"यूपी में अपराधी बेखौफ हैं और सीएम मौन" : लखीमपुर रेप-मर्डर मामले पर भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद

चंद्रशेखर आजाद ने कहा, "यूपी में ऐसी घटनाएं लगभग रोज हो रहीं, कितनी बातों के लिए हम सरकार से कहते रहें. कल भी एक दबाव बना, गांव के लोग आक्रोशित हुए विपक्ष के लोगों ने कहा तब जाकर कार्रवाई की बात कर रहे.

नई दिल्‍ली :

Lakhimpur rape and Murder case: लखीमपुर में दो नाबालिग बहनों के साथ रेप और हत्‍या की घटना ने पूरे प्रदेश को झकझोर कर रख दिया है. इस घटना के बाद विपक्षी पार्टियां और  नेता, राज्‍य की योगी आदित्‍यनाथ सरकार के खिलाफ आक्रामक है. भीम आर्मी (Bhim Army)के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद (Chandra Shekhar Azad) ने इस मामले में योगी सरकार पर निशाना साधा है. पुलिस ने तत्‍परता से कार्रवाई कर मामले से जुड़े छह लोगों को अरेस्‍ट किया है, इस पर NDTV से बात करते हुए चंद्रशेखर ने कहा, " मैं कह रहा हूं कि कोई भी न्‍यायसंगत कार्रवाई होती है तो उससे मैं नहीं, पूरा प्रदेश संतुष्‍ट होगा. सवाल ये है कि निघासन में जो हुआ है, वह पहली घटना नही है. आपको याद हो तो 14 सितंबर 2020 को हाथरस की घटना हुई थी. इस मामले में अब तक न्‍याय नहीं हुआ है."

उन्‍होंने कहा, "यूपी में ऐसी घटनाएं रोज हो रही, कितनी बातों के लिए हम सरकार से कहते रहें. कल भी एक दबाव बना, गांव के लोग आक्रोशित हुए विपक्ष के लोगों ने कहा तब जाकर कार्रवाई की बात कर रहे. ऐसा तो रोज हो रहा है. पीलीभीत में जो हुआ, रेप का विरोध करने पर डीजल डालकर जला दिया गया.  हापुड़ में स्‍कूली छात्रा का रेप हुआ. आगरा में महिला लेखपाल पर तेजाब से हमला हुआ. यह तो रोज हो रहा है. किसी घटना में दो बच्चियों के रेप और हत्‍या से पूरे प्रदेश में महिलाओं और बच्‍चों में क्‍या मैसेज जा रहा? सब लोग सहमे हैं. सकारात्‍मक कार्रवाई होगी तो हम सब उसका समर्थन करेंगे और पुलिस को धन्‍यवाद देंगे लेकिन जैसा कल पुलिस का रवैया था. ऐसा लगा कि हाथरस दोहराया जा रहा हो. वहां के एसएसपी कह रहे थे-बॉडी नहीं दूंगा कितने भी दिन बैठ जाओ. अरे, उन्‍हीं की बच्‍ची की लाश है क्‍यों नहीं दोगे. इसी को लेकर मैंने लिखा था यह यूपी की दो बच्चियों की लाशें नहीं लटक रहीं, यह यूपी की कानून व्‍यवस्‍था लटक रही है."  

एक अन्‍य सवाल पर भीम आर्मी प्रमुख ने कहा, "यूपी में अपराधी बेखौफ हैं और दुखद यह है कि सीएम मौन हैं. यह कहने से काम नहीं चलेगा कि हमने त्‍वरित कार्रवाई की है. सरकार आपकी है, पुलिस आपकी है, फिर अपराध मुक्‍त माहौल क्‍यों नहीं बन पा रहा, इस पर सीएम को जवाब देना चाहिए. इसलिए मैंने सीएम से कहा कि अगर आप बहन-बेटी की रक्षा नहीं कर पा रहे तो आपको इस्‍तीफा देना चाहिए."क्‍या पुलिस तत्‍परता से कार्रवाई कर रही या दबाव के बाद ऐसा हुआ, इसके जवाब में उन्‍होंने कहा कि यह इस दुखद घटना को लेकर बने दबाव का यह परिणाम है. कानून के राज वाली बात जमीन पर नहीं है बल्कि वह अखबार और टीवी के जरिये दिए जाने विज्ञापनों में है. यह दबाव था जिसके कारण तत्‍परता से कार्रवाई करनी पड़ी. पूरा गांव सड़क पर था. आईजी को लखनऊ से जाना पड़ा. अब यूपी में दलितों के लिए लड़ने वाले और संघर्ष करने वाले लोग हैं.  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


* शराब घोटाले पर AAP के ख़िलाफ़ BJP ने जारी किया दूसरा स्टिंग VIDEO
* लखीमपुर खीरी केस : आरोपियों ने पहले लड़कियों से दोस्ती की और फिर रेप के बाद हत्या कर दी - पुलिस