विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Mar 01, 2023

Red Light Therapy की मदद से 50 की उम्र में भी रख सकते हैं चेहरे को 25 जितना जवां, जानिए कैसे की जाती है ये

Red Light Therapy: रेड लाइट थेरेपी दरअसल एक एंटी एजिंग थेरेपी के रूप में पॉपुलर है, कहा जाता है कि इसे करवाने से त्वचा पर बढ़ती उम्र के चलते आए दाग धब्बे, ढीलापन, फाइन लाइन्स, काले घेरे आदि खत्म हो जाते हैं. यहां जानिए कितनी कारगर है ये थेरेपी और कैसे की जाती है.

Read Time: 5 mins
Red Light Therapy की मदद से 50 की उम्र में भी रख सकते हैं चेहरे को 25 जितना जवां, जानिए कैसे की जाती है ये
Skin Care Tips: रेड लाइट थेरेपी से स्किन की डैमेज कोशिकाएं भी ठीक हो जाती है.

Skin Care Tips: भागदौड़ भरी लाइफ में स्किन को लेकर लापरवाही, बढ़ती उम्र, तनाव के चलते आजकल लोगों की स्किन समय से पहले बूढ़ी नजर आने लगी है. ऐसे में त्वचा पर झुर्रियां, झाइयां, फाइन्स लाइन्स दिखने लगती हैं, त्वचा की कसावट और चमक गायब हो रही है, लेकिन कोई भी बूढ़ा दिखना नहीं दिखना चाहता है और लोगों की जवां दिखने की चाहत को पूरा करने के लिए आजकल रेड लाइट थरेपी (Red Light Therapy) काफी चलन में है. उम्र बढ़ने के साथ त्वचा में कोलेजन का लेवल कम होने लगता है, जो त्वचा को उम्रदराज बनाता है और इसी कोलेजन के प्रोडक्शन को बढ़ाकर स्किन को वापिस जवां बनाने में ये रेड लाइट थेरेपी काफी कारगर साबित हो रही है क्योंकि लोगों में इसे लेकर काफी क्रेज है.

Blood Sugar कंट्रोल करने के लिए इस लकड़ी की छाल है कमाल, चूस लेती है Diabetes रोगियों के शरीर से पूरी शुगर

रेड लाइट थेरेपी क्या है? | What Is Red Light Therapy?

रेड लाइट थेरेपी दरअसल एक एंटी एजिंग थेरेपी मानी जाती है, कहा जाता है कि त्वचा पर बढ़ती उम्र के चलते आए दाग धब्बे, ढीलापन, फाइन लाइन्स, काले घेरे आदि खत्म हो जाते हैं. वैज्ञानिकों ने इस थेरेपी को लेकर निष्कर्ष निकाला कि कम वेबलेंथ वाली रेड लाइट की मदद से त्वचा के अंदर ऊर्जा प्रदान करने वाली कोशिकाएं रिजेनरेट होती हैं. इस रेड लाइट थेरेपी में त्वचा के भीतर जाकर माइटोकॉन्ड्रिया को ट्रिगर किया जाता है जिससे त्वचा की रक्षा करने वाली और उसे जवां बनाने वाली कोशिकाएं फिर से काम करने लगती है और इन कोशिकाओं का उत्पादन भी बढ़ जाता है.

रेड लाइट थेरेपी की खासियत | Benefits Of Red Light Therapy

इसकी खासियत ये है कि इससे त्वचा को किसी तरह का नुकसान ना पहुंचने की बात कही गई है। त्वचा को रिजेनरेट करने के लिए की जाने वाली अन्य थेरेपीज की तरह इसमें त्वचा पर किसी तरह के लेजर कट नहीं लगते जिससे स्किन को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचता.

डेली इस तरीके से करेंगे Coriander का इस्तेमाल तो खून साफ होकर Urine के रस्ते बाहर निकल जाएंगे Uric Acid के क्रिस्टल

irjl1bf8

रेड लाइट थेरेपी कैसे काम करती है? | How Does Red Light Therapy Work?

रेड लाइट थेरेपी में बॉडी को कम वेबलेंथ वाली रेड लाइट के दायरे में रखा जाता है. फिर रेड लाइट छोड़ी जाती है और शरीर के अंदर की कोशिकाएं इसे ऑब्जर्ब करती हैं यानी ग्रहण कर लेती हैं. इस अवशोषण के बाद स्किन की कोशिकाएं ट्राइफॉस्फेट बनाना शुरू कर देती हैं, जो स्किन सेल्स को पावर देता है ताकि वो खुद को रिजेनरेट कर सकें. इससे त्वचा की कोशिकाओं को वो पावर मिलती है जो जवां त्वचा की कोशिकाएं पैदा करती हैं. इससे त्वचा की कोशिकाएं फिर से उत्साहित होकर कोलेजन बनाना शुरू कर देती है और चेहरा जवां हो उठता है. 

क्यों हों परेशान जब प्याज खाकर कंट्रोल कर सकते हैं Blood Sugar, ये रहा उपयोग करने का सही तरीका

रेड लाइट थेरेपी के फायदे | Benefits Of Red Light Therapy

रेड लाइट थेरेपी त्वचा की उन कोशिकाओं को जीवंत कर देती है जिससे त्वचा को नई चमक मिलती है. माना जाता है कि इससे चेहरे की झुर्रियां, काले घेरे, दाग धब्बे, स्ट्रेच मार्क्स आदि ठीक हो जाते हैं. इससे त्वचा में कसावट आती है और त्वचा ग्लो करने लगती है. त्वचा के संक्रमण और बीमारियां जैसे एक्जिमा और सोरायसिस भी इस थेरेपी से ठीक होने की बात कही जाती है. इतना ही नहीं रेड लाइट थेरेपी से स्किन की डैमेज कोशिकाएं भी ठीक हो जाती है.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
वैज्ञानिकों ने डिमेंशिया का पता लगाने के लिए तैयार किया एआई टूल, जानिए क्या है इस बीमारी के लक्षण
Red Light Therapy की मदद से 50 की उम्र में भी रख सकते हैं चेहरे को 25 जितना जवां, जानिए कैसे की जाती है ये
डिमेंशिया के मामलों के लिए भविष्य में सबसे बड़ा जोखिम फैक्टर क्या है, अध्ययन में हुआ इसका खुलासा
Next Article
डिमेंशिया के मामलों के लिए भविष्य में सबसे बड़ा जोखिम फैक्टर क्या है, अध्ययन में हुआ इसका खुलासा
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;