"मुझसे ज्यादा उनको..."- सुनंदा पुष्कर का नाम घसीटे जाने पर विवेक अग्निहोत्री और अनुपम खेर पर भड़के शशि थरूर

अनुपम खेर ने थरूर पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘कश्मीर हिंदू नरसंहार के प्रति आपकी निष्ठुरता बहुत दुखद है. कम से कम आपको सुनंदा की खातिर कश्मीरी पंडितों के प्रति संवेदनशीलता दिखानी चाहिए.

सुनंदा पुष्कर का नाम घसीटे जाने पर विवेक अग्निहोत्री और अनुपम खेर पर भड़के शशि थरूर

नई दिल्ली :

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर मंगलवार को उस वक्त फिल्मकार एवं अभिनेता अनुपम खेर के निशाने पर आ गए जब उन्होंने ‘द कश्मीर फाइल्स' फिल्म के सिंगापुर में प्रतिबंधित होने का उल्लेख किया. खेर और अग्निहोत्री ने थरूर पर उनकी दिवंगत पत्नी सुनंदा पुष्कर के कश्मीरी पंडित होने का हवाला देते हुए निशाना साधा. इस पर, थरूर ने कहा कि इस मामले में उनकी दिवंगत पत्नी को घसीटना अवांछित और निंदनीय है.

लोकसभा सदस्य ने ट्विटर पर एक खबर साझा की थी जिसमें इस बात का उल्लेख किया गया था कि ‘द कश्मीर फाइल्स' को सिंगापुर में प्रतिबंधित कर दिया गया है. इस पर फिल्म के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि सिंगापुर दुनिया का सबसे प्रतिगामी सेंसर है. उन्होंने कहा, ‘‘यहां तक सिंगापुर में ‘द लीला होटल फाइल्स' जैसी रोमैंटिक फिल्म को प्रतिबंधित किया जाएगा. कृपया कश्मीरी हिंदू नरसंहार का मजाक बनाना बंद करिये.''

अग्निहोत्री ने थरूर पर निशाना साधते हुए दिल्ली में उस होटल का हवाला दिया जिसके एक कमरे में जनवरी, 2014 में थरूर की पत्नी सुनंदा मृत पाई गई थीं. अग्निहोत्री ने कहा कि थरूर को अपनी दिवंगत पत्नी की आत्मा से माफी मांगनी चाहिए.

CBI ने विदेशी चंदा मामले में एनजीओ के खिलाफ कार्रवाई को लेकर 40 जगहों पर छापेमारी की

अनुपम खेर ने थरूर पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘कश्मीर हिंदू नरसंहार के प्रति आपकी निष्ठुरता बहुत दुखद है. कम से कम आपको सुनंदा की खातिर कश्मीरी पंडितों के प्रति संवेदनशीलता दिखानी चाहिए. फिल्म के प्रतिबंधित होने पर विजेता महसूस नहीं करना चाहिए.' बाद में थरूर ने एक बयान में खेर और अग्निहोत्री का नाम लिए बगैर कहा कि उन्होंने सिर्फ तथ्यात्मक खबर ट्वीट की थी और ‘द कश्मीर फाइल्स' के बारे में कोई टिप्पणी नहीं की थी.

उन्होंने कहा, ‘‘किसी भी समय मैंने कश्मीरी पंडितों की पीड़ा का मजाक नहीं बनाया या उनका अपमान नहीं किया. मैं उनकी पीड़ा को बहुत अच्छी तरह समझता हूं और वर्षों से उस ओर लोगों का ध्यान खींचता रहा हूं.''

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘इस मामले में मेरी दिवंगत पत्नी सुनंदा को घसीटना अवांछित और निंदनीय है. मुझसे ज्यादा उनके (सुनंदा) विचारों के बारे में कोई अवगत नहीं है. मैं उनके साथ सोपोर में उसके पूर्वजों के नष्ट हो चुके घर गया था. वहां मैंने उनके पड़ोसियों और मित्रों से बात की थी जिनमें हिंदू और मुसलमान दोनों थे. मेरी पत्नी नफरत में नहीं, सुलह में भरोसा करती थीं.''

ये भी पढ़ें- 

ये भी देखें- श्रीलंका में आर्थिक बदहाली के बीच हिंसा से हालात बहुत खराब

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)