ब्रिटिश पीएम ऋषि सुनक ने गृह मंत्री सुएला ब्रेवरमैन को हटाया, अपनी ही पुलिस के खिलाफ दिया था बयान

भारतीय मूल की सुएला ब्रेवरमैन ने हाल ही में कई विवादित बयान दिए थे. इसका बाद सुनक की कंजर्वेटिव पार्टी के अंदर से ही कई दिनों से यह मांग उठ रही थी कि सुएला की बयानबाजी ब्रिटेन की मिडिल ईस्ट पॉलिसी के खिलाफ है.

ब्रिटिश पीएम ऋषि सुनक ने गृह मंत्री सुएला ब्रेवरमैन को हटाया, अपनी ही पुलिस के खिलाफ दिया था बयान

ब्रिटेन के पीएम ऋषि सुनक ने सुएला ब्रेवरमैन को किया बर्खास्त

खास बातें

  • PM ऋषि सुनक ने जेम्स क्लेवर्ली को बनाया नया गृह मंत्री
  • पूर्व पीएम डेविड कैमरॉन को मिली विदेश मंत्रालय की जिम्मेदारी
  • ब्रिटेन में फ्रीडम ऑफ स्पीच पर दिया जाता है काफी जोर
नई दिल्ली/लंदन:

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक (UK PM Rishi Sunak) ने अपने गृहमंत्री (होम सेक्रेटरी) सुएला ब्रेवरमैन (Suella Braverman) को बर्खास्त कर दिया है. अब तक विदेश मंत्रालय देख रहे जेम्स क्लेवर्ली (James Cleverly) को नया गृह मंत्री बनाया गया है. वहीं, पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरॉन ( David Cameron)को विदेश मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है. समाचार एजेंसी 'रॉयटर्स' की रिपोर्ट के मुताबिक, सुएला ब्रेवरमैन ने हाल ही में फिलिस्तीनी समर्थक प्रदर्शनकारियों के प्रति पुलिस की रणनीति की आलोचना की थी. माना जा रहा है की पीएम सुनक ने इसपर एक्शन लिया है.

रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय मूल की सुएला ब्रेवरमैन ने पिछले हफ्ते शनिवार को हुए एक प्रोटेस्ट मार्च को संभालने के पुलिस के तरीके की आलोचना की थी. दरअसल, फिलिस्तीन के समर्थन में एक रैली के दौरान भीड़ ने पुलिस पर भी हमला कर दिया था. इसके बाद सुनक कैबिनेट के कई मंत्रियों और पार्टी मेंबर्स ने सुएला से जवाब मांगा, तो उन्होंने इसे पुलिस की नाकामी बता दिया. इसके बाद एक प्रतिष्ठित अखबार में सुएला का एक आर्टिकल भी पब्लिश हुआ था, जिसने पीएम ऋषि सुनक की मुश्किलें बढ़ा दी थी.

आर्म्ड फोर्सेस मिनिस्टर जेम्स हेपे ने इस पर नाराजगी जताई थी. उन्होंने कहा- "होम सेक्रेटरी अखबार में आर्टिकल लिख रही हैं. अपनी ही पुलिस को निशाना बना रही हैं. उनके बयानों की वजह से हिंसक झड़पें हो रही हैं. इससे ब्रिटेन में कम्युनिटी टेंशन बढ़ रहा है." 

झड़प के बाद 140 से ज्यादा लोग हुए थे गिरफ्तार
उस दौरान दूर-दराज के प्रति-प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ झड़प के बाद 140 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया था. आलोचकों ने कहा कि उनके रुख ने तनाव बढ़ाने और दक्षिणपंथी प्रदर्शनकारियों को लंदन की सड़कों पर उतरने के लिए प्रोत्साहित करने में मदद की, जिससे सुनक पर कार्रवाई करने का दबाव पड़ा.

सुएला ब्रेवरमैन ने दिए थे और भी विवादित बयान
भारतीय मूल की सुएला ब्रेवरमैन ने हाल ही में कई विवादित बयान दिए थे. इसका बाद सुनक की कंजर्वेटिव पार्टी के अंदर से ही कई दिनों से यह मांग उठ रही थी कि सुएला की बयानबाजी ब्रिटेन की मिडिल ईस्ट पॉलिसी के खिलाफ है. आरोप हैं कि सुएला अभिव्यक्ति की आजादी को दबाने की कोशिश कर रही हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सुनक कैबिनेट में आगे भी फेरबदल की उम्मीद
उम्मीद है कि पीएम ऋषि सुनक आने वाले कुछ दिनों में अपने कैबिनेट में कुछ और फेरबदल करेंगे. ऐसी चर्चा है कि सुनक कैबिनेट में अपने सहयोगियों को लाएंगे और कुछ मंत्रियों को हटाएंगे. डाउनिंग स्ट्रीट ऑफिस (यूके पीएम का ऑफिस) का कहना है कि वे मंत्री अपने विभागों में उतना अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं, जितना पीएम सुनक चाहते थे.