एमपी के स्कूल में भारत माता की जय बोलने को लेकर बवाल, हमलावर छात्रों पर एफआईआर  

शिकायत के मुताबिक, स्कूल की छुट्टी होने के बाद कसाई मोहल्ला के समीप भारतसिंह राजपूत और उसके साथियों के ऊपर लाठियों से हमला कर दिया. शिकायत के बाद हमलावर छात्रों पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है. 

एमपी के स्कूल में भारत माता की जय बोलने को लेकर बवाल, हमलावर छात्रों पर एफआईआर  

भारत माता की जय के नारे को लेकर हिंदू और मुस्लिम छात्रों के बीच हुआ विवाद

नई दिल्ली:

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के आगर मालवा जिले (Agar Malwa) में भारत माता की जय (Bharat Mata Ki Jai) न बोलने को लेकर विवाद खड़ा हो गया है. जिले के बड़ौद स्थित एक निजी स्कूल में जन गण मन राष्ट्रगान के बाद धर्म विशेष के कुछ लड़कों ने भारत माता की जय नही कहा. वहीं स्कूल के अन्य छात्रों द्वारा इन युवक़ों को भारत माता की जय बोलने का कहना भारी पड़ गया, इस बात को लेकर धर्म विशेष के लड़कों ने अन्य लोगों के साथ मिलकर स्कूल की छुट्टी होने के बाद कसाई मोहल्ला के समीप भारतसिंह राजपूत और उसके साथियों के ऊपर लाठियों से हमला कर दिया. शिकायत के बाद हमलावर छात्रों पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है. 

मध्यप्रदेश के इंदौर में युवती के भाषण पर हंगामा, मंच से हटाया गया : पुलिस

शिकायत के मुताबिक, लड़कों ने कहा कि भारत माता क्या होती है, तुम भारत माता की जय बुलवाने वाले कौन होते हो, साथ ही जान से मारने की धमकी दी. बड़ौद के थाना प्रभारी विवेक कनोडिया ने कहा कि मामले में पुलिस ने भारतसिंह की शिकायत पर ताहिर, अजहर, शकील, पिंटू, शौफी , राजा सहित अन्य लोगों पर 10 धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है.

भारत माता की जय के पवित्र नारे को अर्णब गोस्वामी से बचाइये

महावीर स्कूल में  यह घटना हुई और भारत सिंह राजपूत ने इस पर शिकायत दर्ज कराई है. शिकायत में 9 लोगों को नामजद किया गया है औऱ 8-9 अन्य अज्ञात हैं. सभी के खिलाफ बलवा, मारपीट और एससी-एसटी ऐक्ट के तहत भी केस दर्ज किया गया है. पुलिस अधिकारी का कहना है कि कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है और मामले की विवेचना के आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी.


"जंगलराज के साथी चाहते हैं आप 'भारत माता की जय' व 'जय श्री राम'  ना बोलें" : PM मोदी का वार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि भारत माता की जय के नारे को लेकर पहले भी कई विवाद सामने आते रहे हैं. वहीं इंदौर में दुर्गा पूजा के दौरान गरबा के आयोजन में भी दूसरे धर्म के लोगों के प्रवेश पर रोक लगाई गई है. इसको लेकर भी कई जगह विवाद हुए हैं.