विज्ञापन
Story ProgressBack

कैविटी ही नहीं इन 5 कारणों से भी हो सकता है दांत में दर्द, इग्नोर न करें तुरंत डॉक्टर को दिखाएं

दांत दर्द के और भी कई कारण हो सकते हैं जिनके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते. यहां पांच ऐसे कारण बताए जा रहे हैं जो कैविटी के अलावा दांत दर्द का कारण बन सकते हैं.

Read Time: 3 mins
कैविटी ही नहीं इन 5 कारणों से भी हो सकता है दांत में दर्द, इग्नोर न करें तुरंत डॉक्टर को दिखाएं

दांत दर्द के कई कारण हो सकते हैं और सभी कारणों का इलाज अलग-अलग होता है. अगर आपको दांत दर्द हो रहा है तो इसे अनदेखा न करें और तुरंत दंत चिकित्सक से संपर्क करें. सही समय पर इलाज और देखभाल से आप दांतों की समस्याओं से बच सकते हैं और अपने दांतों को स्वस्थ रख सकते हैं. दांत दर्द का मतलब अक्सर लोग कैविटी यानी दांतों में सड़न से जोड़ते हैं, लेकिन दांत दर्द के और भी कई कारण हो सकते हैं जिनके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते. यहां पांच ऐसे कारण बताए जा रहे हैं जो कैविटी के अलावा दांत दर्द का कारण बन सकते हैं.

यह भी पढ़ें: कोहनी से नीचे काले हो गए हैं हाथ, तो टैनिंग हटाने के लिए इस घरेलू चीज का करें इस्तेमाल

1. मसूड़ों की बीमारी

मसूड़ों की बीमारी दांत दर्द का एक प्रमुख कारण हो सकती है. जब आपके मसूड़े संक्रमित हो जाते हैं या उनमें सूजन आ जाती है, तो यह गिंगिवाइटिस कहलाता है. इसके लक्षणों में मसूड़ों से खून आना, सूजन और लालिमा शामिल हैं. इस स्थिति में समय पर इलाज न होने पर यह पेरियोडोंटाइटिस में बदल सकता है, जो दांतों की जड़ों को नुकसान पहुंचा सकता है.

2. दांतों का टूटना या फटना

दांतों का टूटना या फटना भी दांत दर्द का एक कारण हो सकता है. यह आमतौर पर किसी दुर्घटना, कठोर चीजें चबाने या दांतों पर जोर देने के कारण होता है. दांतों के टूटने या फटने से नसें खुल सकती हैं, जिससे अत्यधिक दर्द होता है. इस स्थिति में डेंटिस्ट से तुरंत संपर्क करना जरूरी है.

यह भी पढ़ें: भूलने लगे हैं चीजें और जल्दी हो जाता है तनाव, तो ब्रेन पावर बढ़ाने के लिए अपनाएं ये 5 आदतें

3. दांतों का संवेदनशील होना

दांतों का संवेदनशील होना भी दांत दर्द का कारण बन सकता है. यह तब होता है जब दांतों की परत (इनेमल) पतली हो जाती है या दांत की जड़ें खुल जाती हैं. यह समस्या गर्म, ठंडा, मीठा या खट्टा खाने-पीने पर दर्द या असहजता का कारण बन सकती है. दांतों की संवेदनशीलता को कम करने के लिए विशेष टूथपेस्ट का उपयोग और दंत चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए.

4. दांतों का पिसना

दांतों का पिसना, जिसे ब्रक्सिज्म भी कहा जाता है, अक्सर तनाव या चिंता के कारण होता है. रात को सोते समय या दिन में जबड़े को कसने से दांतों पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है, जिससे दांतों और मसूड़ों में दर्द हो सकता है. इस स्थिति में नाइट गार्ड का उपयोग और रिलैक्सेशन तकनीकों का अभ्यास लाभकारी हो सकता है.

5. साइनस संक्रमण

साइनस संक्रमण (साइनसाइटिस) भी दांत दर्द का कारण बन सकता है। साइनस नाक के पास स्थित हवा से भरी हुई गुहाओं को कहा जाता है. जब इनमें संक्रमण होता है, तो यह ऊपरी जबड़े के दांतों में दर्द का कारण बन सकता है. इस स्थिति में एंटीबायोटिक्स और डॉक्टर के परामर्श से उपचार करना जरूरी होता है.

(अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
इस तरीके से करें आक के पत्ते का इस्तेमाल, गठिया रोगियों के लिए माना जाता है रामबाण, जोड़ों का दर्द और अकड़न भी होने लगेगी गायब
कैविटी ही नहीं इन 5 कारणों से भी हो सकता है दांत में दर्द, इग्नोर न करें तुरंत डॉक्टर को दिखाएं
मॉनसून में बालों को इन 5 समस्याओं से बचाने में मददगार है नारियल तेल, जानें बालों में नारियल तेल लगाने के फायदे
Next Article
मॉनसून में बालों को इन 5 समस्याओं से बचाने में मददगार है नारियल तेल, जानें बालों में नारियल तेल लगाने के फायदे
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;