विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jan 30, 2023

Magh Purnima 2023: आने वाली है माघ पूर्णिमा, जानिए दान, स्नान और पूजा का शुभ मुहूर्त

Magh Purnima Date: माघ मास में माघ पूर्णिमा मनाई जाती है. इस अवसर पर भक्त यमुना, गंगा और सरस्वती नदी के संगम स्थल पर स्नान करते हैं. 

Read Time: 3 mins
Magh Purnima 2023: आने वाली है माघ पूर्णिमा, जानिए दान, स्नान और पूजा का शुभ मुहूर्त
Magh Purnima Kab Hai: जानिए कब है माघ पूर्णिमा. 

Magh Purnima 2023: हिंदू धर्मशास्त्रों के अनुसार माघ पूर्णिमा का अत्यधिक महत्व है. इस पूर्णिमा पर खासतौर से दान, स्नान और पूजा-पाठ की मान्यता है. भक्त माघ पूर्णिमा के दिन मान्यतानुसार गंगा, यमुना और सरस्वती नदी के संगम स्थल पर स्नान करते हैं. इस पूर्णिमा को माघिन पूर्णिमा और माघी पूर्णिमा (Maghi Purnima) भी कहते हैं. धार्मिक मान्यता है कि इस दिन देवतागण पृथ्वी पर भ्रमण करते हैं जिस चलते स्नान-दान (Snan-Daan) करने से वे प्रस्न्न होते हैं. माघ पूर्णिमा के महत्व की बात करें तो इस दिन प्रयागराज में गंगा स्नान (Ganga Snan) करने पर माना जाता है कि देवतागण भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं. इसके साथ ही दान, स्नान और जप करने पर अपने आराध्य का आशीर्वाद भी मिलता है. 

माघ पूर्णिमा शुभ मुहूर्त | Magh Purnima Shubh Muhurt 


पंचांग के अनुसार आने वाली 4 फरवरी के दिन शनिवार रात 9 बजकर 29 मिनट पर माघ पूर्णिमा शुरू हो रही है. वहीं, इसका समापन 5 फरवरी, रविवार रात 11 बजकर 58 मिनट पर होगा. उदयातिथि के अनुसार देंखें तो माघ पूर्णिमा 5 फरवरी के दिन ही मनाई जाएगी. 


5 फरवरी के दिन ही सर्वाद्ध सिद्ध योग की शुरूआत हो रही है. सुबह 7 बजकर 7 मिनट से लेकर 12  बजकर 13 मिनट तक सर्वाद्ध सिद्ध योग रहेगा. इस दिन पुष्य और अश्लेषा नक्षत्र का निर्माण भी हो रहा है जिसे माघ पूर्णिमा के लिए बेहद शुभ मानते हैं. 


माघ पूर्णिमा की पूजा विधि 


सुबह सवेरे उठकर ब्रह्मा मुहूर्त में स्नान किया जाता है. जो लोग गंगा के आस-पास नहीं रहते वे घर पर ही पानी में जल मिलाकर स्नान कर सकते हैं. स्नान के उपरांत "ऊं नमो नारायण:" मंत्र का जाप किया जाता है. इसके बाद सूर्य देव (Surya Dev) का पूजन किया जाता है. सूर्य देव को अर्घ्य देकर पूजा की जाती है. भोग में चरणामृत, पान, रोली, फल, तिल, सुपारी और कुमकुम आदि अर्पित किए जाते हैं. इसके पश्चात आरती और प्रार्थना करते हैं. इस दिन धन की देवी लक्ष्मी का पूजन भी किया जाता है. इसके पश्चात दान किया जा सकता है. 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
ज्येष्ठ पूर्णिमा पर पितृ होंगे प्रसन्न, मिलेगा पितृ दोष से छुटकारा, बड़े बेटे को करने होंगे ये 3 काम
Magh Purnima 2023: आने वाली है माघ पूर्णिमा, जानिए दान, स्नान और पूजा का शुभ मुहूर्त
भगवान विष्णु के प्रिय माह वैशाख में करें ये काम, मिलेगी पितृ दोष से मुक्ति, मां लक्ष्मी का मिलेगा आशीर्वाद
Next Article
भगवान विष्णु के प्रिय माह वैशाख में करें ये काम, मिलेगी पितृ दोष से मुक्ति, मां लक्ष्मी का मिलेगा आशीर्वाद
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;