दिमाग को जल्दी 'बूढ़ा' बना देता है डिप्रेशन

हमें हमारे अवसादग्रस्त तथा डिमेन्शिया से पीड़ित बुजुर्गों की मानसिक स्थिति बेहतर बनाए रखने के लिए उनकी सही तरीके से देखभाल करने की जरूरत है...

दिमाग को जल्दी 'बूढ़ा' बना देता है डिप्रेशन

हमारा दिमाग भी उम्र के साथ-साथ चलता है. वह शरीर में उम्र के अनुसार ही बदलाव और अपने काम में भी इसी तरह बदलाव करता है. जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है दिमाग भी 'बूढ़ा' होने लगता है यानी उसके काम में बदलाव आते हैं और उसकी कई कोशिकाएं कमजोर पड़ जाती हैं. लेकिन अगर आप डिप्रेशन में हैं या अवसाद को आपने खुद पर हावी किया है तो आपका दिमाग समय से पहले बूढ़ा हो सकता है. 

जी हां, एक अध्ययन में दावा किया गया है कि अवसाद समय से पहले मस्तिष्क को उम्रदराज बना देता है. अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि वैज्ञानिकों ने पूर्व में बताया था कि अवसाद या एंग्जाइटी से पीड़ित लोगों को उम्र बढ़ने के साथ साथ डिमेन्शिया होने का खतरा बढ़ता जाता है.
 

पैरों को कमजोर कर सकती है स्मोकिंग की आदत...

लंबी उम्र चाहिए तो दिल को रखें स्वस्थ और करें व्यायाम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



उन्होंने कहा कि ‘‘साइकोलॉजिकल मेडिसिन’’ जर्नल में प्रकाशत यह अध्ययन संज्ञानात्मक कार्यकलापों में कमी पर अवसाद के प्रभाव के बारे में व्यापक प्रमाण पेश करता है. ब्रिटेन स्थित ससेक्स विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं ने 34 अध्ययनों की समीक्षा की. इस दौरान उनका मुख्य ध्यान अवसाद या एंग्जाइटी तथा समय के साथ संज्ञानात्मक कार्यकलापों में कमी के बीच संबंध पर था. 

जादू की तरह कम होगा बेली फैट, इस तरह कलौंजी करेगी यह कमाल...

अनुसंधानकर्ताओं ने संज्ञानात्मक कार्यकलापों में वयस्कों में स्मरण क्षमता में कमी, निर्णय लेने तथा सूचना संसाधन संबंधी गति आदि को शामिल किया. ससेक्स विश्वविद्यालय की दारया गाइसिना ने कहा ‘‘यह अध्ययन महत्वपूर्ण है क्योंकि हमारी आबादी के बूढ़़े होने की दर अधिक है. आशंका है कि अगले तीस साल में संज्ञानात्मक कार्यकलापों में कमी वाले तथा डिमेन्शिया से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़ेगी.’’ 

उन्होंने कहा ‘‘हमें हमारे अवसादग्रस्त तथा डिमेन्शिया से पीड़ित बुजुर्गों की मानसिक स्थिति बेहतर बनाए रखने के लिए उनकी सही तरीके से देखभाल करने की जरूरत है ताकि उम्र बढ़ने के दौरान उनके मस्तिष्क की क्षमता पर अधिक असर न हो.’’ 

(इनपुट भाष)
और खबरों के लिए क्लिक करें. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)