'मेरी यात्रा कोई राजनीति नहीं, भगवान राम का आशीर्वाद लेने आया हूं': अयोध्या में बोले आदित्य ठाकरे

अयोध्या में आदित्य ठाकरे ने हनुमानगढ़ी और राम जन्‍म भूमि समेत सभी प्रमुख मंदिरों में दर्शन पूजन किया. ठाकरे ने सरयू आरती में भी हिस्सा लिया.

अयोध्या:

शिवसेना नेता एवं महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे ने बुधवार को मंदिरों के शहर अयोध्या का दौरा किया. उन्होंने कहा कि उनकी अयोध्या यात्रा राजनीति से जुड़ी नहीं है, वह यहां भगवान राम का आशीर्वाद लेने आए हैं. अयोध्या की 'धार्मिक यात्रा' पर बुधवार को पहुंचे आदित्य ठाकरे ने राजनीति पर बोलने से बचने की कोशिश की, लेकिन राहुल गांधी से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा पूछताछ के सवाल पर कहा, 'सभी केंद्रीय एजेंसियां प्रचार साहित्य बन गई हैं.'

अयोध्या में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा कि अयोध्या भारत की आस्था का केंद्र है. उन्होंने कहा, ‘‘2018 में हमने यह नारा दिया 'पहले मंदिर, फिर सरकार' और शिवसेना के नारे के बाद मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हुआ. अब उच्चतम न्यायालय के आदेश पर राम मंदिर बन रहा है. हम भगवान राम से प्रार्थना करेंगे कि हमें शक्ति प्रदान करें ताकि हम लोगों की बेहतर सेवा कर सकें. हम यहां महाराष्ट्र सदन की स्थापना के लिए अयोध्या में जमीन दिलाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार से बात करेंगे.'

आदित्य ठाकरे ने बुधवार को अयोध्या का दौरा किया और राम जन्मभूमि मंदिर में पूजा करने से पहले कहा, 'अयोध्या की मेरी यात्रा कोई राजनीति नहीं है, मैं यहां भगवान राम का आशीर्वाद लेने आया हूं.'

ये भी पढ़ें- अग्निपथ : नेवी में एक साल में 3,000 और सेना में 40,000 'अग्निवीरों' की भर्ती, अधिकारियों ने बताई चयन प्रक्रिया

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘हम भगवान राम के भक्त के रूप में अयोध्या आए हैं, यहां साधुओं और संतों द्वारा हमारा गर्मजोशी से स्वागत किया जा रहा है.'' अपनी एक दिवसीय यात्रा पर अयोध्या पहुंचे ठाकरे यहां पूजा अर्चना के अलावा अपनी पार्टी पदाधिकारियों से मुलाकात की.

अयोध्या में आदित्य ठाकरे ने हनुमानगढ़ी और राम जन्‍म भूमि समेत सभी प्रमुख मंदिरों में दर्शन पूजन किया. ठाकरे ने सरयू आरती में भी हिस्सा लिया. आदित्य ठाकरे ने बुधवार की शाम सरयू आरती के बाद ट्वीट किया '' मां सरयू के दर्शन और संध्या आरती में भाग ले कर एक अलौकिक प्रसन्नता और शांति का अनुभव हुआ. जयश्रीराम.''

अपने सिलसिलेवार ट्वीट में ठाकरे ने राम जन्‍म भूमि के संदर्भ में कहा, '' विश्व भर के श्री राम भक्तों का सपना साकार होते हुए अपनी आंखों से देखना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। इस कल्पना को रूप देने वाले शिल्‍पकारों अर्थात इंजीनियरों से भेंट में निर्माण कार्य पर लंबी चर्चा हुई.''

ठाकरे ने अपना एक वीडियो भी इसी ट्वीट में साझा किया. उन्‍होंने कहा, '' राम नगर अयोध्या से ढेर सारा आशीर्वाद मिला और कुछ अविस्मरणीय यादें मिली, आशा है कि बांके बिहारी जी मुझे जल्द ही वापस बुलाएंगे.''

इसके पहले एक अन्य ट्वीट में शिवसेना नेता ने कहा, '' आज अयोध्या में श्री लक्ष्मण किला जाकर भगवान श्रीराम, लक्ष्मण और सीता मां के दर्शन किये और आशीर्वाद लिया.'' उन्होंने हनुमान गढ़ी दर्शन पूजन की तस्वीरों को साझा करते हुए एक और ट्वीट किया '' हनुमानगढ़ी में बजरंग बली जी के दर्शन किये। निस्वार्थ सेवा के प्रतीक, बजरंग बली जी के चरणों में नतमस्‍तक.''

ठाकरे ने एक अन्य ट्वीट किया, '' हिंदू हृदय सम्राट श्री बाला साहेब ठाकरे जी हों, या फ‍िर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री श्री उद्धव ठाकरे जी, शिवसेना और अयोध्या का नाता पीढ़ियों पुराना है। हम यहां राजनीति नहीं, दर्शन करने आते हैं.'' महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से पुत्र आदित्य ठाकरे ने अयोध्या जाने से पहले लखनऊ हवाई अड्डा पहुंचने पर ट्वीट किया, ‘‘अयोध्या की पावन भूमि की ओर… जय सिया राम.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पार्टी पदाधिकारियों के मुताबिक, आदित्य के अयोध्या पहुंचने से पहले एक हजार से अधिक शिवसैनिक पहले ही मंदिर शहर पहुंच चुके थे. शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत और एकनाथ शिंदे ठाकरे की यात्रा की व्यवस्था का जायजा लेने मंगलवार को अयोध्या पहुंचे थे. ठाकरे पूर्वाह्न करीब 11 बजे लखनऊ पहुंचे जहां से वे सड़क मार्ग से अयोध्या पहुंचे. इससे पहले मनसे (महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना) प्रमुख राज ठाकरे ने पांच जून को अयोध्या जाने की घोषणा की थी, बाद में उन्होंने इस कार्यक्रम को रद्द कर दिया था. इसके तुरंत बाद शिवसेना ने आदित्य ठाकरे की अयोध्या यात्रा की घोषणा की.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)