कुशीनगर में अनोखी शादी, हिन्दुस्तानी दूल्हे ने रशियन दुल्हन के साथ लिए सात फेरे, शादी में शामिल हुए चार देशों के बाराती

कुशीनगर के रहने वाले डॉ. दीपक सिंह से ब्याह रचाने जब रशिया की ज़ोया दुल्हन बनकर पहुंची तो हर कोई हैरान रह गया.

कुशीनगर में अनोखी शादी, हिन्दुस्तानी दूल्हे ने रशियन दुल्हन के साथ लिए सात फेरे, शादी में शामिल हुए चार देशों के बाराती

कुशीनगर में अनोखी शादी, हिन्दुस्तानी दूल्हे ने रशियन दुल्हन के साथ लिए सात फेरे

कुशीनगर (Kushinagar) में एक ऐसी शादी सुर्खियों में है, जिसमें सरहदों की दीवारें गिर गईं और ये साबित कर दिया कि प्यार सच्चा है, तो मजहब और सरहदीं पहरों का कोई मतलब नहीं. दुल्हन जो कि रुस की जोया हैं और दूल्हा कुशीनगर के दीपक हैं. ये दोनों मेडिकल की पढ़ाई साथ में कर रहे थे. कुशीनगर के रहने वाले डॉ. दीपक सिंह से ब्याह रचाने जब रशिया की ज़ोया दुल्हन बनकर पहुंची तो हर कोई हैरान रह गया. क्योंकि जिले में ऐसा पहली बार हुआ है, जब कोई सरहद पार की दुल्हन खुद हिन्दुस्तानी बनने के लिए विदेश से आई है. 

kum2rpno

कुशीनगर के मंगलपुर गांव के रहने वाले दीपक मेडिकल की पढ़ाई के लिए ऑस्ट्रिया पहुंचे थे, जहां जोया जो अब डॉ. जया सिंह बन चुकी हैं, उनसे आंखें चार हुईं. नजदीकियां बढ़ीं और फिर प्यार के आगे सरहदों की दीवारें छोटी पड़ गईं. 

knbvu0s

ऑस्ट्रिया के एलेनिया स्टेट की रहने वालीं जोया ने जब सबकुछ छोड़ दीपक के साथ जाना तय किया तो फिर दीपक ने भी आगे बढ़कर जोया का हाथ थाम लिया. दिलचस्प बात यह रही कि दूल्हा-दुल्हन तो हिन्दुस्तानी और रशियन रहे, मगर दुल्हन का साथ देने पहुंचे इजरायल के रहने वाले उनके दोस्त डेनियल अल्फांसो, जो हिन्दुस्तानी वेडिंग के मुरीद हो गए.

6ssuvqj
mcfqis9g

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उज्‍जैन जिले में भारी बारिश के बीच पुलिया से जीप बही