NEET मेडिकल परीक्षा घोटाले में ₹ 20 लाख में बेची गई हर सीट : CBI सूत्र

इस फर्जीवाड़े को अंजाम देने वाले रैकेट इस रकम के बदले मेडिकल की एक सीट ऑफर की थी, यह रैकेट चार राज्यों में फैला था. सीबीआई ने सोमवार को इस मामले में 8 लोगों की गिरफ्तारी की थी. 

नई दिल्ली:

नीट मेडिकल एग्जाम में फर्जीवाड़े को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. सीबीआई सूत्रों का कहना है कि मेडिकल की 1-1 सीट 20 लाख रुपये में बेची गई. इस फर्जीवाड़े को अंजाम देने वाले रैकेट इस रकम के बदले मेडिकल की एक सीट ऑफर की थी, यह रैकेट चार राज्यों में फैला था. सीबीआई ने सोमवार को इस मामले में 8 लोगों की गिरफ्तारी की थी. जांच एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि हर सीट की कीमत ₹ 20 लाख है जिसमें से पांच लाख रुपये उसे 'बहुरुपिये' को दिए जाते हैं जो स्‍टूडेंट के बजाय परीक्षा में बैठकर NEET (the National Eligibility cum Entrance Test) का प्रश्‍नपत्र सॉल्‍व करता था. शेष राशि बिचौलियों और अन्‍य लोगों के बीच बांटी जाती थी.   

सूत्रों ने बताया कि सीबीआई ने इस मामले में दिल्‍ली से नीट का प्रश्‍नपत्र साल्‍व करने वाले आठ में से छह लोगों की गिरफ्तारी की है.  मामले के मास्‍टरमाइंड सुशील रंजन को सफरदजंग से गिरफ्तार किया था जो सॉल्‍वर्स की नियुक्ति करता था और पेमेंट प्राप्‍त करता था. अधिकारियों के अनुसार रैकेट बिहार, उत्‍तर प्रदेश, महाराष्‍ट्र और हरियाणा में भी सक्रिय है.इस मामले में 11 लोगों को नामजद किया गया है और अन्‍य लोगों की तलाश जारी है.

जांच का दायरा बढ़ाने के लिए सीबीआई जब कैंडिडेट्स से भी बात करेगी, इसमें कोचिंग संस्‍थानों की भूमिका भी जांच के दायरे में आएगी. गौरतलब है कि धोखाधड़ी को रोकने के लिए 'नीट' के लिए सुरक्षा जांच बेहद कड़ी की गई है.  परीक्षा हॉल में पर्स, हैंडबैग, बैल्‍ट, कैप, आभूषण, जैसी चीजों को ले जाने की अनुमति नहीं है.  

* राजस्थान और पंजाब को लेकर खुफिया अलर्ट, ISI और खालिस्तान समर्थक रच रहे हैं साजिश
* उद्धव ठाकरे को झटका : शिवसेना के 12 सांसदों को वाई कैटेगरी की सुरक्षा दी गई
* 'PWD विभाग में इंजीनियरों के तबादले में गड़बड़ी, सीएम योगी ने मंत्री जितिन प्रसाद के OSD को हटाया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कानून की बात; SC ने कहा- राज्यवार घोषित होगा अल्पसंख्यक स्टेटस, बता रहे हैं आशीष भार्गव