Akshaya Tritiya 2022: अक्षय तृतीया पर 30 साल बाद बन रहा है शुभ योग, मान्यतानुसार सुख-समृद्धि के लिए किए जाते हैं ये काम

Akshaya Tritiya 2022: ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इस बार अक्षय तृतीया रोहिणी नक्षत्र के शोभन योग में मनाई जाएगी. दरअसल अक्षय तृतीया के दिन यह शुभ योग 30 साल बाद बन रहा है.

Akshaya Tritiya 2022: अक्षय तृतीया पर 30 साल बाद बन रहा है शुभ योग, मान्यतानुसार सुख-समृद्धि के लिए किए जाते हैं ये काम

Akshaya Tritiya 2022: ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक अक्षय तृतीया के दिन ग्रहों का खास संयोग बन रहा है.

Akshaya Tritiya 2022: पंचांग के अनुसार वैशाख मास (Vaishakh) के शुक्ल की तृतीया को अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) कहते हैं. इस बार अक्षय तृतीया 3 मई 2022 को पड़ रही है. ज्योतिष शास्त्र (Astrology) के मुताबिक इस बार अक्षय तृतीया रोहिणी नक्षत्र (Rohini Nakshatra) के शोभन योग में मनाई जाएगी. दरअसल अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2022) के दिन यह शुभ योग 30 साल बाद बन रहा है. ऐसे में ज्योतिष के मुताबिक जानते हैं कि अक्षय तृतीया के दिन ग्रहों के शुभ संयोग (Auspicious Yoga) से कौन सा शुभ योग बन रहा है और इस दिन सुख-समृद्धि के लिए कौन से काम किए जाते हैं.

अक्षय तृतीया के दिन ग्रहों को स्थिति 

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2022) के दिन ग्रहों का खास संयोग बन रहा है. दरअसल इस दिन चंद्रमा (Moon) अपनी उच्च राशि वृषभ (Taurus) में विराजमान रहेंगे. वहीं शुक्र (Venus) अपनी उच्च राशि मीन (Pisces) में विराजमान रहेंगे. इसके अलावा शनि (Shani) कुंभ राशि (Aquarius) में विराजमान रहेंगे, जबकि गुरु मीन राशि (Pisces) में मौजूद रहेंगे. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक चार ग्रहों का अनुकूल स्थिति में होना बेहद खास है. ऐसे में अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2022) के दिन मंगल कार्य करना अच्छा माना जा रहा है. 

अक्षय तृतीया पर किए जाते हैं ये काम

मान्यतानुसार अक्षय तृतीया के दिन 2 कलश का दान करना अत्यंत शुभ होता है. इनमें से एक कलश पितरों के निमित्त और दूसरा भगवान विष्णु के निमित्त माना जाता है. पितर के निमित्त वाले कलश को शुद्ध जल से भरकर उसमें काले तिल और सफेद चंदन और सफेद डालें. साथ ही भगवान विष्णु वाले कलश में जल भरकर उसमें सफेद जौ, पीला फूल, चंदन और पंचामृत मिलाएं. माना जाता है कि ऐसा करने से पितर और भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होती है. जिससे घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)