COVID-19 महामारी का अंत अभी काफी दूर - WHO प्रमुख ने यह बताया कारण...

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा, ''दुनियाभर में जनवरी और फरवरी में लगातार छह हफ्तों तक संक्रमण के मामलों में कमी देखी गई. अब हम लगातार सात सप्ताह से मामलों में वृद्धि देख रहे हैं और चार सप्ताह से मौत के मामलों में इजाफा हो रहा है.

COVID-19 महामारी का अंत अभी काफी दूर - WHO प्रमुख ने यह बताया कारण...

WHO प्रमुख ने कहा, टीका शक्तिशाली हथियार तो है लेकिन यही एकमात्र हथियार नहीं है

खास बातें

  • बोले-सात हफ्तों से मामलों की संख्‍या लगातार बढ़ रही
  • चार सप्‍ताह से मौत के मामलों में हो रहा है इजाफा
  • एशिया और पश्चिम एशिया में काफी बढ़े हैं कोरोना केस
संयुक्त राष्ट्र:

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेड्रोस अदानोम गेब्रेयसस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने कहा है कि भले ही दुनियाभर में अब तक कोविड-19 रोधी टीकों की 78 करोड़ से अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं, महामारी का अंत अब भी काफी दूर है. बहरहाल, जन स्वास्थ्य के संबंध में कड़े कदम उठाकर कुछ महीनों में इसे काबू में किया जा सकता है. चीन के वुहान शहर में दिसंबर 2019 में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) का पहला मामला सामने आया था. अब तक दुनियाभर में 13,65,00,400 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं. इनमें से 29,44,500 की मौत हो चुकी है.

MP में लापरवाही, कोविड पॉजिटिव आरोपी के साथ एक अन्य आरोपी को सड़क पर घुमाते हुए ले गई पुलिस

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा, ''दुनियाभर में जनवरी और फरवरी में लगातार छह हफ्तों तक संक्रमण के मामलों में कमी देखी गई. अब हम लगातार सात सप्ताह से मामलों में वृद्धि देख रहे हैं और चार सप्ताह से मौत के मामलों में इजाफा हो रहा है. पिछले सप्ताह, एक सप्ताह में सबसे अधिक मामले सामने आए. उससे पहले तीन बार उससे ज्यादा मामले आए हैं. एशिया और पश्चिम एशिया के कई देशों में मामलों में भारी वृद्धि देखने को मिली है.''गेब्रेयसस ने जेनेवा में पत्रकारों से कहा कि दुनियाभर में कोविड-19 रोधी टीकों की 78 करोड़ से अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं. टीका शक्तिशाली हथियार तो है लेकिन यही एकमात्र हथियार नहीं है.


महाराष्ट्र: 88 साल की कोविड संक्रमित बुज़ुर्ग महिला को ऑटो में बिठाकर दिया गया ऑक्सीजन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, ''सामाजिक दूरी कारगर है. मास्क लगाना कारगर है. वेंटिलेशन कारगर है. निगरानी, जांच, संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाना, पृथकवास आदि संक्रमण से निपटने और लोगों का जीवन बचाने उपाय हैं.'' डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने आगाह किया कि महामारी का अंत दूर है लेकिन दुनिया के पास आशावादी होने के कई कारण हैं.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)