यूपी : जब गले में तख्ती डालकर थाने पहुंचा लूट का आरोपी, कहा-गोली मत मारो..

मंगलवार को फुरकान अपने गले में तख्ती डालकर फैजगंज बेहटा थाने पहुंचा. उसकी तख्ती पर लिखा था, ''मैं सदुआ उर्फ फुरकान पुत्र जमा खां, कन्हई नगला थाना कुढ फतेहगढ जनपद संभल का निवासी हूं. मैं थाना फैजगंज बेहटा के गल्ला दुकानदार से हुई लूट में शामिल था."

यूपी : जब गले में तख्ती डालकर थाने पहुंचा लूट का आरोपी, कहा-गोली मत मारो..

प्रतीकात्‍मक फोटो

बदायूं:

उत्‍तर प्रदेश के बदायूं जिले के फैजगंज इलाके में पिछले महीने एक गल्ला व्यापारी के साथ हुई साढ़े पांच लाख रुपए की लूट का एक आरोपी मंगलवार को गले में तख्ती डालकर थाने पहुंचा.वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह ने यहां बताया, ‘‘फैजगंज बेहटा थाना क्षेत्र के परमानंदपुर गांव में गत पांच अप्रैल को एक गल्ला व्यवसाई से दिनदहाड़े साढे पांच लाख रुपये की लूट हुई थी. इस लूट के खुलासे में गत 8 मई को पुलिस ने मुठभेड में क़मर नामक व्यक्ति को पकडा था. जिसने गल्ला व्यापारी से हुई लूट को कुबूल किया. कमर के साथ एक अन्य बदमाश भी था जो अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गया था. पता लगा कि वह बदमाश सम्भल जिले के कुढ़फतेहगढ़ का निवासी फुरकान है. उस पर 25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया था.''

उन्होंने बताया कि मंगलवार को फुरकान अपने गले में तख्ती डालकर फैजगंज बेहटा थाने पहुंचा. उसकी तख्ती पर लिखा था, ''मैं सदुआ उर्फ फुरकान पुत्र जमा खां, कन्हई नगला थाना कुढ फतेहगढ जनपद संभल का निवासी हूं. मैं थाना फैजगंज बेहटा के गल्ला दुकानदार से हुई लूट में शामिल था. मैं पुलिस के डर से खुद ही सरेंडर हो रहा हूं. मुझे गोली मत मारो. मुझसे दोबारा गलती नहीं होगी.'' सिंह ने बताया कि फुरकान के पास 25,000 रुपये भी थे. उसने पुलिस को बताया कि यह रुपए लूट के रुपयों में से ही बचे हुए हैं.उन्होंने बताया पकड़े गए बदमाश पर विभिन्न थानों में बड़ी संख्या में मुकदमे दर्ज हैं. आरोपी से पूछताछ की जा रही है.

- ये भी पढ़ें -

* अभिषेक बनर्जी से ED की पूछताछ में सहयोग दें : SC का पश्चिम बंगाल सरकार को निर्देश
* MP: गुना में तीन पुलिसवालों की हत्या का आरोपी तीसरा शिकारी भी हुआ ढेर, जानें पूरा मामला
* गृहमंत्री अमित शाह की IAS के साथ फोटो शेयर करने पर बुरे फंसे फिल्ममेकर, पुलिस ने दर्ज किया केस

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ज्ञानवापी मस्जिद मामला : समझें, सिर्फ एक मिनट में



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)