्यू यॉर्क में, सुरक्षा परिषद के सभी सदस्यों ने यूक्रेन के लिए एक तत्काल आईएईए मिशन के आह्वान का समर्थन किया. लेकिन इस बात पर कोई सहमति नहीं थी कि हमलों के लिए किसे दोषी ठहराया जाए और मिशन को सुविधाजनक बनाने के लिए कौन जिम्मेदार होना चाहिए.

'आतंकवाद का राज्य प्रायोजक' 
दक्षिणी यूक्रेन में सोवियत काल के संयंत्र पर मार्च की शुरुआत में रूसी सैनिकों ने कब्जा कर लिया था. मॉस्को द्वारा अपने पड़ोसी पर आक्रमण शुरू करने के कुछ ही समय बाद और तब से अग्रिम पंक्ति में बना हुआ है.

'हम सर्वश्रेष्ठ की आशा करते हैं'
इस बीच पूर्वी यूक्रेन में युद्ध छिड़ गया, जहां रूस समर्थित अलगाववादी 2014 से यूक्रेनी सेना के खिलाफ लड़ रहे हैं. बमबारी वाले शहर सोलेदार में बचे हुए कुछ निवासी भूमिगत आश्रयों में रह रहे हैं. 62 वर्षीय स्वितलाना क्लाइमेंको ने कहा, "हम अच्छे की उम्मीद करते हैं, लेकिन हर दिन यह बदतर और बदतर होता जाता है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ये भी पढ़ें: