Coconut Oil की इन दो किस्मों वर्जिन और कोल्ड प्रेस्ड कोकोनट ऑयल में क्या अंतर है, जानें स्टेप बाई स्टेप

Coconut Oil Types: कोल्ड प्रेस्ड कोकोनट ऑयल और वर्जिन कोकोनट ऑयल में ज्यादातर लोग अंतर समझ नहीं पाते हैं. तो आज हम आपको दोनों कोकोनट ऑयल के बीच का अंतर बताने जा रहे हैं और इनके फायदे भी बताएंगे.

Coconut Oil की इन दो किस्मों वर्जिन और कोल्ड प्रेस्ड कोकोनट ऑयल में क्या अंतर है, जानें स्टेप बाई स्टेप

Coconut Oil: दोनों कोकोनट ऑयल के बीच का अंतर को यहां जानें.

Virgin And Cold Pressed Coconut oil: इन दिनों बाजार में खाने पीने की चीजों में इतनी वैरायटीज हैं जिन्हें देखकर अक्सर हम कंफ्यूज हो जाते हैं. खासतौर पर सुपरमार्केट और ऑनलाइन ग्रॉसरी स्टोर पर एक से बढ़कर एक प्रोडक्ट मौजूद हैं. ऐसे में ये तय कर पाना मुश्किल हो जाता है कि हमारी सेहत के लिए क्या ज्यादा फायदेमंद है. ये तो हम सभी जानते हैं कि कोकोनट ऑयल फायदेमंद है लेकिन ये एक ऐसा प्रोडक्ट है जिसके 2 वर्जन अवेलेबल हैं. पहला रेगुलर या कोल्ड प्रेस्ड कोकोनट ऑयल (Cold Pressed Coconut Oil) और दूसरा वर्जिन कोकोनट ऑयल (Coconut Oil). ज्यादातर लोग इन दोनों ही तेलों के बीच का अंतर समझ नहीं पाते. यही वजह है कि इसे खरीदने में काफी कंफ्यूजन का सामना करना पड़ता है. तो आज हम आपको दोनों कोकोनट ऑयल के बीच का अंतर बताने जा रहे हैं और इनके क्या फायदे भी बताएंगे.

कोल्ड प्रेस्ड कोकोनट ऑयल और वर्जिन कोकोनट ऑयल के बीच ये है अंतर 

1) एक्सट्रैक्शन तरीका

कोल्ड प्रेस्ड कोकोनट ऑयल खोपरा या सूखे नारियल की गिरी से निकाला जाता है, आमतौर पर नारियल को धूप में सुखाने के बाद. जैसा कि नाम से पता चलता है, नारियल को तेल निकालने के लिए दबाया जाता है  जिसके बाद यह तेल इस्तेमाल के लिए तैयार हो जाता है. वहीं वर्जिन कोकोनट ऑयल को ताजे नारियल के दूध से एक्स्ट्रैक्ट किया जाता है और फिर उसे सेटल होने के लिए छोड़ दिया जाता है. इसके लिए ताजे नारियल को पहले बारी कद्दूकस किया जाता है और फिर कोकोनट मिल्क निकालने के लिए उसे मशीन में डाला जाता है.

How To Strong Digestive System: क्या खाने से मजबूत हो जाता है पाचन तंत्र, यहां है 5 चीजों की लिस्ट

2) अपीयरेंस 

कोल्ड-प्रेस्ड और वर्जिन कोकोनट ऑयल दोनों एक जैसे दिखते हैं और इनमें एनर्जी की भी मात्रा समान होती है. किसी भी नारियल के तेल के एक चम्मच में 117 कैलोरी और 13.6 ग्राम फैट होता है, जहां 11.8 ग्राम सेचुरेटेड फैट होता है. अधिकांश कोकोनट ऑयल में फैट मीडियम चेन ट्राइग्लिसराइड्स होते हैं जिनका इस्तेमाल ये आपकी बॉडी में एनर्जी के रूप में करता है, लेकिन हार्ट डिसीज के जोखिम को नहीं बढ़ाता. जबकि दोनों तेलों में मीडियम चेन ट्राइग्लिसराइड्स होते हैं, हाइड्रोजनीकृत कोल्ड-प्रेस्ड तेलों में ट्रांस फैट हो सकता है.

id9i89f8

Photo Credit: iStock

3) स्वास्थ्य लाभ

कोल्ड प्रेस्ड कोकोनट ऑयल की तुलना में वर्जिन कोकोनट ऑयल हमेशा ज्यादा हेल्दी और फायदेमंद होता है. ऐसा इसलिए क्योंकि किसी भी  दूसरे फूड प्रोसेसिंग की तरह, खोपरा को सुखाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली हीट कोल्ड प्रेस्ड कोकोनट ऑयल में एंटीऑक्सीडेंट कंटेंट को कम कर सकती है. इसका मतलब है कि वर्जिन कोकोनट ऑयल में कोल्ड-प्रेस्ड ऑयल की तुलना में अधिक एंटीऑक्सिडेंट और एसेंशियल विटामिन्स होते हैं.

Rajgira Benefits: राजगिरा को अपनी डाइट में शामिल करने से मिलते हैं 5 जबरदस्त फायदे, क्या जानते हैं आप?

4) स्वाद और सुगंध

वर्जिन कोकोनट ऑयल में स्वादिष्ट,  ट्रॉपिक कोकोनट अरोमा और टेस्ट होता है जबकि कोल्ड प्रेस्ड कोकोनट ऑयल में एक न्यूट्रल सेंट और स्वाद होता है.

5) कीमत 

वर्जिन कोकोनट ऑयल एक अधिक महंगा ऑप्शन है, जो सरप्राइज़िंग नहीं है. 1 लीटर ऑयल पाने के लिए   आपको ज्यादा नारियल चाहिए, कोल्ड प्रेस्ड नारियल तेल की तुलना में.

Kalonji Oil Benefits: कलौंजी का तेल देता है ये 5 गजब के फायदे, जानें घर पर कैसे बनाएं ये चमत्कारिक तेल

कोल्ड प्रेस्ड और वर्जिन कोकोनट ऑयल के फायदे:

नारियल तेल का उपयोग बेकिंग, खाना पकाने और शरीर और बालों की देखभाल के लिए किया जा सकता है. कोल्ड-प्रेस्ड नारियल तेल शुद्ध होता है, इसमें सभी पोषण गुण होते हैं और एचडीएल कोलेस्ट्रॉल में सुधार करता है, वजन घटाने में सहायता करता है और त्वचा रोगों को ठीक करता है.  वही वर्जिन कोकोनट ऑयल इम्यूनिटी सिस्टम को स्ट्रांग बनाने,  एनर्जी लेवल इंक्रीज करने और स्ट्रेस लेवल को कम करने में मदद करता है.  इसके अलावा यह हेल्थ और आपके बालों के लिए भी बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.