विज्ञापन
Story ProgressBack

कनाडा की अब तक की सबसे बड़ी लूट में भारतीय मूल के व्यक्ति गिरफ्तार, जानिए कैसे हुआ खुलासा  

करनाडा में 17 अप्रैल 2023 को एक एयरपोर्ट परिसर के भीतर सुरक्षित जगह से 2.2 करोड़ कनाडाई डॉलर से अधिक मूल्य की सोने की छड़ें और विदेशी मुद्रा चोरी हो गई थी.

Read Time: 4 mins
कनाडा की अब तक की सबसे बड़ी लूट में भारतीय मूल के व्यक्ति गिरफ्तार, जानिए कैसे हुआ खुलासा  
नई दिल्ली:

कनाडा (Canada) में करोड़ों डॉलर की लूट का गुरुवार को खुलासा हुआ है. इसे कनाडा के इतिहास की सबसे बड़ी लूट कहा जा रहा है, जिसमें सोने, नकदी और हथियारों से जुड़ी आपराधिक सांठगांठ को उजागर कर दिया है. यह कहानी किसी क्राइम थ्रिलर की स्क्रिप्ट की याद दिलाती है. टोरंटो के पियर्सन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हुई इस वारदात ने जांचकर्ताओं को करोड़ों डॉलर की पहेली से जूझने पर मजबूर कर दिया. इस लूट के सिलसिले में गिरफ्तार सात लोगों में से भारतीय मूल के दो लोग शामिल हैं. 

17 अप्रैल 2023 को हुई इस चौंका देने वाली वारदात में सोने का एक बड़ा भंडार गायब हो गया. एयरपोर्ट परिसर के भीतर एक सुरक्षित जगह से 2.2 करोड़ कनाडाई डॉलर से अधिक मूल्य की सोने की छड़ें और विदेशी मुद्रा को चुरा लिया गया था. इस वारदात को अंजाम देने और कीमती माल तक पहुंच हासिल करने के लिए जाली दस्‍तावेजों का इस्‍तेमाल किया गया. 

पिछले साल 17 अप्रैल को एयर कनाडा की उड़ान से कार्गो कंटेनर स्विट्जरलैंड के ज्यूरिख से पियर्सन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचा. इसमें .9999% शुद्ध सोने की 6,600 छड़ें थीं, जिनका वजन 400 किलोग्राम था. साथ ही 25 लाख कनाडाई डॉलर की विदेशी मुद्रा भी थी. कीमती माल को अंतिम गंतव्‍य तक पहुंचने से पहले एयरपोर्ट परिसर में सुरक्षित रखा गया था. 

ट्रक पर कंटेनर लोड कर हो गए फरार 

सर्विलांस फुटेज में नजर आता है कि एक ट्रक गोदाम तक गया और उसने सोने की छड़ों और नोटों से भरे कंटेनर को लोड किया, जिसे एक आरोपी चला रहा था और कुछ ही घंटों के भीतर मूल्यवान माल गायब हो गया. 

इस वारदात को अंजाम देने की योजना के केंद्र में एयर कनाडा में काम करने वाले व्‍यक्ति थे, जिन्‍होंने इस वारदात में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई. गिरफ्तार लोगों में परमपाल सिद्धू और सिमरन प्रीत पनेसर सहित एयरपोर्ट के पूर्व और वर्तमान कर्मचारी शामिल थे. वारदात को अंजाम देने के लिए इन लोगों के पास अंदरूनी जानकारी थी. 

पुलिस को अगली सुबह माल के गायब होने के बारे में बताया गया और जिसके बाद यह जांच अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर तक विस्‍तृत हो गई. कई महीनों की जांच के बाद एजेंसियों ने महत्वपूर्ण सफलता हासिल की. कई गिरफ्तारियां की गई, वारंट जारी हुए और वारदात से जुड़ी परतें खुलने लगी. जांच के दौरान अपराध में शामिल भारतीय मूल के लोगों सहित अन्‍य व्यक्तियों के बारे में पता चला. 

सोने और अवैध हथियारों के बीच सांठगांठ का खुलासा 

यह कहानी चोरी के साथ समाप्‍त नहीं हुई. बल्कि घटनाओं ने नाटकीय मोड़ लिया और अमेरिकी-कनाडा सीमा के दोनों ओर की पुलिस एकजुट हो गई, जिससे चोरी किए गए सोने और अवैध हथियारों की तस्करी के बीच की सांठगांठ का पता चला. अमेरिका के ब्रैम्पटन के 25 साल के शख्‍स डुरांटे किंग-मैकलीन की गिरफ्तारी ने एक आपराधिक नेटवर्क का खुलासा किया है, जिससे सोने के चोरों और कनाडा में हथियारों की तस्करी की योजना के बीच संबंधों का खुलासा हुआ. 

पुलिस ने ऐसे सबूत जब्त किए हैं, जिनसे पता चलता है कि चोरी किए गए सोने को पिघलाया गया और उसे ज्‍वैलरी और अन्‍य रूपों में बदल दिया गया. एक साल की जांच के बाद कुल सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है. 

ये भी पढ़ें :

* "मैंने बात की थी तो वो बेहद खुश लग रहा था..." : कनाडा में मारे गए भारतीय छात्र के भाई ने कहा
* कनाडा में हुई गोलीबारी में मारे गए 2 लोगों में एक भारतीय मूल का शख्स भी शामिल: पुलिस
* फर्जी पासपोर्ट, डोमेस्टिक टिकट... और 20 लाख में कनाडा जाने की डील ! एयरपोर्ट पर रोके जाने पर हुआ खुलासा

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
यदि यूक्रेन अपने सैनिकों को वापस बुला ले, तो रूस उसके साथ बातचीत को तैयार : व्लादिमीर पुतिन
कनाडा की अब तक की सबसे बड़ी लूट में भारतीय मूल के व्यक्ति गिरफ्तार, जानिए कैसे हुआ खुलासा  
"इस वजह से दोनों देशों में है तनाव...", कनाडा से संबंध पर बोले भारत के उच्चायुक्त
Next Article
"इस वजह से दोनों देशों में है तनाव...", कनाडा से संबंध पर बोले भारत के उच्चायुक्त
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;