झूठे शाहिद अफरीदी का एक और बड़बोला बयान, मैच के बाद इसलिए भारतीय खिलाड़ी माफी मांगा करते थे

साथ ही, अफरीदी (#ShahidAfridi) ने भारत के खिलाफ अपनी सर्वश्रेष्ठ पारी के बारे में कहा कि उनकी बेस्ट पारी साल 1999 में चेन्नई में थी, जब उन्होंने 141 रन बनाए थे. यह पारी इस बात को देखते हुए और भी यादगार हो जाती है कि इस दौरे के लिए उन्हें एक बार को टीम में शामिल भी नहीं किया जा रहा था.

झूठे शाहिद अफरीदी का एक और बड़बोला बयान, मैच के बाद इसलिए भारतीय खिलाड़ी माफी मांगा करते थे

तनातनी के पलों में अफरीदी और गंभीर का फाइल फोटो

खास बातें

  • झूठे अफरीदी का सबूत आपके सामने है!
  • ये अफरीदी कभी नहीं सुधरेगा!
  • कोरोना आया, पर अक्ल नहींं आयी अफरीदी को!
नई दिल्ली:

अब यह तो आप जानते ही हैं कि पाकिस्तानी पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी (#ShahidAfridi) कितने ज्यादा बड़बोले, बुतके बयान देने वाले और झूठे रहे हैं! फर्जी जन्मतिथि की बात किताब में खुद कबूली थी और किताब बेचने के लिए पता नहीं क्या-क्या किताब में लिखा था. कोरोनो से पीड़ित होने से पहले भारत और पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ जहर उगल रहे थे! समीक्षा का ईश्वर ने समय दिया था, लेकिन फितरत नहीं ही  बदली शाहिद अफरीदी (#ShahidAfridi) की!! कोरोना से सही हुए, तो फिर से अपने स्तर पर लौट आए हैं! हाल ही में शाहिद अफरीदी (#ShahidAfridi) ने भारत के खिलाफ अपनी टीम के रिकॉर्ड के बारे में बात की. इस झूठे और बड़बोले अफरीदी ने यू-ट्यूब पर कहा कहा भारत के खिलाफ पाकिस्तान का रिकॉर्ड इतना उदाहरणीय रहा है कि मैच खत्म होने के बाद पड़ोसी खिलाड़ी माफी मांगा करते थे

अफरीदी ने कहा कि मैंने हमेशा ही भारत के खिलाफ लुत्फ उठाया है. हमने उन्हें इतने शानदार ढंग से वास्तव में बहुत ही शानदार अंदाज से हराया है. मेरा मानना है कि हमने उन्हें इतना ज्यादा हराया है कि मैच के बाद उन्होंने हमसे माफी मांगी. अफरीदी बोले कि मैंने हमेशा ही भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लुत्फ उठाया है. इन टीमों के खिलाफ आप ज्यादा दबाव महसूस करते हो. ये अच्छी और बड़ी टीम हैं. उन देशों के हालात में बेहतर करना एक बड़ी बात है. 


साथ ही, अफरीदी ने भारत के खिलाफ अपनी सर्वश्रेष्ठ पारी के बारे में कहा कि उनकी बेस्ट पारी साल 1999 में चेन्नई में थी, जब उन्होंने 141 रन बनाए थे. यह पारी इस बात को देखते हुए और भी यादगार हो जाती है कि इस दौरे के लिए उन्हें एक बार को टीम में शामिल भी नहीं किया जा रहा था.  अफरीदी बोले कि इस दौरे के लिए शुरुआत में मुझे टीम में भी नहीं चुना गया था. ऐसे समय चीफ सेलेक्टर और वसीम भाई ने मेरा बहुत ही ज्यादा समर्थन किया. यह बहुत ही मुश्किल टूर था और वह 141 रन की पारी बहुत ही अहम थी.

वैसे शाहिद अफरीदी कितने बड़े झूठे हैं, यह आप इससे समझ सकते हैं कि उनके पाकिस्तान के लिए पहला मैच खेलने से संन्यास तक पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ कुल 105 मैच खेले. इनमें 15 टेस्ट, 82 वनडे और 8 टी20 मुकाबले हैं. और इसमें भारत का रिकॉर्ड कहीं ज्यादा बेहतर 51-47 का है. इनमें से पांच मैच ड्रॉ छूटे, जबकि दो मैच में परिणाम नहीं निकला. ऐसे में किसने किसको कितना हराया, यह आंकड़ों से समझा जा सकता है. और यह भी अफरीदी कितने बड़े झूठे हैं. 

वहीं अब उनके डेब्यू से लेकर भारत के खिलाफ ऐसे मैचों की बात कर लेते हैं, जिसमें वह पाकिस्तानी टीम का हिस्सा रहे. ऐसे मैचों में वह 8 टेस्ट मैच भारत के खिलाफ खेले. इनमें 4 टेस्ट पाकिस्तान जीता, तो 2 भारत. दो टेस्ट ड्रॉ रहे. वहीं वह 67 वनडे में भारत के खिलाफ खेले. इनमें 36 में पाकिस्तान जीता, तो 29 में भारत और 2 में कोई रिजल्ट नहीं निकला. ऐसे में 7 मैचों की हार का अंतर अफरीदी के शब्दों से तो बिल्कुल मेल नहीं खाता कि भारतीय खिलाड़ी वह सब करेंगे, जो वह कह रहे हैं.

वहीं टी-20 मैचों की बात करें तो उन्होंने भारत के खिलाफ 8 मैच खेले. इनमें पाकिस्तान सिर्फ 1 मैच जीता, 6 में उसे हार मिली और 1 टाई हो गया. इस रिकॉर्ड को देखते हुए तो यही लगता है कि भारतीय नहीं बल्कि मैच  के बाद पाकिस्तानी माफी मांगते होंगे

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

VIDEO: कुछ दिन पहले विराट कोहली ने अपने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी.