Blood Sugar को मैनेज करने वाले Insulin ठीक से नहीं कर रहा काम, तो ये Yogasan वाकई करेंगे आपकी मदद

Yoga For Diabetes: डाइट और लाइफस्टाइल के समान जो इंसुलिन सेंसिटिविटी में सुधार कर सकते हैं, वे योग है. नियमित रूप से योग ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करने में मदद कर सकता है.

Blood Sugar को मैनेज करने वाले Insulin ठीक से नहीं कर रहा काम, तो ये Yogasan वाकई करेंगे आपकी मदद

World Diabetes Day 2022: वृक्षासन इंसुलिन सेंसिटिविटी को बढ़ाने में मदद करता है.

खास बातें

  • डाइट और लाइफस्टाइल एडजस्टमेंट करके इस सेंसिटिविटी को बढ़ाया जा सकता है.
  • इंसुलिन शरीर के ब्लड शुगर लेवल के रेगुलेशन में सहायता करता है.
  • नियमित रूप से योग ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करने में मदद कर सकता है.

Yoga Asanas For Diabetes: इंसुलिन सेंसिटिविटी दर्शाती है कि शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन के प्रति कितनी संवेदनशील हैं. हाई इंसुलिन सेंसिटिविटी शरीर की कोशिकाओं के लिए ब्लड शुगर का अधिक कुशलता से उपयोग करना संभव बनाती है, जिससे ब्लड शुगर लेवल कम होता है. कुछ डाइट और लाइफस्टाइल एडजस्टमेंट करके इस सेंसिटिविटी को बढ़ाया जा सकता है.

इंसुलिन नामक एक हार्मोन शरीर के ब्लड शुगर लेवल के रेगुलेशन में सहायता करता है. इंसुलिन सेंसिटिविटी के साथ-साथ डाइट और लाइफस्टाइल कारकों में व्यक्तिगत अंतर सभी इंसुलिन सेंसिटिविटी को प्रभावित कर सकते हैं. डाइट और लाइफस्टाइल के समान जो इंसुलिन सेंसिटिविटी में सुधार कर सकते हैं, वे योग है. नियमित रूप से योग ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करने में मदद कर सकता है.

योग मुद्राएं जो इंसुलिन सेंसिटिविटी को बढ़ाती हैं | Yoga Postures That Increase Insulin Sensitivity

1) पश्चिमोत्तानासन

  • अपने पैरों को अपने सामने सीधा करके बैठ जाएं.
  • इस पोजीशन में आपके पैरों के तलवे सामने की ओर होने चाहिए.
  • धीरे-धीरे अपने धड़ को अपने पैरों के करीब और जहां तक संभव हो ले आएं.
  • आप अपने पैरों को पकड़ने के लिए अपने हाथों का उपयोग कर सकते हैं.
  • इस पोजीशन में आपका पेट और छाती आपकी जांघों को छूने वाली होनी चाहिए.
  • आपका चेहरा सामने की ओर या पैरों की ओर हो सकता है, जो भी सुविधाजनक हो.
  • 10-20 सेकंड के लिए इस स्थिति में रहें और बैक अप बैठें.
  • आप अपनी सुविधा के आधार पर इसे कुछ बार दोहरा सकते हैं.

बालों पर ऑलिव ऑयल लगाने से नहीं आता डैंड्रफ, चमकदार और स्मूद भी बने रहेंगे, जानिए कैसे करें उपयोग

2) भुजंगासन

  • फर्श पर लेट जाएं चेहरा जमीन की ओर करें.
  • अब अपनी हथेलियों को साइड में रखें और धीरे-धीरे अपने धड़ को ऊपर उठाएं.
  • इस बिंदु पर जमीन को छूने वाले शरीर के हिस्से केवल आपकी हथेलियां और निचला शरीर होना चाहिए.
  • 30 सेकंड के लिए इस स्थिति में रहें और छोड़ें.
  • रोजाना 3-4 बार दोहराएं.

3) धनुरासन

  • अपने पैरों को समान रूप से अलग रखें और अपने पेट के बल लेट जाएं.
  • आपकी भुजाएं आपके बगल में रहनी चाहिए.
  • अपने टखने को पकड़कर अपने घुटनों को मोड़ें.
  • गहरी सांस लें और अपनी छाती को फर्श से ऊपर उठाएं.
  • अपने दोनों पैरों को एक साथ पीछे और ऊपर की ओर खींचे.
  • नजर सीधी बनाए रखें.
  • कम से कम पंद्रह सेकंड के लिए इस स्थिति को बनाए रखें.
  • सांस छोड़ते हुए छाती को धीरे-धीरे फर्श पर नीचे करें.
  • अपने टखने को अकेला छोड़कर अपने पैरों को जमीन के करीब लाएं.

किडनी को बुरी तरह डैमेज करती हैं आपकी ये 10 गंदी आदतें, आज से ही छोड़ दें वर्ना जीना हो जाएगा मुश्किल

4) वृक्षासन

  • सीधे खड़े हो जाएं.
  • अपनी आर्म्स को ऊपर उठाएं और उन्हें सीधे छत की ओर पकड़ें.
  • अब अपने दोनों पैरों में से किसी एक को उठाएं और अपने पैरों को दूसरी जांघ पर रखें
  • आप अपने दाहिने पैर को बाएं घुटने पर बाजू पर या उससे जांघ तक कहीं भी रख सकते हैं.
  • आपका पैर आपकी जांघ पर जितना हो सके उतना ऊपर होना चाहिए.
  • 30 सेकंड के लिए इस स्थिति को बनाए रखें और कम से कम 4-5 बार दोहराएं.

5) बालासन

  • अपने पैरों को मोड़कर सीधे बैठ जाएं.
  • इस समय आपके पैर ऊपर की ओर होने चाहिए.
  • अब धीरे-धीरे अपने धड़ को फर्श पर आगे की ओर झुकाएं.
  • इस बिंदु पर जहां तक संभव हो, आपकी भुजाएं भी आगे की ओर फैली हुई होनी चाहिए.
  • आपका चेहरा भी आपकी हथेलियों के साथ-साथ फर्श की ओर होना चाहिए.
  • इस पोजीशन में आपकी पिंडलियां, माथा और हथेलियां जमीन को छूती हुई होनी चाहिए.
  • चूंकि यह केवल आपके शरीर को फैलाता है और एक विश्राम मुद्रा है, यह आराम और विश्राम प्रदान करता है.
  • इस स्थिति में 10-15 सेकेंड तक रुकें और रोजाना 4-5 सेट करें.

वेट लॉस के लिए कौन से बीज को खाना बेहतर, इन 2 बीजों में छिपा है सेहत का खजाना

6) शवासन

  • समतल जमीन पर योगा मैट पर लेट जाएं.
  • अपनी बाहों को एक तरफ रखें और आपकी हथेलियां खुली रहें.
  • आपकी हथेलियां आसमान की ओर होनी चाहिए.
  • आपके पैर आपके कंधों से थोड़े दूर होने चाहिए.
  • इस अवस्था में सांस अंदर और बाहर लें.

7) ताड़ासन

  • अपने पैरों को अपने कंधों के समान दूरी पर रखते हुए सीधे खड़े हो जाएं.
  • अपने हाथों को छत की ओर उठाएं.
  • अपनी हथेलियों को खोलें और जितना हो सके ऊपर की ओर तानें.
  • इस बिंदु पर अपने हाथों को मिलाएं और उन्हें अपनी हथेलियों को छत की ओर करने के लिए मजबूर करें.
  • आपको ऊपर की ओर देखने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है.
  • इस स्ट्रेच को 10 सेकंड तक रोकें और 3-5 बार दोहराएं.
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Featured Video Of The Day

कर्नाटक में हेलीकॉप्टर फैक्ट्री के उद्घाटन बाद क्या बोले PM मोदी?, जानिए