'Omicron से दोबारा संक्रमित होने का खतरा ज्यादा लेकिन डेल्टा से हो सकता है कम घातक' : WHO

टेड्रोस ने वायरस के खिलाफ निगरानी कम करने के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा कि भले ही यह पता चल गया हो कि ओमिक्रॉन कम गंभीर बीमारी का कारण बनता है, लेकिन यह आत्मसंतोष मौत का कारण बन सकता है.

'Omicron से दोबारा संक्रमित होने का खतरा ज्यादा लेकिन डेल्टा से हो सकता है कम घातक' : WHO

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस एडनॉम घेब्येयियस ने कहा कि सभी देश निगरानी पर फोकस रखें.

जेनेवा (स्विटजरलैंड):

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बुधवार को कहा कि शुरुआती आंकड़ों से संकेत मिलता है कि ओमिक्रॉन (Omicron) कोविड वैरिएंट उन लोगों को अधिक और आसानी से दोबारा संक्रमित कर सकता है जो कोरोना वायरस से पहले संक्रमित हो चुके हैं या पिछले वेरिएंट आने से पहले वैक्सीन ले चुके हैं. हालांकि, WHO ने कहा कि नए वैरिएंट से उपजी बीमारी कम घातक हो सकती है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस एडनॉम घेब्येयियस ने संवाददाताओं से कहा, "दक्षिण अफ्रीका के उभरते आंकड़ों से पता चलता है कि ओमिक्रॉन के साथ पुन: संक्रमण का खतरा बढ़ गया है. कुछ सबूत भी हैं कि ओमिक्रॉन डेल्टा की तुलना में मामूली बीमारी का कारण बनता है."

हालांकि, उन्होंने जोर देकर कहा कि ठोस निष्कर्ष निकालने से पहले और अधिक डेटा की आवश्यकता है. उन्होंने सभी देशों से आग्रह किया कि वे अपने-अपने यहां निगरानी को बढ़ावा दें ताकि ओमिक्रॉन कैसे व्यवहार कर रहा है, इसकी स्पष्ट तस्वीर सामने लाने में  मदद मिल सके.

क्‍या वैक्‍सीन का नहीं रहेगा असर? ओमिक्रॉन शरीर में तैयार इम्‍यूनिटी से बच सकता है, शोध में आया सामने

उन्होंने कहा कि यह आंकलन तब आया जब नए वैरिएंट के म्यूटेशन के बाद वैश्विक चिंता बढ़ी, जिसने दर्जनों देशों को सीमा प्रतिबंध फिर से लागू करने के लिए मजबूर कर दिया है और आर्थिक रूप से हानिकारक लॉकडाउन वापसी की संभावना बढ़ा दी है.

टेड्रोस ने वायरस के खिलाफ निगरानी कम करने के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा कि भले ही यह पता चल गया हो कि ओमिक्रॉन कम गंभीर बीमारी का कारण बनता है, लेकिन यह आत्मसंतोष मौत का कारण बन सकता है.

Omicron: 'आने वाले हफ्तों में और बिगड़ सकते हैं यूरोप में हालात: बढ़ सकते हैं कोविड केस, मौत; सख्त चेतावनी


डब्ल्यूएचओ के आपात निदेशक माइकल रयान ने यह इंगित करते हुए सहमति व्यक्त की, कि अब तक डेटा इंगित करता है कि नया वैरिएंट "तेजी से फैल रहा है, और शायद डेल्टा संस्करण की तुलना में अधिक तेजी से पसर रहा है." उन्होंने कहा, "इसका मतलब यह नहीं है कि वायरस अजेय है बल्कि इसका मतलब है कि वायरस मनुष्यों के बीच फैलने में अधिक कुशल है. इसलिए हमें दूसरों की सुरक्षा के लिए खुद को बचाने के लिए संक्रमण की उन श्रृंखलाओं को तोड़ने के अपने प्रयासों को दोगुना करना होगा."

वीडियो: स्कूलों में कोविड क्लस्टर मिलने से बच्चों के पेरेंट्स परेशान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com