हरियाणा : 22 साल के युवक की मौत के बाद बवाल, पुलिस पर कस्टडी में बेरहमी से पीटने का आरोप

हरियाणा (Haryana) के नूंह जिले के बदकली गांव में एक युवक की मौत के बाद हंगामा हो गया. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया.

हरियाणा : 22 साल के युवक की मौत के बाद बवाल, पुलिस पर कस्टडी में बेरहमी से पीटने का आरोप

स्थानीय लोगों ने शव को सड़क पर रख प्रदर्शन किया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • नूंह में युवक की मौत के बाद बवाल
  • पुलिस पर युवक की पिटाई का आरोप
  • प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर किया पथराव
नूंह:

हरियाणा (Haryana) के नूंह जिले के बदकली गांव में एक युवक की मौत के बाद हंगामा हो गया. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया और उनके वाहनों को आग के हवाले कर दिया. परिजनों का फरीदाबाद पुलिस (Faridabad Police) पर आरोप है कि युवक को पुलिस कस्टडी में बेरहमी से पीटा गया था. 22 वर्षीय जुनैद पेशे से पेंटर था. उसने अपने घर पर दम तोड़ दिया. परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने बगैर किसी मामले के जुनैद को अवैध तरीके से हिरासत में लिया था.

पुलिस ने उसे कस्टडी में बुरी तरह पीटा. जुनैद को छुड़ाने के लिए परिवार को घूस भी देनी पड़ी. घर पर जुनैद की मौत हो गई. गांववालों ने शव को होडल हाईवे पर रख प्रदर्शन किया और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की. जब पुलिस ट्रैफिक खाली कराने के लिए वहां पहुंची तो उनकी प्रदर्शनकारियों से झड़प हो गई.

महाराष्‍ट्र : फोन को लुटने से बचाने की कोशिश के दौरान ऑटो से गिरी महिला, मौत

देखते ही देखते विवाद बढ़ गया और प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया. पुलिसकर्मियों को पीटा गया और उनकी गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर दिया. पुलिसकर्मियों को वहां से भागकर जान बचानी पड़ी. बढ़ते तनाव को देखते हुए पुनहाना शहर में आंशिक कर्फ्यू लगा दिया गया है. सभी बाजारों को बंद करवाया गया है. प्रदर्शनकारी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग कर रहे हैं.

जमालगढ़ के सरपंच कमरूदीन ने कहा कि जुनैद को फरीदाबाद पुलिस ने 31 मई को सुनहेड़ा बॉर्डर से उठाया था. वह निर्दोष था. सरपंच का आरोप है कि फरीदाबाद पुलिस ने जुनैद पर थर्ड डिग्री का प्रयोग किया और 1 जून को छोड़ दिया. जिसके बाद जुनैद की तबीयत ज्यादा खराब हो गई. उसे कई अस्पतालों में इलाज के लिए दिखाया गया, आज (शनिवार) उसकी मौत हो गई.


वहीं इस मामले में पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जुनैद को फरीदाबाद पुलिस ने 31 मई को सुनहेड़ा बॉर्डर से उठाया था. जिसको 1 जून को गांव के जेई के सुपुर्द कर दिया था और आज जुनैद की मौत हो गई. इसका आरोप पुलिस पर लगाया जा रहा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: उन्नाव : पुलिस ने सब्जी वाले को पीटा, हुई मौत; दो सिपाही, एक होमगार्ड निलंबित