MP में स्वास्थ्य व्यवस्था की फिर खुली पोल, अस्पताल में जमीन पर बैठाकर बच्ची को चढ़ाया गया खून

सतना जिले के मैहर सिविल अस्पताल की एक तस्वीर सामने आयी है. तस्वीर ने स्वास्थ्य व्यवस्था पर कई सवाल खड़े किए हैं. तस्वीर में एक छोटी बच्ची के हाथ में खून चढ़ रहा है. मां ने खून की थैली पकड़ रखी है.

MP में स्वास्थ्य व्यवस्था की फिर खुली पोल, अस्पताल में जमीन पर बैठाकर बच्ची को चढ़ाया गया खून

तस्वीरों के वायरल होने पर कलेक्टर अनुराग वर्मा ने जांच का आदेश दिया है

भोपाल:

सतना जिले के मैहर सिविल अस्पताल की एक तस्वीर सामने आयी है. तस्वीर ने स्वास्थ्य व्यवस्था पर कई सवाल खड़े किए हैं. तस्वीर में एक छोटी बच्ची के हाथ में खून चढ़ रहा है. मां ने खून की थैली पकड़ रखी है. पीड़ित का नाम संतोषी केवट है, बताया जा रहा है कि 15 साल की संतोषी का हीमोग्लोबिन कम था. इस वजह से उसे खून चढ़ाया जा रहा था. लेकिन अस्पताल में बेड खाली नहीं था स्टाफ ने जमीन पर बैठाकर संतोषी को खून चढ़ा दिया और मां को थैली पकड़ा दी. सतना जिले के सिविल अस्पताल मैहर की इन तस्वीरों के वायरल होने पर कलेक्टर अनुराग वर्मा ने घटना को संज्ञान में लेकर सीएमएचओ डॉक्टर अशोक अवधिया को मौके पर पहुंच कर जांच करने के निर्देश दिया है. जांच के बाद मैहर अस्पताल के प्रभारी डॉ प्रदीप निगम की एक वेतन वृद्धि और स्टाफ नर्स अंजू सिंह की दो वेतन वृद्धि तत्काल प्रभाव से रोकने के निर्देश दे दिया है.

बताते चलें कि हाल के दिनों में मध्यप्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर कई सवाल खड़े करने वाले तस्वीर सामने आए हैं. कुछ ही दिन पहले भिंड से तस्वीर सामने आयी थी जिसमें एम्बुलेंस नहीं मिलने पर बीमार पिता को ठेले पर लेकर एक शख्स अस्पताल पहुंचा था. बुजुर्ग को अस्पताल ले जाने के लिए उनके परिजन 108 एम्बुलेंस को फोन लगाते रहे थे लेकिन एम्बुलेंस नहीं पहुंची थी. मजबूरी में बुजुर्ग के बेटे हरि सिंह ने एक ठेला लिया और उस पर अपने पिता को लिटाकर 5 किलोमीटर तक ठेले को धकेलकर अस्पताल पहुंचा था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ये भी पढ़ें-