विज्ञापन
Story ProgressBack

संसद से पारित नए आपराधिक कानूनों के खिलाफ याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट से तीन नए भारतीय आपराधिक कानूनों भारतीय न्याय (द्वितीय) संहिता, भारतीय नागरिक सुरक्षा (द्वितीय) संहिता और भारतीय साक्ष्य (द्वितीय) के क्रियान्‍वयन पर रोक लगाने का अनुरोध किया गया है.

Read Time: 2 mins
संसद से पारित नए आपराधिक कानूनों के खिलाफ याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट
जनहित याचिका में कहा गया है कि इन विधेयकों को संसद में बिना चर्चा के पारित किया गया था. (फाइल)
नई दिल्ली:

उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) भारतीय आपराधिक कानूनों (Indian criminal laws) में व्यापक संशोधन वाले तीन नये कानूनों के अधिनियमन को चुनौती देने वाली एक याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा. पुराने कानूनों में विभिन्न प्रकार के ‘‘दोषों और विसंगतियों'' के मद्देनजर आपराधिक कानूनों में बदलाव की मांग की जाती रही है. न्यायमूर्ति बेला एम त्रिवेदी और न्यायमूर्ति पंकज मिथल की अवकाशकालीन पीठ इस मामले की सुनवाई कर सकती है. 

लोकसभा ने पिछले साल 21 दिसंबर को तीन प्रमुख कानूनों - भारतीय न्याय (द्वितीय) संहिता, भारतीय नागरिक सुरक्षा (द्वितीय) संहिता और भारतीय साक्ष्य (द्वितीय) विधेयक को पारित किया था. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 25 दिसंबर को इन विधेयकों पर अपनी मुहर लगा दी थी. 

ये नये कानून क्रमश: भारतीय दंड संहिता (आईपीसी), दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) और भारतीय साक्ष्य अधिनियम की जगह लेंगे. 

कानूनों के क्रियान्‍वयन पर रोक लगाने का अनुरोध 

तीन नये कानूनों के क्रियान्वयन पर रोक लगाने का अनुरोध करते हुए वकील विशाल तिवारी की जनहित याचिका में कहा गया है कि इन विधेयकों को संसद में बिना किसी चर्चा के पारित किया गया था क्योंकि अधिकांश विपक्षी सदस्य निलंबित थे. 

विशेषज्ञ समिति गठित करने का निर्देश देने की मांग 

याचिका में अदालत से एक विशेषज्ञ समिति तुरंत गठित करने के निर्देश देने का अनुरोध किया गया है, जो तीन नए आपराधिक कानूनों की व्यवहार्यता का आकलन करेगी. 

ये भी पढ़ें :

* NEET रिजल्ट पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, केंद्र से मांगा जवाब
* बंबई HC के नये भवन के लिए सितंबर तक जमीन सौंपे महाराष्ट्र सरकार : सुप्रीम कोर्ट
* "क्या यह जबरदस्ती किया गया था?" : SC ने धर्म परिवर्तन मामले में निचली अदालत की कार्यवाही पर लगाई रोक

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
आगरा : सिर्फ 15 सेकेंड में एक करोड़ पार, व्‍यापारी को बातों में लगाकर चोरी की वारदात को दिया अंजाम
संसद से पारित नए आपराधिक कानूनों के खिलाफ याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट
राम-नामी कर्ज से लव-कुश तक.. पढ़िए शत्रुघ्न सिन्हा परिवार की 'रामायण' वाली कहानी
Next Article
राम-नामी कर्ज से लव-कुश तक.. पढ़िए शत्रुघ्न सिन्हा परिवार की 'रामायण' वाली कहानी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;