विज्ञापन

Farmers Chakka Jam

'Farmers Chakka Jam' - 18 News Result(s)
  • राज्यपाल सत्यपाल मलिक को किसानों और सरकार के बीच मध्यस्थता के लिए आगे आना चाहिए : नरेश टिकैत

    राज्यपाल सत्यपाल मलिक को किसानों और सरकार के बीच मध्यस्थता के लिए आगे आना चाहिए : नरेश टिकैत

    बुधवार को भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत अपने सैकड़ों समर्थकों समेत गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे. यहां धरने पर बैठे किसानों से मुलाकात कर मेघालय के राज्यपाल और बीजेपी नेता सत्यपाल मलिक की खूब तारीफ की. उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से उन्हें मध्यस्थता करनी चाहिए. किसान उनकी बात जरूर मानेंगे.

  • 'अब ट्रैक्टर क्रांति करेंगे', राकेश टिकैत का आह्वान; 26 जनवरी की हिंसा के आरोपियों के फोटो जारी : 10 अहम बातें

    'अब ट्रैक्टर क्रांति करेंगे', राकेश टिकैत का आह्वान; 26 जनवरी की हिंसा के आरोपियों के फोटो जारी : 10 अहम बातें

    भारतीय किसान यूनियन के नेता राकैश टिकैत ने चक्का जाम के बाद अब देशभर के किसानों से ‘‘ट्रैक्टर क्रांति’’ में शामिल होने का आह्वान किया है. गाजीपुर प्रदर्शनस्थल पर टिकैत ने समर्थकों को संबोधित करने के दौरान किसान समुदाय से संपर्क साधने की कोशिश की, जिनमें से अधिकतर, खासकर दिल्ली-एनसीआर, के किसान 10 साल से अधिक पुराने ट्रैक्टर समेत डीज़ल से चलने वाली गाड़ियों पर प्रतिबंध के राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) के फैसले से खफा हैं. इस बीच दिल्ली पुलिस ने कृषि कानून के विरोध में बीते 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च के दौरान हुई हिंसा के मामले में धरपकड़ तेज करते हुए आरोपियों की तस्वीरें जारी की हैं.

  • चक्का जाम सफल होने पर किसानों ने ली राहत की सांस, जाम में फंसे लोगों को खिलाया खाना

    चक्का जाम सफल होने पर किसानों ने ली राहत की सांस, जाम में फंसे लोगों को खिलाया खाना

    किसानों के किसी ग्रुप ने जबरन चक्का जाम करने की कोशिश नहीं की. इस बीच, खुद राकेश टिकैत ने पुलिस के कांटों के बदले फूल लगाने की मिसाल से किसानों का रवैया उजागर किया. किसानों ने चक्का जाम के दौरान एंबुलेंस को आने जाने का रास्ता दिया, जैसे ही 3 बजे किसानों ने हार्न बजाकर अपना चक्का जाम खत्म कर दिया. अब किसान संगठन इस बात को लेकर राहत की सांस ले रहे हैं कि चक्का जाम में 26 जनवरी जैसे हालात नहीं बने और ये संदेश भी गया कि किसान शांतिपूर्ण तरीके से ही आंदोलन कर रहे हैं.

  • दिल्ली की तीन सीमाओं पर स्थित विरोध स्थलों पर फिर से इंटरनेट सेवाएं अस्थायी रूप से निलंबित

    दिल्ली की तीन सीमाओं पर स्थित विरोध स्थलों पर फिर से इंटरनेट सेवाएं अस्थायी रूप से निलंबित

    एक अन्य अधिकारी ने बताया कि शनिवार को किसान यूनियनों के ‘चक्का जाम’ के आह्वान के मद्देनजर इंटरनेट सेवाएं निलंबित की गई हैं. इससे पहले सिंघू, गाजीपुर और टीकरी सीमाओं और इनके आसपास के इलाकों में 29 जनवरी की रात 11 बजे से 31 जनवरी की रात 11 बजे तक इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने के आदेश दिये गये थे. बाद में इंटरनेट सेवाओं के निलंबन की अवधि को दो फरवरी तक बढ़ा दिया गया था. गौरतलब है कि किसानों की ‘‘ट्रैक्टर परेड’’ के दौरान व्यापक पैमाने पर हुई हिंसा के कारण 26 जनवरी को दिल्ली के कुछ हिस्सों में इंटरनेट सेवाओं को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया था.

  • 'मांगें माने जाने तक किसान घरों को नहीं लौटेंगे', चक्का जाम खत्म होते ही बोले राकेश टिकैत 

    'मांगें माने जाने तक किसान घरों को नहीं लौटेंगे', चक्का जाम खत्म होते ही बोले राकेश टिकैत 

    Kisan Chakkajam : पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर ही नहीं तेलंगाना, केरल, कर्नाटक, से लेकर बंगाल तक किसानों के चक्काजाम का ऐलान का असर दिखा. राजमार्ग पर किसानों का हुजूम उमड़ा. यूपी, उत्तराखंड और दिल्ली में चक्काजाम नहीं करने का निर्णय़ था.

  • चक्का जाम : किसानों को रोकने के लिए गाजीपुर बॉर्डर पर स्पेशल इंतजाम, VIDEO देखकर रह जाएंगे दंग

    चक्का जाम : किसानों को रोकने के लिए गाजीपुर बॉर्डर पर स्पेशल इंतजाम, VIDEO देखकर रह जाएंगे दंग

    किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है. पुलिस ने किसानों को दिल्ली में आने से रोकने के लिए बैरिकेडिंग समेत अन्य व्यवस्था करके कई सुरक्षा लेयर तैयार की है. दिल्ली के अंदर और बाहर बॉर्डर पर कड़े सुरक्षा इतंजाम किए गए.

  • खत्म हुआ किसानों का 3 घंटे का देशव्यापी 'चक्का जाम', दिल्ली में पुख्ता रही सुरक्षा व्यवस्था 

    खत्म हुआ किसानों का 3 घंटे का देशव्यापी 'चक्का जाम', दिल्ली में पुख्ता रही सुरक्षा व्यवस्था 

    शनिवार को आयोजित किसानों का चक्का जाम अब खत्म हो गया. किसान संगठनों ने कहा था कि तीन बजे हॉर्न बजाकर विरोध प्रदर्शन को समाप्त किया जाएगा. विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारी किसानों ने पलवल हाईवे समेत कई अन्य राजमार्गों को जाम कर दिया था. तितरम मोड़ पर हजारों की संख्या में पहुंचे किसानों ने नेशनल हाइवे को जाम कर दिया. किसानों ने कहा कि जब तक कृषि कानून वापस नहीं होते तब तक आंदोलन जारी रहेगा.

  • दिल्ली: घर से निकलने से पहले पढ़ लें ये खबर- आज बंद हैं ये मेट्रो स्टेशन! 

    दिल्ली: घर से निकलने से पहले पढ़ लें ये खबर- आज बंद हैं ये मेट्रो स्टेशन! 

    डीएमआरसी ने बताया है कि सुरक्षा कारणों से मंडी हाउस, आईटीओ, केंद्रीय सचिवालय, दिल्ली गेट, विश्वविद्यालय, लाल किला, जामा मस्जिद, जनपथ,  नेहरू प्लेस और खान मार्केट मेट्रो स्टेशन्स को बंद कर दिया गया है. इन स्टेशनों के प्रवेश द्वार और निकास द्वार को बंद कर दिया गया है. हालांकि मेट्रो का परिचलान जारी रहेगा.

  • 'तीसरी आंख' से किसानों के चक्का जाम पर नजर रख रही दिल्ली पुलिस, देखें वीडियो

    'तीसरी आंख' से किसानों के चक्का जाम पर नजर रख रही दिल्ली पुलिस, देखें वीडियो

    Chakka Jam Farmers Protest: दिल्ली पुलिस के आयुक्त एस. एन. श्रीवास्तव ने भी वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की और सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की है. अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों के खिलाफ सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर पुलिस नजर रखेगी.

  • देशभर में किसानों का 'चक्का जाम', लाल किला- ITO समेत कई मेट्रो स्टेशनों के दरवाजे बंद; 10 बड़ी बातें

    देशभर में किसानों का 'चक्का जाम', लाल किला- ITO समेत कई मेट्रो स्टेशनों के दरवाजे बंद; 10 बड़ी बातें

    कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है. किसान संगठनों ने आज यानी शनिवार को चक्का जाम (Chakka Jam) का ऐलान किया है. किसानों के चक्का जाम के मद्देनजर दिल्ली बॉर्डर पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है. 26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा के बाद पुलिस बिल्कुल भी ढिलाई बरतने के मूड में नहीं है. दिल्ली की तीन सीमाओं- सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर- जहां किसान प्रदर्शन कर रहे हैं, पुलिस ने कई लेयर की सुरक्षा व्यवस्था कर रखी है. किसान संगठनों का चक्का जाम दोपहर 12 बजे से तीन बजे चलेगा. दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश और उत्तरांखड में भी चक्का जाम नहीं होगा.

  • Kisan Andolan LIVE Updates: 'चक्का जाम' खत्म, किसानों ने चाय-खाना खिलाकर लोगों से मांगी माफी

    Kisan Andolan LIVE Updates: 'चक्का जाम' खत्म, किसानों ने चाय-खाना खिलाकर लोगों से मांगी माफी

    Chakka Jam LIVE Updates: किसानों ने दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड को छोड़कर देशभर में राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों पर दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक चक्का जाम किया. इमरजेंसी और आवश्यक सेवाओं जैसे एम्बुलेंस, स्कूल बस आदि को रोक नहीं गया.

  • चक्‍काजाम: दिल्‍ली पुलिस का DMRC को लेटर, 'जरूरत पड़ी तो शॉर्ट नोटिस पर ये 12 मेट्रो स्‍टेशन बंद करने के लिए रहें तैयार..'

    चक्‍काजाम: दिल्‍ली पुलिस का DMRC को लेटर, 'जरूरत पड़ी तो शॉर्ट नोटिस पर ये 12 मेट्रो स्‍टेशन बंद करने के लिए रहें तैयार..'

    Farmer's Protestरू गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्‍टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद पुलिस कोई भी जोखिम नहीं उठाना चाहती है. यही कारण है कि डीसीपी नई दिल्ली ने दिल्‍ली मेट्रो रेल कारपोरेशन (DMRC) को लेटर लिखकर जरूरत पड़ने पर शार्ट नोटिस पर 12 मेट्रो स्टेशन को बंद करने के लिए तैयार रहने को कहा है. किसानों के चक्काजाम को लेकर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने पुख्ता इंतजाम किए हैं.

  • Farmer's Protest: चक्‍काजाम के दौरान 'क्‍या करें और क्‍या नहीं', संयुक्‍त किसान मोर्चा ने जारी किए जरूरी दिशानिर्देश..

    Farmer's Protest: चक्‍काजाम के दौरान 'क्‍या करें और क्‍या नहीं', संयुक्‍त किसान मोर्चा ने जारी किए जरूरी दिशानिर्देश..

    Farmer's Protest: दिशानिर्देशों के अनुसार, देशभर में राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक जाम किया जाएगा लेकिन इस दौरान इमरजेंसी और आवश्यक सेवाओं जैसे एम्बुलेंस, स्कूल बस आदि को नहीं रोका जाएगा. चक्का जाम पूरी तरह से शांतिपूर्ण और अहिंसक रहेगा.  प्रदर्शनकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे इस कार्यक्रम के दौरान किसी भी अधिकारी, कर्मचारी या आम नागरिक के साथ किसी भी तरह के टकराव में शामिल न हो.

  • किसान आंदोलन: गाजीपुर बॉर्डर पर जहां पुलिस ने की थी 'कीलबंदी', वहां राकेश टिकैत ने लगाए फूल..

    किसान आंदोलन: गाजीपुर बॉर्डर पर जहां पुलिस ने की थी 'कीलबंदी', वहां राकेश टिकैत ने लगाए फूल..

    Farmer's Protest: किसान और सरकार अपनी-अपनी रणनीति के मुताबिक चल रहे हैं. सरकार जहां किसान आंदोलन की घेराबंदी करके इनको थकाना चाहती है वहीं किसान नेता किसानों को आराम देकर आंदोलन को मजबूत करने की रणनीति बना रहे हैं.

  • दिल्ली, यूपी और उत्तराखंड को छोड़कर बाकी समूचे भारत में 6 फरवरी को चक्का जाम : राकेश टिकैत

    दिल्ली, यूपी और उत्तराखंड को छोड़कर बाकी समूचे भारत में 6 फरवरी को चक्का जाम : राकेश टिकैत

    कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत किसानों ने शनिवार को चक्का जाम का आह्वान किया है. किसान यूनियन ने कहा कि दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड को छोड़कर शेष सभी राजमार्गों पर चक्का किया जाएगा. वहीं, राकेश टिकैत ने कहा कि जो लोग यहां नहीं आ पाए वो अपने-अपने जगहों पर कल चक्का जाम शांतिपूर्ण तरीके से करेंगे.

'Farmers Chakka Jam' - 42 Video Result(s)
'Farmers Chakka Jam' - 18 News Result(s)
  • राज्यपाल सत्यपाल मलिक को किसानों और सरकार के बीच मध्यस्थता के लिए आगे आना चाहिए : नरेश टिकैत

    राज्यपाल सत्यपाल मलिक को किसानों और सरकार के बीच मध्यस्थता के लिए आगे आना चाहिए : नरेश टिकैत

    बुधवार को भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत अपने सैकड़ों समर्थकों समेत गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे. यहां धरने पर बैठे किसानों से मुलाकात कर मेघालय के राज्यपाल और बीजेपी नेता सत्यपाल मलिक की खूब तारीफ की. उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से उन्हें मध्यस्थता करनी चाहिए. किसान उनकी बात जरूर मानेंगे.

  • 'अब ट्रैक्टर क्रांति करेंगे', राकेश टिकैत का आह्वान; 26 जनवरी की हिंसा के आरोपियों के फोटो जारी : 10 अहम बातें

    'अब ट्रैक्टर क्रांति करेंगे', राकेश टिकैत का आह्वान; 26 जनवरी की हिंसा के आरोपियों के फोटो जारी : 10 अहम बातें

    भारतीय किसान यूनियन के नेता राकैश टिकैत ने चक्का जाम के बाद अब देशभर के किसानों से ‘‘ट्रैक्टर क्रांति’’ में शामिल होने का आह्वान किया है. गाजीपुर प्रदर्शनस्थल पर टिकैत ने समर्थकों को संबोधित करने के दौरान किसान समुदाय से संपर्क साधने की कोशिश की, जिनमें से अधिकतर, खासकर दिल्ली-एनसीआर, के किसान 10 साल से अधिक पुराने ट्रैक्टर समेत डीज़ल से चलने वाली गाड़ियों पर प्रतिबंध के राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) के फैसले से खफा हैं. इस बीच दिल्ली पुलिस ने कृषि कानून के विरोध में बीते 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च के दौरान हुई हिंसा के मामले में धरपकड़ तेज करते हुए आरोपियों की तस्वीरें जारी की हैं.

  • चक्का जाम सफल होने पर किसानों ने ली राहत की सांस, जाम में फंसे लोगों को खिलाया खाना

    चक्का जाम सफल होने पर किसानों ने ली राहत की सांस, जाम में फंसे लोगों को खिलाया खाना

    किसानों के किसी ग्रुप ने जबरन चक्का जाम करने की कोशिश नहीं की. इस बीच, खुद राकेश टिकैत ने पुलिस के कांटों के बदले फूल लगाने की मिसाल से किसानों का रवैया उजागर किया. किसानों ने चक्का जाम के दौरान एंबुलेंस को आने जाने का रास्ता दिया, जैसे ही 3 बजे किसानों ने हार्न बजाकर अपना चक्का जाम खत्म कर दिया. अब किसान संगठन इस बात को लेकर राहत की सांस ले रहे हैं कि चक्का जाम में 26 जनवरी जैसे हालात नहीं बने और ये संदेश भी गया कि किसान शांतिपूर्ण तरीके से ही आंदोलन कर रहे हैं.

  • दिल्ली की तीन सीमाओं पर स्थित विरोध स्थलों पर फिर से इंटरनेट सेवाएं अस्थायी रूप से निलंबित

    दिल्ली की तीन सीमाओं पर स्थित विरोध स्थलों पर फिर से इंटरनेट सेवाएं अस्थायी रूप से निलंबित

    एक अन्य अधिकारी ने बताया कि शनिवार को किसान यूनियनों के ‘चक्का जाम’ के आह्वान के मद्देनजर इंटरनेट सेवाएं निलंबित की गई हैं. इससे पहले सिंघू, गाजीपुर और टीकरी सीमाओं और इनके आसपास के इलाकों में 29 जनवरी की रात 11 बजे से 31 जनवरी की रात 11 बजे तक इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने के आदेश दिये गये थे. बाद में इंटरनेट सेवाओं के निलंबन की अवधि को दो फरवरी तक बढ़ा दिया गया था. गौरतलब है कि किसानों की ‘‘ट्रैक्टर परेड’’ के दौरान व्यापक पैमाने पर हुई हिंसा के कारण 26 जनवरी को दिल्ली के कुछ हिस्सों में इंटरनेट सेवाओं को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया था.

  • 'मांगें माने जाने तक किसान घरों को नहीं लौटेंगे', चक्का जाम खत्म होते ही बोले राकेश टिकैत 

    'मांगें माने जाने तक किसान घरों को नहीं लौटेंगे', चक्का जाम खत्म होते ही बोले राकेश टिकैत 

    Kisan Chakkajam : पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर ही नहीं तेलंगाना, केरल, कर्नाटक, से लेकर बंगाल तक किसानों के चक्काजाम का ऐलान का असर दिखा. राजमार्ग पर किसानों का हुजूम उमड़ा. यूपी, उत्तराखंड और दिल्ली में चक्काजाम नहीं करने का निर्णय़ था.

  • चक्का जाम : किसानों को रोकने के लिए गाजीपुर बॉर्डर पर स्पेशल इंतजाम, VIDEO देखकर रह जाएंगे दंग

    चक्का जाम : किसानों को रोकने के लिए गाजीपुर बॉर्डर पर स्पेशल इंतजाम, VIDEO देखकर रह जाएंगे दंग

    किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है. पुलिस ने किसानों को दिल्ली में आने से रोकने के लिए बैरिकेडिंग समेत अन्य व्यवस्था करके कई सुरक्षा लेयर तैयार की है. दिल्ली के अंदर और बाहर बॉर्डर पर कड़े सुरक्षा इतंजाम किए गए.

  • खत्म हुआ किसानों का 3 घंटे का देशव्यापी 'चक्का जाम', दिल्ली में पुख्ता रही सुरक्षा व्यवस्था 

    खत्म हुआ किसानों का 3 घंटे का देशव्यापी 'चक्का जाम', दिल्ली में पुख्ता रही सुरक्षा व्यवस्था 

    शनिवार को आयोजित किसानों का चक्का जाम अब खत्म हो गया. किसान संगठनों ने कहा था कि तीन बजे हॉर्न बजाकर विरोध प्रदर्शन को समाप्त किया जाएगा. विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारी किसानों ने पलवल हाईवे समेत कई अन्य राजमार्गों को जाम कर दिया था. तितरम मोड़ पर हजारों की संख्या में पहुंचे किसानों ने नेशनल हाइवे को जाम कर दिया. किसानों ने कहा कि जब तक कृषि कानून वापस नहीं होते तब तक आंदोलन जारी रहेगा.

  • दिल्ली: घर से निकलने से पहले पढ़ लें ये खबर- आज बंद हैं ये मेट्रो स्टेशन! 

    दिल्ली: घर से निकलने से पहले पढ़ लें ये खबर- आज बंद हैं ये मेट्रो स्टेशन! 

    डीएमआरसी ने बताया है कि सुरक्षा कारणों से मंडी हाउस, आईटीओ, केंद्रीय सचिवालय, दिल्ली गेट, विश्वविद्यालय, लाल किला, जामा मस्जिद, जनपथ,  नेहरू प्लेस और खान मार्केट मेट्रो स्टेशन्स को बंद कर दिया गया है. इन स्टेशनों के प्रवेश द्वार और निकास द्वार को बंद कर दिया गया है. हालांकि मेट्रो का परिचलान जारी रहेगा.

  • 'तीसरी आंख' से किसानों के चक्का जाम पर नजर रख रही दिल्ली पुलिस, देखें वीडियो

    'तीसरी आंख' से किसानों के चक्का जाम पर नजर रख रही दिल्ली पुलिस, देखें वीडियो

    Chakka Jam Farmers Protest: दिल्ली पुलिस के आयुक्त एस. एन. श्रीवास्तव ने भी वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की और सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की है. अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों के खिलाफ सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर पुलिस नजर रखेगी.

  • देशभर में किसानों का 'चक्का जाम', लाल किला- ITO समेत कई मेट्रो स्टेशनों के दरवाजे बंद; 10 बड़ी बातें

    देशभर में किसानों का 'चक्का जाम', लाल किला- ITO समेत कई मेट्रो स्टेशनों के दरवाजे बंद; 10 बड़ी बातें

    कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है. किसान संगठनों ने आज यानी शनिवार को चक्का जाम (Chakka Jam) का ऐलान किया है. किसानों के चक्का जाम के मद्देनजर दिल्ली बॉर्डर पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है. 26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा के बाद पुलिस बिल्कुल भी ढिलाई बरतने के मूड में नहीं है. दिल्ली की तीन सीमाओं- सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर- जहां किसान प्रदर्शन कर रहे हैं, पुलिस ने कई लेयर की सुरक्षा व्यवस्था कर रखी है. किसान संगठनों का चक्का जाम दोपहर 12 बजे से तीन बजे चलेगा. दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश और उत्तरांखड में भी चक्का जाम नहीं होगा.

  • Kisan Andolan LIVE Updates: 'चक्का जाम' खत्म, किसानों ने चाय-खाना खिलाकर लोगों से मांगी माफी

    Kisan Andolan LIVE Updates: 'चक्का जाम' खत्म, किसानों ने चाय-खाना खिलाकर लोगों से मांगी माफी

    Chakka Jam LIVE Updates: किसानों ने दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड को छोड़कर देशभर में राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों पर दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक चक्का जाम किया. इमरजेंसी और आवश्यक सेवाओं जैसे एम्बुलेंस, स्कूल बस आदि को रोक नहीं गया.

  • चक्‍काजाम: दिल्‍ली पुलिस का DMRC को लेटर, 'जरूरत पड़ी तो शॉर्ट नोटिस पर ये 12 मेट्रो स्‍टेशन बंद करने के लिए रहें तैयार..'

    चक्‍काजाम: दिल्‍ली पुलिस का DMRC को लेटर, 'जरूरत पड़ी तो शॉर्ट नोटिस पर ये 12 मेट्रो स्‍टेशन बंद करने के लिए रहें तैयार..'

    Farmer's Protestरू गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्‍टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद पुलिस कोई भी जोखिम नहीं उठाना चाहती है. यही कारण है कि डीसीपी नई दिल्ली ने दिल्‍ली मेट्रो रेल कारपोरेशन (DMRC) को लेटर लिखकर जरूरत पड़ने पर शार्ट नोटिस पर 12 मेट्रो स्टेशन को बंद करने के लिए तैयार रहने को कहा है. किसानों के चक्काजाम को लेकर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने पुख्ता इंतजाम किए हैं.