विज्ञापन
Story ProgressBack

कश्मीर में आतंक पर कड़े एक्शन की तैयारी! हाईलेवल मीटिंग में अमित शाह ने बताया सॉलिड प्लान

अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर में मौजूदा कानून-व्यवस्था की भी जानकारी ली. सूत्रों ने बताया कि गृह मंत्री ने आतंकवाद का समर्थन करने वालों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए. उन्होंने राजमार्गों, संवेदनशील प्रतिष्ठानों और संवेदनशील स्थानों पर चौबीसों घंटे निगरानी रखने को कहा.

Read Time: 3 mins
नई दिल्ली:

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को सुरक्षा बलों को जम्मू-कश्मीर से आतंकवाद को हर कीमत पर खत्म करने और आगामी अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया. अमित शाह ने सुरक्षा बलों को केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर के जम्मू संभाग में उभरते आतंकवाद को कुचलने और घाटी में इसके फिर से पनपने को रोकने का निर्देश दिया. साथ ही 29 जून से 19 अगस्त तक चलने वाली अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा.

केंद्रीय मंत्री शाह ने रविवार को नई दिल्ली में एक उच्च स्तरीय सुरक्षा समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की. इसमें जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, एनएसए अजीत डोभाल, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे, नामित सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी, आईबी निदेशक तपन डेका, जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव अटल डुल्लू, सीआरपीएफ के डीजी अनीश दयाल सिंह, डीजीपी जम्मू-कश्मीर आर.आर.स्वैन, एडीजीपी (कानून एवं व्यवस्था) जम्मू-कश्मीर विजय कुमार और सेना एवं खुफिया विभाग के वरिष्ट अधिकारी शामिल हुए.

Latest and Breaking News on NDTV

अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर में मौजूदा कानून-व्यवस्था की भी जानकारी ली. सूत्रों ने बताया कि गृह मंत्री ने आतंकवाद का समर्थन करने वालों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए. उन्होंने राजमार्गों, संवेदनशील प्रतिष्ठानों और संवेदनशील स्थानों पर चौबीसों घंटे निगरानी रखने को कहा.

उन्होंने घुसपैठ के सभी रास्तों को सील करने की सलाह दी, जिनके जरिए विदेशी आतंकवादी केंद्र शासित प्रदेश में घुसने में कामयाब होते हैं. लोकसभा चुनाव के दौरान मतदान प्रक्रिया के लिए सुरक्षित माहौल सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षा बलों की सराहना की.

अमित शाह ने आतंकवाद और उसके समर्थकों पर कड़ा प्रहार करने के लिए केंद्र शासित प्रदेश के प्रशासन को हर तरह के संसाधन उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया.

आतंकियों पर लगाम लगाने की कवायद 
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी इसी प्रकार की एक बैठक की थी, जिसमें उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिया था. सूत्रों ने बताया कि गृह मंत्री जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद रोधी अभियान तेज करने के संबंध में व्यापक दिशा-निर्देश दे सकते हैं.

जम्मू-कश्मीर में एक के बाद एक 4 आतंकी हमले
आतंकवादियों ने पिछले चार दिनों में जम्मू-कश्मीर के रियासी, कठुआ और डोडा जिलों में चार स्थानों पर हमले किए, जिनमें नौ तीर्थयात्रियों और सीआरपीएफ के एक जवान की मौत हो गई तथा सात सुरक्षाकर्मी और कई अन्य घायल हो गए. कठुआ जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकवादी भी मारे गए और उनके पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद किए गए. यह घटना दक्षिण कश्मीर हिमालय में अमरनाथ गुफा मंदिर की वार्षिक तीर्थयात्रा से पहले हुई है. यह यात्रा 29 जून से शुरू होने वाली है और 19 अगस्त तक जारी रहेगी. अमरनाथ के लिए तीर्थयात्री जम्मू कश्मीर में दो मार्गों-बालटाल और पहलगाम से यात्रा करते हैं.

ये भी पढ़ें:-
रिठाला-नरेला-कुंडली मेट्रो कॉरिडोर का पूरा प्लानः 21 स्टेशन कहां-कहां बनेंगे, कौन से इलाके जुड़ेंगे, समझिए हर बात

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
शादी में मछली और मांस खाने को नहीं मिला तो दूल्हा मंडप से भागा, जमकर हुई मारपीट; देखें वीडियो
कश्मीर में आतंक पर कड़े एक्शन की तैयारी! हाईलेवल मीटिंग में अमित शाह ने बताया सॉलिड प्लान
हाथरस हादसे में भोले बाबा पर कार्रवाई के बजाय क्लीन चिट, मायावती ने SIT रिपोर्ट पर उठाए सवाल
Next Article
हाथरस हादसे में भोले बाबा पर कार्रवाई के बजाय क्लीन चिट, मायावती ने SIT रिपोर्ट पर उठाए सवाल
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;