विज्ञापन
Story ProgressBack

गॉलब्लैडर निकालने के बाद शरीर में कितना बदलाव आता है? जानिए क्या दिक्कतें आती हैं और आपको क्या करना चाहिए

Gallbladder Removal Surgery: गॉलब्लैडर निकालना एक सामान्य प्रक्रिया है जो गॉलब्लैडर संबंधित समस्याओं से राहत दिला सकती है. हालांकि, इसके बाद लाइफस्टाइल और डाइट में कुछ बदलाव करने की जरूरत हो सकती है. यहां जानिए शरीर में क्या बदलाव आता है.

Read Time: 3 mins
गॉलब्लैडर निकालने के बाद शरीर में कितना बदलाव आता है? जानिए क्या दिक्कतें आती हैं और आपको क्या करना चाहिए
गॉलब्लैडर को हटाने के बाद शरीर में क्या बदलाव आते हैं, जानिए...

Gallbladder Removal Effects: गॉलब्लैडर शरीर का एक जरूरी अंग है. यह लिवर से पैदा होने वाले पित्त को स्टोर करता है. पित्ताशय पाचन प्रक्रिया में मदद करता है, खासतौर से वसा के पाचन में. जब गॉलब्लैडर में समस्याएं पैदा होती हैं, जैसे कि गॉलब्लैडर स्टोन्स (पित्त की पथरी) या संक्रमण, तो इसे सर्जरी की मदद से हटाने की जरूरत पड़ सकती है. इस प्रक्रिया को चोलेसिस्टेक्टॉमी कहा जाता है. इस प्रक्रिया को कोलेसिस्टेक्टॉमी कहा जाता है. आइए जानें, गॉलब्लैडर को हटाने के बाद शरीर में क्या बदलाव आते हैं और इसके क्या प्रभाव होते हैं.

गॉलब्लैडर निकालने के बाद क्या होता है? | What Happens After Gallbladder Removal?

1. पाचन पर प्रभाव

गॉलब्लैडर निकालने के बाद पित्ताशय सीधे लिवर से छोटी आंत में बहती है, बजाय इसके कि गॉलब्लैडर में संग्रहित हो. इससे वसा का पाचन थोड़ा कठिन हो सकता है और कुछ लोगों को फैटी चीजें खाने के बाद पेट में गड़बड़ी या दस्त हो सकती है.

यह भी पढ़ें: किस वजह से बनती है पित्त की थैली में पथरी? जानिए पित्ताशय की पथरी के लक्षण, कारण और इलाज के बारे में सब कुछ

2. लाइफस्टाइल में बदलाव

कई लोग गॉलब्लैडर निकालने के बाद सामान्य जीवन जी सकते हैं, लेकिन उन्हें अपनी खान-पान की आदतों में कुछ बदलाव करने की जरूरत हो सकती है. हाई फैट वाले फूड्स से बचना और फाइबर से भरपूर फूड्स का सेवन बढ़ाना फायदेमंद हो सकता है.

3. दर्द और असुविधा में कमी

जिन लोगों को गॉलब्लैडर में स्टोन्स या संक्रमण के कारण दर्द और असुविधा होती थी, वे सर्जरी के बाद इस दर्द से राहत पा सकते हैं.

4. डायरिया और गैस

कुछ लोगों को डायरिया, गैस या पेट फूलने की समस्या हो सकती है. ये समस्याएं अक्सर समय के साथ कम हो जाती हैं, लेकिन कुछ मामलों में लंबे समय तक बनी रह सकती हैं.

यह भी पढ़ें: इन 5 लोगों के लिए किसी अमृत से कम नहीं है सुबह खाली पेट किशमिश को दूध में भिगोकर पीना

5. जरूरी पोषक तत्वों का अवशोषण

गॉलब्लैडर निकालने के बाद कुछ लोगों को वसा में घुलनशील विटामिन्स (ए, डी, ई, के) के अवशोषण में समस्या हो सकती है. हालांकि, यह बहुत सामान्य नहीं है और डाइट और सप्लिमेंट्स के जरिए मैनेज किया जा सकता है.

गॉलब्लैडर निकालना एक सामान्य प्रक्रिया है जो गॉलब्लैडर संबंधित समस्याओं से राहत दिला सकती है. हालांकि, इसके बाद लाइफस्टाइल और डाइट में कुछ बदलाव करने की जरूरत हो सकती है. सही देखभाल और सावधानियों के साथ ज्यादातर लोग गॉलब्लैडर निकालने के बाद भी हेल्दी और सामान्य जीवन जी सकते हैं.

(अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
सिरदर्द होने पर क्या नहीं खाना चाहिए? सिरदर्द को कम करने के लिए इन फूड्स से बचना बहुत जरूरी
गॉलब्लैडर निकालने के बाद शरीर में कितना बदलाव आता है? जानिए क्या दिक्कतें आती हैं और आपको क्या करना चाहिए
पीरियड्स के दौरान गुड़ खाने की सलाह क्यों दी जाती है? जानिए Periods में गुड़ का सेवन करने का सही तरीका
Next Article
पीरियड्स के दौरान गुड़ खाने की सलाह क्यों दी जाती है? जानिए Periods में गुड़ का सेवन करने का सही तरीका
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;