गैंगस्टर को शूटर का एक फोन कॉल... और पुलिस के हत्थे चढ़े सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड के आरोपी

Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case: इन शूटरों को दिल्ली पुलिस और राजस्थान पुलिस के संयुक्त अभियान के दौरान देर शाम चंडीगढ़ के एक होटल से गिरफ्तार किया गया है.

खास बातें

  • राजपूत नेता की हत्या के आरोप में 3 में से 2 शूटर गिरफ्तार
  • गिरफ्तार आरोपी हैं, रोहित राठौड़, उधम सिंह और नितिन फौजी
  • सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की मंगलवार को हत्‍या की गई थी...
नई दिल्‍ली :

करणी सेना प्रमुख सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की नृशंस हत्या के आरोप में कल हरियाणा से दो शूटरों सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इन शूटरों को दिल्ली पुलिस और राजस्थान पुलिस के संयुक्त अभियान के दौरान देर शाम चंडीगढ़ के एक होटल से गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार आरोपियों की पहचान रोहित राठौड़, उधम सिंह  और नितिन फौजी के रूप में की गई है.

पुलिस ने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्‍या के मामले में अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया है. शनिवार को राजस्थान पुलिस ने रामवीर जाट को कथित तौर पर शूटरों (रोहित और नितिन) को अपनी बाइक पर मौका-ए-वारदात से भागने में मदद करने और उन्हें अजमेर रोड पर छोड़ने के आरोप में गिरफ्तार किया था.

ऐसे गिरफ्त में आए शूटर..
गोल्डी बराड़ और लॉरेंस बिश्नोई से करीबी तौर पर जुड़े गैंगस्टर रोहित गोदारा ने इस हत्याकांड की जिम्मेदारी ली थी. रोहित गोदारा ने पहले एक फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि गोगामेदी अपने दुश्मनों की मदद कर रहे थे और इसी वजह से हमला हुआ. पुलिस ने कहा कि शूटर, गोगामेड़ी की हत्या के बाद रोहित गोदारा के करीबी सहयोगी वीरेंद्र चौहान के साथ लगातार संपर्क में थे, जिसका नाम कई आपराधिक मामलों में भी था. शूटरों की हालिया लोकेशन का पता उनके मोबाइल फोन से लगाया गया, क्योंकि वे भागने के दौरान वीरेंद्र चौहान को कॉल कर रहे थे. शूटरों ने पुलिस को बताया है कि वे पहले ट्रेन से हिसार गए और फिर उधम सिंह के साथ मनाली गए. वे एक दिन के लिए मंडी में भी रुके. मंडी से तीनों लोग चंडीगढ़ आए, जहां उन्हें पकड़ लिया गया.

सीसीटीवी में कैद हुई हत्‍या की वारदात
मंगलवार को सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के साथ चाय पीने के बाद उनके जयपुर स्थित घर पर तीन लोगों ने नजदीक से कई बार गोली मारी. जबकि उनमें से एक की मौत हो गई थी, रोहित राठौड़ और नितिन फौजी भाग गए थे. सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई राजपूत नेता की सनसनीखेज हत्या के बाद राजस्थान में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुआ. इसके बाद आरोपियों को पकड़ने के लिए कई टीमों को गठन किया गया. 

जयपुर में पूरी व्यवस्था रामवीर ने की थी...
राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की मंगलवार को शूटर नितिन फौजी एवं रोहित राठौड़ ने अंधाधुंध गोलीबारी कर हत्या कर दी थी. पुलिस के अनुसार नितिन फौजी के लिए जयपुर में पूरी व्यवस्था रामवीर ने की थी. उन्होंने बताया कि ये दोनों दोस्त हैं. वारदात के बाद रामवीर ही आरोपी नितिन एवं रोहित को मोटरसाइकिल पर लेकर बगरू टोल प्लाजा से आगे गया और उन्हें राजस्थान रोडवेज की एक बस में बैठाया था.

घर में घुसकर मारी थी गोली 
सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को मंगलवार को दिनदहाड़े 3 बदमाशों ने घर में घुसकर गोली मारी थी. इससे पूरे इलाके में सनसनी फैल गई थी. उन्हें मेट्रो मास हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. गैंगस्टर रोहित गोदारा ने हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर की थी. रोहित गोदारा का नाम पंजाबी सिंगर सिद्धू मुसेवाला की हत्या में भी सामने आया था. डीजीपी उमेश मिश्रा ने बताया कि सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड की जांच के लिए एडीजी क्राइम दिनेश एमएन के पर्यवेक्षण में एसआईटी का गठन किया है. अभियुक्तों पर पर 5-5 लाख रुपये का इनाम भी घोषित किया गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें :-