गरबा के नाम पर नफ़रत का खेल: MP के गरबा पंडालों में मुस्लिम युवकों की पिटाई, 'लव जिहाद' का लगाया आरोप

बजरंग दल ने कहा कि 'हमने गरबा पंडालों से 14 मुसलमानों को पकड़ा है. हमने गैर-हिंदुओं को गरबा उत्सव में न आने की चेतावनी दी थी'.

गरबा के नाम पर नफ़रत का खेल: MP के गरबा पंडालों में मुस्लिम युवकों की पिटाई, 'लव जिहाद' का लगाया आरोप

गरबा में आए मुस्लिम युवकों की बजरंग दल वालों ने की पिटाई.

इंदौर:

मध्य प्रदेश के उज्जैन में एक गरबा पंडाल में आए तीन मुस्लिम युवकों के साथ बजरंग दल के सदस्यों ने मारपीट की. ये घटना शनिवार की है. घटना से जुड़ा जो वीडियो सामने आया है, उसमें युवकों की पिटाई बजरंग दल के लोग कर रहे हैं. इतना ही नहीं मध्य प्रदेश में आयोजित गरबा कार्यक्रमों में आने वाले लोगों का पहचान पत्र (ID) भी बजरंग दल के सदस्यों द्वारा चेक की जा रही है. बजरंग दल का आरोप है कि ये लोग लव जिहाद के लिए आते हैं. हालांकि अभी तक किसी ने भी ऐसी कोई शिकायत नहीं की है. ये आरोप बस बजरंग दल की ओर से लगाए जा रहे हैं. 

तन्नू शर्मा, इंदौर संयोजक, बजरंग दल ने NDTV से बात करते हुए कहा कि 'हमने गरबा पंडालों से 14 मुसलमानों को पकड़ा है. हमने गैर-हिंदुओं को गरबा उत्सव में न आने की चेतावनी दी थी. हमने गरबा उत्सव में जिहादी मानसिकता वाले लोगों को पकड़ा है. ये लोग महिलाओं के वीडियो बना रहे थे. गरबा पंडालों में ये 'लव जिहाद' के लिए आए थे. हम भी भाईचारा चाहते हैं, वे अपने परिवारों के साथ क्यों नहीं आते?' अगर वे उत्सव के लिए आते हैं, तो वे अपनी आईडी क्यों छिपाते हैं?. कोई समस्या नहीं अगर मुसलमान अपने परिवारों के साथ आते हैं. बजरंग दल हिंसा की शुरुआत नहीं करता, लेकिन जब महिलाओं को खतरा हो, तो हम कार्रवाई करेंगे. उन्होंने कुछ महिलाओं का हाथ पकड़ा, हमने हिंसा से जवाब दिया. 'रोकेंगे, टोकन, ठोकेंगे'.

ये भी पढ़ें-  गुजरात के वड़ोदरा में सांप्रदायिक हिंसा के बाद 40 गिरफ्तार : पुलिस

वहीं ये पूछे जाने पर कि क्या किसी महिला ने उनसे शिकायत की. उसपर उन्होंने कहा, हम खुद नज़र रखते हैं, हमारी लड़कियां सब कुछ नहीं समझती. गृह मंत्री ने गरबा पंडालों में प्रवेश के लिए आईडी भी अनिवार्य की है.

यह सवाल करने पर कि क्या वे सभी के ID देखते हैं कि सिर्फ मुसलमान की? उन्होंने कहा कि हम उन लोगों की जांच करते हैं जो संदिग्ध लगते हैं. हमारे कार्यकर्ता नज़र रखते हैं, फिर हम उन्हें पकड़ लेते हैं. बिना सबूत के हम किसी की पिटाई नहीं करते. सिंगल हिंदू पुरुषों को क्यों आने दिया जाता है? ये सवाल पूछने पर उन्होंने कहा, 'यह एक हिंदू त्योहार है. हिंदुओं द्वारा कुछ भी गलत करने का कोई उदाहरण नहीं. वे यहां लव जिहाद के लिए आते हैं, आस्था के लिए नहीं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: भारतीय एयरफोर्स में शामिल हुआ देश का पहला स्वदेशी लड़ाकू हेलीकॉप्टर